×

Jhansi News: बिना अनुमति खोद डाली पहाड़ी, प्लाट के नाम पर हो रही अवैध खुदाई

Jhansi News: जनपद झांसी में राजस्व विभाग की अनदेखी का असर देखने को मिल रहा है जहां पर प्लाट के नाम पर अवैध खुदाई को अंजाम दिया जा रहा है और बिना अनुमति के ही पूरी पहाड़ी खोद डाली गई।

B.K Kushwaha
Published on 21 Jan 2022 1:59 PM GMT
Jhansi News: Hill dug without permission, illegal excavation in the name of plot, revenue department ignored
X

झाँसी: बिना अनुमति खोद डाली पहाड़ी

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Jhansi News: राजस्व विभाग (revenue Department) के शहर में कार्यरत कर्मचारियों की अनदेखी के कारण प्लाटिंग के नाम पर भू-माफिया (land mafia) ने बिना मंजूरी के भारी भरकम पहाड़ी को खोदकर वहां की मौजूद मिट्टी और रेट को निकाल कर उपयोग कर लिया गया है, जिसके कारण उक्त पहाड़ी इलाका पूरी तरह से खाई की तरह नजर आने लगा है।

नवाबाद थाना क्षेत्र (Nawabad police station area) के करगुंवा (Kargunwa) के पास पहाड़ी है। यह पहाड़ी ननि के अधीन आती है। कुछदिनों से पहाड़ी को रोड का निर्माण कार्य करने वालों ने मशीनों से खुदाई करके वहां की मिट्टी का उपयोग कर बालू खनन कर दिया।

वहीं यहां से मिट्टी को अन्य स्थल पर ले जाकर विक्रय कर दिया गया है। इस पहाड़ी वाले हिस्से में नीचे की ओर रेत निकलने से वहां की रेत तक को खोद कर विक्रय कर डाली गई है जिसके कारण दोनों साइड पहाड़ी की जगह भारी भरकर खाइयां नजर आने लगी है।

राजस्व विभाग करता रहा अनदेखी

बताते हैं कि मिट्टी की खुदाई में मंजूरी नहीं मिलने पर प्रभावशाली भू-माफिया ने अधिकारियों से मंजूरी लेने की अपेक्षा सीधे पहाड़ी इलाके में खुदाई का कार्य कर डालते हैं, जिसके कारण वहां इलाके में मौजूद पहाड़ी पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी है। इतने व्यापक स्तर पर अवैध तरीके से राजस्व भूमि की खुदाई का कार्य चलता रहा। इसके बाद भी राजस्व विभाग के किसी भी अमले से अधिकारी को जानकारी देना उचित नहीं समझा।


हिम्मत है तो उसकी प्लाटिंग रोक ले प्रशासन

बताते हैं कि जिस भू-माफिया द्वारा करगुंवा की पहाड़ी को काटकर प्लाटिंग की जा रही हैं। उसका पुलिस और प्रशासन के अलावा सत्ताधारी दलों के नेताओं का खुला संरक्षण हैं। इन्हीं संरक्षणों के चलते वह खुलेआम पहाड़ी को खोदकर प्लाटिंग कर रहा है। कईयों बार स्थानीय लोगों ने विरोध किया तो उसे डांट फटकार कर भगा दिया। लोगों का कहना है कि इस खुदाई से कई मकान किसी भी समय धराशायी हो सकते हैं।

ठंड में बालू के अवैध खनन की गर्मी, सरकारी बालू सप्लाई के नाम पर बालू खनन जारी

उधर झांसी के ही पूंछ थाना क्षेत्र (Poonch police station area) में बालू का अवैध खनन बड़े पैमाने पर हो रहा है। कड़ाके की ठंड में इससे जुड़े लोग चांदी काट रहे हैं। शीतलहर भरे मौसम में सुबह-शाम पूंछ थाना क्षेत्र के ग्राम खिल्ली (Village ridicule) में जन प्रतिनिधि के घर के सामने बने बाड़े के पास ट्रक और डंपर गाड़ियां खड़ी हो जाती है और इसी पर बालू लादकर गांवों में ढोया जाता है। सर्द मौसम में किसी जिम्मेदार की ओर से जांच नहीं का जा रही है, जबकि पुलिस का रवैया सवालों के घेरे में रहता है।


पूंछ थाना क्षेत्र के ग्राम खिल्ली निवासी अरविन्द कुमार और अंकित यादव ने जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय में शिकायती पत्र देते हुए एरच घाट अवैध खनन के रुप में अपनी पहचान बनाए हुए है। महीनों से यहां अवैध खनन किया जा रहा है। जिसकी न तो खनन विभाग जांच कर रहा है और न ही पुलिस प्रशासन। इधर मौसम भी कारोबारियों का साथ दे रहा है। सुबह-शाम गांव में दर्जों ट्रैक्टर-ट्रालियों पर बालू लादकर ढोया जा रहा है। इससे जहां राजस्व की क्षति होती है, वहीं बंधे से सटे गांवों का भी नुकसान होता है।

अपने- अपने हिस्से के लिए दिन में निशान लगा देते हैं

शिकायती पत्र में कहा है कि गांव के जन प्रतिनिधि के बाड़े के पास चले जाएं तो यहां हर समय निशान मिलेगा। धंधे से जुड़े लोग अपने- अपने हिस्से के लिए दिन में निशान लगा देते हैं और फिर शाम व सुबह में चिन्हित स्थान पर बालू की खोदाई कराकर उसको निर्धारित स्थान पर पहुंचाते हैं। गांव में बालू से भरी प्रति ट्राली के लिए दो-दो हजार रुपया वसूला जाता है। यदि प्रशासन की ओर से छापेमारी की जाए तो कई लोग पकड़ में आ सकते हैं, जिनकी संलिप्तता अवैध खनन में जुड़ी होती है। जांच नहीं होती है, इसलिए धड़ल्ले से अवैध खनन का धंधा चल रहा है।


सुबह सबेरे ट्रैक्टर द्वारा निकट के गांवों में सप्लाई की जाती है

शिकायती पत्र में कहा है कि जनप्रतिनिधि अवैध बालू से भरे डंपरों को रात में खुद अपने बाड़े में खाली करवाता है, जो एक व्यक्ति के घर के बगल में जहां सुबह सबेरे ट्रैक्टर द्वारा निकट के गांवों में सप्लाई की जाती है। ग्रामवासियों द्वारा पूछने पर बताया जाता है कि सरकारी बालू है जबकि प्रतिदिन सप्लाई की जा रही है। पत्र में कहा है कि जिन लोगों द्वारा बालू का खनन करवाया जा रहा है, उनके खिलाफ कई आपराधिक मुकदमा पंजीकृत है। यह लोग गिरोह बनाकर बालू खनन कर रहे हैं। शिकायती पत्र के माध्यम से ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की

taja khabar aaj ki uttar pradesh 2022, ताजा खबर आज की उत्तर प्रदेश 2022

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story