×

हादसा टला: 28 स्‍कूली बच्‍चों संग अंडरपास में फंसी बस, गांव वालों ने बचाई जान

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 27 July 2018 11:42 AM GMT

हादसा टला: 28 स्‍कूली बच्‍चों संग अंडरपास में फंसी बस, गांव वालों ने बचाई जान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ: पिछले कई घंटों से हो रही भारी बारिश के चलते बड़ी घटना परतापुर और खरखौदा सीमा क्षेत्र के चंदसारा गांव में हुई, जहां रेलवे अंडरपास में भरे बारिश के पानी में स्कूली बस डूब गई। बच्चों की चीख-पुकार सुनकर दो गांवों के लोगों ने मशक्कत के बाद उनकी जान बचाई। सूचना मिलने पर परतापुर थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई।

बस में मच गई चीख-पुकार

जिले के परतापुर और खरखौदा क्षेत्र चंदसारा गांव में रेलवे अंडरपास है। शुक्रवार सुबह 10:30 बजे NKBR स्कूल फफूंडा की बस छुट्टी के बाद बच्चों को घर छोड़ने जा रही थी। अंडर पास में पानी भरा देख ड्राइवर ने धीरे-धीरे बस निकालने की कोशिश की, लेकिन बस पानी में डूबती चली गयी। बच्चों की चीख पुकार सुनकर चंदसारा गांव के सरताज पुत्र इस्लाम ने साहस का परिचय देते हुए पानी में छलांग लगा दी और बच्चों को खिड़की से निकालना शुरू कर दिया। इसी बीच सलेमपुर और नरहेड़ा गांव के लोग भी मौके पर आ गए। जिन्होंने बमुश्किल स्कूल बस में मौजूद सभी 28 बच्चों को सकुशल बाहर निकाल लिया।

ट्रेन की चपेट में आने से बचे मासूम

बच्चों को बस से निकालकर रेलवे ट्रैक के किनारे खड़ा किया गया था। इसी दौरान तीन बच्चे वहां से गुजर रही खुर्जा पैसेंजर की चपेट में आने से बाल-बाल बच गए। इसके बाद बच्चों को दूसरे स्थान पर खड़ा किया गया।

बस में कुछ बच्चों के होने की आशंका

ग्रामीणों के मुताबिक बस में सवार अधिकांश बच्चों को निकाल लिया गया, लेकिन आशंका है कि कुछ बच्चे अभी बस में ही फंसे हो सकते हैं। घटना क्षेत्र खरखौदा थाने में आता है, लेकिन घटना के तीन घंटे बाद भी वहां की पुलिस नहीं पहुंची। गांव के लोगों ने पानी में घुसने की कोशिश की, लेकिन वह बस के अंदर नहीं जा सके। स्थानीय पुलिस व गोताखोरों के न पहुंचने पर ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान उनकी परतापुर पुलिस से तीखी नोकझोंक भी हुई।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story