×

नोएडा में 24 बिल्डरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, प्रदेश सरकार को एक हजार करोड़ का घाटा

जिलाधिकारी बीएन सिंह के निर्देश पर निबंधन विभाग के अधिकारियों ने नोएडा-ग्रेटर नेाएडा में 24 बिल्डरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। जिसमें बिल्डरों पर बिना रजिस्ट्री कराए ही 15000 खरीदारों को पजेशन देने का आरोप है। इससे प्रदेश सरकार को करीब एक हजार करोड़ का घाटा हुआ है। 

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 10 Feb 2018 4:47 AM GMT

नोएडा में 24 बिल्डरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, प्रदेश सरकार को एक हजार करोड़ का घाटा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नोएडा: जिलाधिकारी बीएन सिंह के निर्देश पर निबंधन विभाग के अधिकारियों ने नोएडा-ग्रेटर नेाएडा में 24 बिल्डरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। जिसमें बिल्डरों पर बिना रजिस्ट्री कराए ही 15000 खरीदारों को पोजेशन देने का आरोप है। इससे प्रदेश सरकार को करीब एक हजार करोड़ का घाटा हुआ है।

निबंधन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि नोएडा-ग्रेटर में ऐसे तमाम बिल्डर है, जिन्होंने प्राधिकरण से कंप्लीशन सार्टिफिकेट लिया है, उसके बाद खरीदारों को पजेशन दे दिया, लेकिन उन्होंने फ्लैट खरीददारों की रजिस्ट्री विभाग में नहीं कराई है। इस मामले पर कई बार बिल्डरों को नोटिस दिया जा चुका है।

बार बार नोटिस जारी करने के बावजूद जब सुनवाई नहीं हुई तो 30 जनवरी को प्रदेश के राजस्व नुकसान को लेकर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया था। इसमें जिला निबंधन विभाग के अधिकारियों के साथ बिल्डरों के प्रतिनिधियों को भाीशामिल किया था, लेकिन बिल्डरों की ओर से राजस्व जमा कराने को लेकर किसी भी प्रकार की गंभीरता नहीं अपनाई गई।

लिहाजा जिलाधिकारी के निर्देश पर उप निबंधन अधिकारी ने शुक्रवार को बिल्डरों पर मुकदमा दर्ज कराने की शिकायत दे दी।

अबतक सेक्टर-24 थाने में 10 बिल्डरों और ग्रेटर नोएडा में नौ बिल्डरों पर मुकदमा दर्ज करने की प्रक्रिया पूरी हो चुकी थी। सिर्फ नोएडा के रजिस्टार द्वितीय के छुट्टी पर होने की वजह से पांच बिल्डरों की शिकायत सेक्टर-24थाने नहीं पहुंची थी, जिसे सोमवार को थाने पर पहुंचाने की बात अधिकारियों ने कही है।

इनपर मुकदमा दर्ज

- लाजिक्स ब्लोसम ग्रीन सेक्टर-14

- सन वल्र्ड वनालिका सेक्टर-107

- एसोटेक सेलिसटर सेक्टर-44

- विक्ट्री कास रोड सेक्टर-143

- आम्रपाली प्लेटनियम सेक्टर-119

- आम्रपाली जोडियक प्राइवेट लिमिटेड सेक्टर-120

- आम्रपाली सफायरसेक्टर-120

- डिवाइन इंडिया प्राइवेट लिमिटेडसेक्टर-108

- एसोटेक इंफ्रा प्राइवेट लिमिटेड सेक्टर-78

- एआईएमएसजी ऐंजल्स प्राइवेट लिमिटेड सेक्टर-75

- पेन रियल्टर्स प्राइवेट लिमिटेड सेक्टर-70

- आम्रपाली प्रिंसपलेएस्टेट प्राइवेट लिमिटेड सेक्टर-76

- आम्रपाली प्रिंसपलेएस्टेट प्राइवेट लिमिटेड सेक्टर-76

- एजीसी अजनाराहोम्स सेक्टर-121

- स्क्वायर गार्डेनिया एम्स ग्लोरी सेक्टर-46

- एवीजे हाइट ससेक्टर जीटा वन ग्रेटर नोएडा

- सीसीएसई सहकारी आवास समिति वृंदासिटी सेक्टर फाई 4 ग्रेटर नोएडा

- सीनियर सिटीजन होम्स काम्प्लेक्स वेलफेयर सोसायटी सेक्टर-4 कासना ग्रेटर नोएडा

- यूनिटेक होराइजन सेक्टर-पाइ 2 ग्रेटर नोएडा

- यूनिटेक कासकेडस पाइ 2 ग्रेटर नोएडा

- यूनिटेक हैबिटेड सेक्टर- पाइ 2 ग्रेटर नोएडा

- महालक्ष्मी ग्रीन मेनषन सेक्टर-साइटसी यूपीएसआईडीसी

- टिस्को एप्लाइंस हाउसिंग एंड वेलफेयर सोसायटी सेक्टर-वीटा टू ग्रेटर नोएडा

- आम्रपाली लेजर वैली सेक्टर वन ग्रेटर ग्रेटर नोएडा

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story