×

सीबीए के वार्षिक चुनाव का पुर्नमतदान शनिवार को, सुरक्षा के तगड़े इंतजाम

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 16 Nov 2018 3:22 PM GMT

सीबीए के वार्षिक चुनाव का पुर्नमतदान शनिवार को, सुरक्षा के तगड़े इंतजाम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : सेंट्रल बार एसोसिएशन के वार्षिक चुनाव का पुर्नमतदान शनिवार, 17 नवंबर को होगा। अध्यक्ष व महामंत्री समेत कुल 22 पदों के इस चुनाव में 95 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इन प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला कुल 3788 वैध मतदाता करेंगे। मुख्य चुनाव अधिकारी के मुताबिक मतदान सुबह नौ बजे से शुरु होकर सांय पांच बजे तक चलेगा। जबकि मतों की गिनती इसके अगले दिन 10 बजे शुरु होकर अंतिम परिणाम के आने तक जारी रहेगी।

बीते 25 सितंबर को सीबीए का यह वार्षिक चुनाव लंच बाद अव्यवस्थाओं के चलते निलंबित कर दिया गया था। इसके बाद हाईकोर्ट के आदेश पर नई एल्डर कमेटी गठित कर नया मुख्य चुनाव अधिकारी नियुक्त किया गया।

नवनियुक्त मुख्य चुनाव अधिकारी उमाशंकर श्रीवास्तव के मुताबिक वकीलों को मतदान के लिए उप्र बार काउसिंल ऑफ उप्र से जारी सीओपी नंबर वाला अपना आईकार्ड व सेंट्र्रल बार एसोसिएशन से जारी बायोमैट्रिक पहचान पत्र लाना अनिवार्य होगा। हाईकोर्ट के निर्देश पर शांतिपूर्ण तरीके से मतदान सम्पन्न कराने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पुलिस प्रशासन ने अपनी चाक चौबंद व्यवस्था कर रखी है।

उधर, शुक्रवार को चुनाव प्रचार का आखिरी दिन होने के चलते सभी प्रत्याशी अपनी जीत के लिए दिन भर वोट मांगते दिखे। कुछ प्रत्याशियों ने अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए शहर में रात को दावत का भी इंतजाम कर रखा है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story