×

Meerut: मेरठ के सरदार वल्लभ भाई पटेल चिकित्सालय में कैंसर रोगियों के लिए शुरू हुई सिकाई सुविधा

मेडिकल कालेज मेरठ के सरदार वल्लभ भाई पटेल चिकित्सालय के रेडियोथैरेपी विभाग में कैंसर से पीड़ित रोगियों के लिए कोबाल्ट-60 द्वारा सिकाई के उपचार का शुभारंभ कमिश्नर सुरेंद्र सिंह और जिलाधिकारी दीपक मीणा ने किया।

Sushil Kumar
Updated on: 22 May 2022 1:00 PM GMT
Meerut News In Hindi
X

मेडिकल कॉलेज ऑडिटोरियम में किया कैंसर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन। 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Meerut: पश्चिम उत्तर प्रदेश के कैंसर रोगियों के लिए लाला लाजपत राय स्मारक मेडिकल कॉलेज मेरठ (Lala Lajpat Rai Memorial Medical College Meerut) से सम्बद्ध सरदार वल्लभ भाई पटेल चिकित्सालय (Sardar Vallabhbhai Patel Hospital) के रेडियोथेरेपी विभाग (radiotherapy department) में कैंसर से पीड़ित रोगियों के लिए रविवार को फिर से कोबाल्ट 60 द्वारा सिकाई कर उपचार की सुविधा शुरु की गई है। इसका पुनरारंभ मेरठ मंडल (Meerut Division) के आयुक्त मेरठ सुरेंद्र सिंह (Commissioner Meerut Surendra Singh) एवं जिलाधिकारी दीपक मीणा (District Magistrate Deepak Meena) के कर कमलों द्वारा सम्पन्न हुआ।

लक्षण परिलक्षित होते ही लें डॉक्टर से सलाह: डीएम

जिलाधिकारी दीपक मीणा (District Magistrate Deepak Meena) ने बताया कि कैंसर का मुख्य लक्षण बुखार, वजन कम होना, शरीर मे थकान व शुजन होना हैं यदि ये लक्षण परिलक्षित होते हैं तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। कैंसर का पता जितना जल्दी लग जाता है उसके ठीक होने की ज्यादा सम्भावना होती है, इसलिए हमें तुरंत डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए। इलाज से बेहतर रोकथाम है हमे अपने दैनिक जीवन मे सुधार की आवश्यकता है हम नित्य शारिरिक कार्य, योग व व्यायाम करने से स्वस्थ रह सकते हैं। कैंसर का इलाज 100 प्रतिशत सम्भव है यदि कैंसर का पता समय से लग जाए।

मेडिकल कॉलेज ऑडिटोरियम में किया कैंसर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

इस मौके पर चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय एवं स्वास्थ्य एवम परिवार कल्याण विभाग मेडिकल कालेज मेरठ के संयुक्त प्रयास से कैंसर (गला, स्तन, सरवाइकल) जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन मेडिकल कालेज ऑडिटोरियम में किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर संगीता शुक्ला रहीं तथा जिलाधिकारी दीपक मीणा, चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय की उप कुलपति प्रोफेसर वाई विमला, अपर निदेशक स्वास्थ्य विभाग डॉ संगीता गुप्ता, मुख्य चिकित्साधिकारी मेरठ डॉ अखिलेश मोहन, एसीएमओ डॉ तालियांन एवं प्रधानाचार्य डॉ आर सी गुप्ता उपस्थित रहे।

दीप प्रज्वलित कर किया शुभारंभ

कार्यक्रम का शुभारंभ सभी अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर किया। सभी अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापन डॉ आरसी गुप्ता ने किया और मंच संचालन डॉ रचना चैाधरी ने किया। कार्यक्रम में प्रथम वक्ता के रूप में यूनिवर्सल यूनिटी ट्रस्ट नई दिल्ली के अध्यक्ष प्रोफेसर जयंत घोष रॉय ने कैंसर अवेयरनेस को कैसे जनता तक पहुचना है इसकी जानकारी दी। मेडिकल कालेज की स्त्री एवं प्रसूति रोग की आचार्य डॉ रचना चैधरी ने महिलाओं में होने वाले स्तन एवं सरवाइकल कैंसर के लक्षण की जानकारी दी। मेडिकल कालेज के मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर डॉ वी के त्यागी जो कि मेडिकल ऑन्कोलॉजी में विशेषज्ञ हैं, ने कैंसर रोगियों की कीमो थेरेपी कैसे की जाये इसको बताया ।

मेडिकल कालेज के रेडियोथैरेपी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ सुभाष सिंह (Head of the Department of Radiotherapy Dr. Subhash Singh) ने बताया कि मरीजों को रेडियो थेरैपी अर्थात सिकाई की आवश्यकता पड़ती है यदि किसी मरीजी को कैंसर के लक्षण दिखते हैं तो वह तुरंत नजदीक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर डॉक्टर से सलाह लें। डॉक्टर उसे परामर्श देंगे कि वह कैसर की किस अवस्था में है और उसको रेडियोथेरेपी की यदि आवश्यकता होती है तो उसको थेरेपी दी जानी चाहिये।

भारत में पुरुषों में होने वाले कैंसर में 50 प्रतिशत कैंसर तम्बाकू पदार्थों के सेवन

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता के रूप में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान नई दिल्ली (All India Institute of Medical Sciences New Delhi) के कैंसर विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ एम डी रे' ने बताया कि शरीर मे यदि अनावश्यक रूप से किसी भी अंग की वृद्धि होती है तो उसे कैसर कहते हैं। भारत मे पुरुषों में होने वाले कैंसर में 50 प्रतिशत कैंसर तम्बाकू पदार्थों के सेवन से होता है, तथा 30 प्रतिशत हमारी दैनिक दिनचर्या ठीक न होने की वजह से होता है बाकी 20 प्रतिशत महिलाओं के स्तन एवं सर्वाइकल कैंसर व जीन संबंधित और अन्य होते हैं।

कार्यक्रम में मेडिकल के स्नातक,स्नातकोत्तर छात्र छात्राओं, मेरठ जिले के सीएचओ, आशा व मेडिकल कॉलेज का नर्सिंग स्टाफ व नर्सिंग के छात्र छात्राओं का इस आयोजन से ज्ञान वर्धन हुआ जिससे इन सभी छात्रों को भविष्य में मरीजों का उपचार करने में लाभ मिलेगा।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story