सहारनपुर अवैध खननः दो आईएएस सहित 11 जगहों पर सीबीआई छापे

सीबीआई ने मंगलवार को 2 आईएएस अधिकारियो समेत प्रदेश के ग्यारह जगहों पर एक साथ छापा मारा। सीबीआई छापे के दौरान दोनों आईएएस अधिकारियो के यहाँ से 15 लाख कैश और प्रॉपर्टी के कागजात बरामद हुए हैं, जबकि अन्य जगहों से गोपनीय दस्तावेज बरामद हुए हैं।  

लखनऊ: सीबीआई ने मंगलवार को सहारनपुर अवैध खनन मामले में 2 आईएएस अधिकारियो समेत प्रदेश के ग्यारह जगहों पर एक साथ छापा मारा। छापे के दौरान दोनों आईएएस अधिकारियो के यहाँ से 15 लाख कैश और प्रॉपर्टी के कागजात बरामद हुए हैं, जबकि अन्य जगहों से गोपनीय दस्तावेज बरामद हुए हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार सीबीआई ने मंगलवार को लखनऊ में सीएसआई टावर में छापा मारा। सीएसआई टावर में दोनों आईएएस अधिकारियो का आवास है। सीबीआई ने  सहारनपुर में अवैध खनन के लीज के नवीनीकरण के मामले में तत्कालीन जिलाधिकारी सहारनपुर  अजय कुमार, 1998 बैच आईएएस (उत्तर प्रदेश खादी एन्ड विलेज इंडस्ट्री बोर्ड में सेक्रेटरी हैं अभी) के लखनऊ के घर से 15 लाख रुपये कैश, 2 प्रॉपर्टी के कागजात जिसमें एक कमर्शियल प्लॉट, एक रेसिडेंशियल प्लाट है, बरामद हुए हैं।
दूसरे तत्कालीन डीएम पवन कुमार (अभी स्पेशल सेक्रेट्री हाउसिंग एन्ड अर्बन प्लानिंग हैं) के नाम हैं। इन दोनों अधिकारियों पर 2005-2015 के बीच 13 लीज सहरानपुर में गलत तरीके से आरोपियों को दी गयी। ये लीज 2012-2015 के बीच उस वक़्त के डीएम ने गलत तरीके से रिन्यू कर दी, ई-टेंडर के नियमो को तांक पर रखा गया। इसमे दोनों तत्कालीन डीएम पर प्राइवेट पर्सन्स से मिलीभगत का आरोप है। इन दोनों अधिकारियों के यहाँ सीबीआई ने देर रात तक छानबीन करती रही।
इसके आलावा सीबीआई ने इस केस में  मंगलवार को सहरानपुर और देहरादून में 11 स्थानों पर बाकी आरोपियों के यहां केस से जुड़े गोपनीय दस्तावेज बरामद हुई हैं। इस मामले में सीबीआई ने गत 30 सितम्बर को सुप्रीम कोर्ट के आर्डर नंबर 818/2015 , इसमे सीबीआई ने सहारनपुर में जांच की और एफआईआर दर्ज की गई। दो आईएएस अधिकारी, पूर्व विधानपरिषद सदस्य समेत 12  के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर छापे कि कार्यवाही की।

 इस केस में लीज होल्डर्स थे

महमूद अली, दिलशाद, मोहमद इनाम, नसीम अहमद, अमित जैन, विकास अग्रवाल, मोहमद वाजिद, मुकेश जैन ऑनर पुनीत जैन जोकि सहरानपुर के रहने वाले हैं। बाकी प्राइवेट पर्सन हैं।