×

Chandauli News: 28 बार ब्लड डोनेट कर रचा इतिहास, हिमांशु ऐसे बना जिंदगियों का रखवाला

Chandauli News: 26 वर्ष की उम्र में हिमांशु 28 बार ब्लड डोनेट कर जनपद में ऐतिहासिक कार्य किये है। हिमांशु ने बताया कि 2015 से उसको प्रेरणा मिली कि ब्लड डोनेट करके लोगों की जिंदगियां बचाई जा सकती है।

Ashvini Mishra
Reporter Ashvini MishraPublished By Shivani
Updated on: 2021-06-15T10:53:52+05:30
Chandauli News: 28 बार ब्लड डोनेट कर रचा इतिहास, हिमांशु ऐसे बना जिंदगियों का रखवाला
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Chandauli News: कहा गया है रक्तदान महादान,जहां दान देने से यस,कीर्ति बढ़ती है वही रक्तदान (Rakt Dan) से लोगों की जिंदगियां बचती है। स्वैच्छिक रक्तदान दिवस (World Blood Donor Day) के अवसर पर जिला मुख्यालय के पंडित कमलापति जिला चिकित्सालय के ब्लड बैंक पर कई लोंगों ने ब्लड डोनेट (Blood Donate) किया।जिसमें एक डोनर हिमांषु ने अपनी छोटी उम्र में बड़े कारनामे करते हुए कई लोंगों को अपना खून देकर जीवन दान दिया है।

26 वर्ष की उम्र में हिमांशु 28 बार ब्लड डोनेट कर जनपद में ऐतिहासिक कार्य किये है। जिला मुख्यालय के सुभाष नगर के निवासी हिमांशु वर्मा ने बताया कि 2015 से अपने गुरु से उनको प्रेरणा मिली की ब्लड डोनेट करके लोगों की जिंदगियां बचाई जा सकती है। रक्तदान सबसे पुनीत कार्य है। बस अपनी गुरु की बात मानकर हिमांशु 19 वर्ष की आयु से ब्लड डोनेट प्रारंभ कर दिया और मात्र 6 वर्षों में 28 बार ब्लड डोनेट करके कई लोगों की जिंदगियां बचाई है।
28 बार ब्लड डोनेट करने वाले छोटे भगवान ने बताया कि समाज में भ्रांतियां है कि ब्लड डोनेट करने से शरीर में कमजोरी या बीमारी होती है,यह गलत है बल्कि ब्लड डोनेट करने से शरीर स्वस्थ होता है। ब्लड डोनेट करने के बाद मैं प्रति वर्ष पूरे शरीर की एक बार चेकअप कराता हूं। जब से ब्लड मैं दे रहा हूं तब से पूर्ण रूप से स्वस्थ हूं। समाज सेवा के लिए एक ब्लड डोनेट संगठन भी बनाए हैं जिसमें कोषाध्यक्ष का कार्य करते हैं। उनके संगठन के लोग एक फोन कॉल पर जिंदगी बचाने के लिए ब्लड डोनेट करने हेतु कहीं भी जाने को तैयार रहते हैं।उनका संगठन पूरी तरह से समाज में जिंदगियां बचाने के लिए समर्पित है।
स्वैच्छिक रक्तदान दिवस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी बी पी द्विवेदी ने ब्लड बैंक पर 10 नियमित डोनोरो को अंग वस्त्र एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।इस अवसर पर स्वास्थ्य कर्मियों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के 50 लोगों ने ब्लड डोनेट किया।ब्लड डोनेट के समय भूपेंद्र द्विवेदी सीएमएस,संजय कुमार,राजकुँवर सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।
Shivani

Shivani

Next Story