Top

गैंगरेप के बाद विक्टिम को किया आग के हवाले, हॉस्पिटल में मौत

Admin

AdminBy Admin

Published on 3 March 2016 3:07 PM GMT

गैंगरेप के बाद विक्टिम को किया आग के हवाले, हॉस्पिटल में मौत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजीपुर: गैंगरेप का शिकार होने के बाद जिंदा आग की लपटों के हवाले की गई 14 साल की नाबालिग दलित लड़की आखिरकार मौत से अपनी जंग हार गई।इस नाबालिग ने गुरुवार को दम तोड़ दिया। नाबालिग का इलाज वाराणसी के एक अस्पताल में चल रहा था। लड़की की मौत के बाद मृतक के परिजनों ने हॉस्पिटल में जमकर बवाल काटा है। इस घटना में बसपा भी पीड़ित परिवार की मदद कर रही है। परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

मृतका के भाई की जुबानी

-कक्षा-7 में पढने वाली 14 वर्षीय नाबालिग गाजीपुर जिले में अपने दादा-दादी के साथ रहती थी।

-एक दबंग परिवार की लड़की द्वारा गन्ने के खेत में बुलवाया।

-खेत में पहले से तीन युवक मौजूद थे।

-26 फरवरी को आरोपियों ने पहले नाबालिग से गैंगरेप किया फिर मिट्टी का तेल डालकर उसे आग के हवाले कर दिया।

-आग की लपटों से लड़ाई करती लड़की गांव की तरफ भागी।

-लड़की को जलता देख गांववालों ने आनन-फानन आग को काबू में कर पीड़िता को हॉस्पिटल में भर्ती कराया।

-गुरुवार को पीडिता ने दम तोड़ दिया।

-गाजीपुर पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

क्या कहना है मृतक के परिजनों का

-सभी आरोपी यादव समाज से ताल्लुख रखते है।

-मामले को कमजोर करने के लिए हॉस्पिटल प्रशासन मृत प्रमाण पत्र में कर रही धांधली।

-हॉस्पिटल प्रशासन ने कक्षा सात में पढ़ने वाली मृत छात्रा की उम्र 14 से बढ़ाकर 17 साल बताया है.

-उधर, प्रशासन उम्र को लेकर किए गए धांधली पर दलीलों की लंबी फेहरिस्त पेश कर रही है।

-बसपा इस घटना के ज़रिये दलितों के रहनुमाई का प्रमाण दे रही है।

Admin

Admin

Next Story