×

Kisan Mahapanchayat: राकेश टिकैत ने बताया किसान महापंचायत का उद्देश्य, कहा- जारी रहेगी किसानों की लड़ाई

Kisan Mahapanchayat: हमीरपुर जनपद के मौदहा में होने वाली किसान महापंचायत से पहले राकेश टिकैत महोबा में रूके, जहां पर उनका जोरदार स्वागत किया गया। यहां उन्होंने कहा कि किसान की आजादी की लड़ाई तब तक नहीं खत्म होगी, जब तक नए कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया जाता।

Imran Khan

Imran KhanReport Imran KhanShreyaPublished By Shreya

Published on 12 Sep 2021 9:07 AM GMT

Kisan Mahapanchayat: राकेश टिकैत ने बताया किसान महापंचायत का उद्देश्य, कहा- जारी रहेगी किसानों की लड़ाई
X

राकेश टिकैत (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)  

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Kisan Mahapanchayat: उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड के दौरे (Rakesh Tikait Ka Bundelkhand Daura) पर आये देश के चर्चित किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) हमीरपुर जनपद के मौदहा में होने वाली किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) से पहले महोबा (Mahoba) की पत्थर मंडी कबरई में रुके। जहां पर किसानों ने उनका स्वागत किया।

इस दौरान उन्होंने कहा किसान की आजादी की लड़ाई हो रही है और यह तब तक चलेगी जब तक बनाए गए तीन कृषि कानून (New Farm Laws) वापस नहीं होंगे। देश की आजादी 90 वर्ष चली, अब किसानों की आजादी (Kisano Ki Azadi) की लड़ाई पूरे देश में लड़ी जा रही है। किसान अपनी आय दोगुनी चाहता है और अपनी फसलों का रेट दोगुना चाहता है।

राकेश टिकैत (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)

कानूनों की वापसी के बगैर नहीं होगी किसानों की घर वापसी..

हमीरपुर जनपद के मौदहा में होने वाली किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) में जाते समय देश के चर्चित किसान नेता राकेश टिकैत का काफिला महोबा की पत्थर मंडी कबरई से गुजरा तो बुंदेली किसानों ने उन्हें रोक कर उनका जोरदार स्वागत किया। इस दौरान राकेश टिकैत ने बताया की देश का किसान अपनी आजादी की लड़ाई लड़ रहा है देश की आजादी की लड़ाई में 90 साल लग गए तो किसान भी तब तक घर वापस नहीं जाएगा जब तक उन्हें इन कानूनों से आजादी नहीं मिलेगी।

उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को तीनों कानून वापस लेने होंगे। एमएसपी पर कानून बनाना होगा। उन्होंने कहा कि जब 10 महीने से किसान घर वापस नहीं गया तो अब कैसे चला जाएगा। उन्हें देश के प्रधानमंत्री को उनका वादा याद दिलाते हुए कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने और फसलों के दोगुना रेट करने के वादे किए थे। उन वादों की क्या सच्चाई है? इसको लेकर प्रचार प्रसार कर किसान महापंचायत कर रहे हैं और किसानों को बता रहे हैं।

मौदहा में महापंचायत की सरकारी परमिशन न मिलने के सवाल में उन्होंने कहा कि हमें गिरफ्तार कर लें। लेकिन हम सड़क पर बैठकर भी अपनी पंचायत करेंगे। राकेश टिकैत पत्रकारों के सवालों के जबाब देने के बाद हमीरपुर के मौदहा कस्बे में आयोजित किसान महा पंचायत में शामिल होने के लिए रवाना हो गए।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story