Top

एक्शन में कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक! जमीन पर उतरकर सुनी जनता की समस्याएं

विधायी एवं न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक हमेशा से ही जनहित से जुड़े कार्यों में कोताही नहीं बर्दाश्त करते हैं।

Brajesh Pathak
X

कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक (फोटो-न्यूजट्रैक)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: प्रदेश सरकार में विधायी एवं न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक (Brajesh Pathak) हमेशा से ही जनहित से जुड़े कार्यों में कोताही नहीं बर्दाश्त करते हैं। अब जब कोरोना वायरस की दूसरी लहर कुछ थमी है और सरकार ने भी लॉकडाउन हटा दिया है, तो ब्रजेश पाठक लोगों की परेशानियों को जानने व दूर करने के इरादे से सड़कों पर नज़र आए। शुक्रवार को वह नगर आयुक्त अजय द्विवेदी, जल निगम महाप्रबंधक आरके अग्रवाल व कुछ अन्य अधिकारियों संग निरीक्षण पर निकले। उन्होंने राजधानी की जर्जर सड़कों का निरीक्षण किया। साथ ही लोगों से बातचीत कर जल्द से जल्द सड़कों की हालत सुधारने का आश्वासन दिया।

15 जुलाई तक ख़राब सड़कों की स्थिति सुधारने का निर्देश

निरीक्षण के दौरान ब्रजेश पाठक ने सड़कों की हालत को देखा। जर्जर सड़कों व उन पर हुए गड्ढों को देखकर न्याय मंत्री आग-बबूला हो उठे। उन्होंने जनता के लिए परेशानी बने गड्ढे देख अधिकारियों को फटकार लगा दी। साथ ही अधिकारियों को 15 जुलाई तक खराब सड़कों की स्थिति सुधारने के निर्देश दिये। ब्रजेश पाठक ने एलडीए, नगर निगम, जल निगम के अधिकारियों से कड़े शब्दों में कहा कि सड़क निर्माण में बरती गई लापरवाही बिलकुल बर्दाशत नहीं की जाएगी।

इन इलाकों में नजर आए गड्ढे

कानून मंत्री ब्रजेश पाठक जब शुक्रवार की सुबह एलडीए, नगर निगम, जल निगम के अधिकारियों संग निरीक्षण पर निकले, तो उन्हें कैसरबाग, लालबाग, अमीनाबाद, वजीरगंज, हजरतगंज और हुसैनगंज समेत राजधानी के कई इलाकों की सड़कों पर गड्ढा युक्त सड़कें नज़र आईं। इसे देखकर व बरसात में लोगों को समस्या न हो, इसके मद्देनजर उन्होंने अधिकारियों को तत्काल गड्ढों को भरने और जर्जर हो चुकी सड़कों का पैच वर्क जल्द पूरा कराने के भी निर्देश दिये।

'स्मार्ट सिटी सीवरेज योजना' से 1 लाख 92 हजार 740 लोगों को होगा फायदा

कई दशकों से लखनऊ के कैसरबाग, लालबाग, अमीनाबाद, वजीरगंज, हजरतगंज आदि पुराने लखनऊ के क्षेत्रों में रह रहे लोगों को सीवर लाइन का इंतज़ार था। जिसे 'स्मार्ट सिटी सीवरेज योजना' के तहत पूरा किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट पर क़रीब 208 करोड़ रुपये ख़र्च हो रहे हैं और इससे लगभग 2 लाख की आबादी को फ़ायदा मिलेगा। अधिकारियों के मुताबिक, इस योजना का 63 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है और दिसम्बर 2021 तक काम पूरा करने का लक्ष्य है। कानून मंत्री ब्रजेश पाठक ने इस योजना का निरीक्षण कर संबंधित जल निगम के अधिकारियों को समय से काम पूरा करने के निर्देश दिये। ब्रजेश पाठक ने जल निगम के अधिकारियों से कहा कि बरसात का मौसम शुरू होने वाला है ऐसे में निर्माण कार्य के दौरान जनता को समस्या नहीं आनी चाहिये, इसका भी ध्यान रखा जाए।

इस निरीक्षण में नगर आयुक्त अजय द्विवेदी, जल निगम महाप्रबंधक आरके अग्रवाल, जल निगम के अधिशासी अभियंता पीयूष मौर्या, जल निगम के परियोजना प्रबंधक रोहित गुप्ता, जल निगम के सहायक अभियंता हरेन्द्र सिंह, जल निगम के अवर अभियंता मुनीश अली, जल निगम के अवर अभियान मलखान सिंह मौजूद रहे।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story