प्रधानमंत्री एवं वित्त मंत्री से व्यापारियों ने मांगा राहत पैकेज, नगर मजिस्ट्रेट को सौंपा ज्ञापन

उत्तर प्रदेश व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष एवं कैट के राष्ट्रीय मंत्री संजय पटवारी ने बताया कि इस देश में सात करोड़ व्यापारी व्यापार कर रहे हैं और लगभग 40 करोड़ लोगों को रोजगार दे रहे हैं।

झांसी: उत्तर प्रदेश व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष एवं कैट के राष्ट्रीय मंत्री संजय पटवारी ने बताया कि इस देश में सात करोड़ व्यापारी व्यापार कर रहे हैं और लगभग 40 करोड़ लोगों को रोजगार दे रहे हैं। करुणा वैश्विक महामारी के चलते लंबे समय से व्यापारियों का व्यापार बंद है जिस कारण से व्यापारी आर्थिक तंगी से जूझ रहा है। वहीं, व्यापारियों ने नगर मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपकर कुछ कारोबार को सूची में शामिल करने की मांग की है।

उन्होंने बताया कि उसका व्यापार समाप्ति की ओर है व्यापारिक संगठनों ने देश के प्रधानमंत्री एवं वित्त मंत्री से मांग की है कि अभी तक उन्होंने जो पैकेज दिया है वह एमएसएमई सेक्टर में दिया है सात करोड़ व्यापारियों के लिए अभी तक कोई पैकेज की घोषणा नहीं हुई है।

यह भी पढ़ें…झांसी मंडल ने किया 34 ट्रेनों का संचालन, 40,000 श्रमिक पहुंचे अपने गंतव्य

उनका कहना है कि व्यापारियों के ऊपर बैंक की जिम्मेदारी टैक्सों का बोझ एवं स्टाफ की सैलरी का भी बोझ पड़ रहा है जिससे वह मानसिक तनाव में हैं। सरकार से अनुरोध है कि सात करोड़ व्यापारियों के लिए अलग से राहत पैकेज की घोषणा की जाए जिससे मरता खतरा बाजार प्रवेश हो सके।

यह भी पढ़ें…अमरिंदर सरकार का सख्त फैसला, पंजाब आने वालों पर किया ये एलान

वहीं, व्यापारी नेता संजय पटवारी के नेतृत्व में कुछ व्यापारियों ने नगर मजिस्ट्रेट से मुलाकात कर एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से डिस्पोजल कारोबार, कम्प्यूटर हार्डवेयर, पान, सुपारी, चूना, कबाड़ खाना, ब्यूटी पार्लर, सेविंग आदि को सूची में शामिल करने की मांग की हैं, ताकि ऐसे कारोबार करने वाले लोगों की दुकानें खुल सके। ज्ञापन देने वालों में राजेश बिरथरे, राकेश भार्गव, सुनील गुप्ता, रामू अग्रवाल, सौरभ सहगल, राजेश पटवारी, सुहेल खान आदि लोग शामिल रहे हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App