×

चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट होगा दुबई की तरह हाईटेक,यात्रियों को आधुनिक सुविधा मिलेगी

राजधानी लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट को लंदन और दुबई की तरह 1338 करोड़ रुपये की लागत से हाईटेक करने की तैयारी शुरू हो गई है। एयरपोर्ट के विशेष कार्याधिकारी ने मंगलवार को बताया कि चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट देश का सबसे तेजी से विस्तार होने वाला एयरपोर्ट है।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 19 Feb 2019 2:59 PM GMT

चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट होगा दुबई की तरह हाईटेक,यात्रियों को आधुनिक सुविधा मिलेगी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: राजधानी लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट को लंदन और दुबई की तरह 1338 करोड़ रुपये की लागत से हाईटेक करने की तैयारी शुरू हो गई है। एयरपोर्ट के विशेष कार्याधिकारी ने मंगलवार को बताया कि चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट देश का सबसे तेजी से विस्तार होने वाला एयरपोर्ट है। यहां पर सालाना करीब 24 प्रतिशत यात्रियों का इजाफा हो रहा है। इसलिए एयरपोर्ट को लंदन और दुबई की तर्ज पर 1338 करोड़ रुपये की लागत से हाईटेक करने की तैयारी शुरू कर दी गई है। अगले एक दशक में यहां पर यात्रियों को लंदन और दुबई एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं मिलेंगी।

यह भी पढ़ें.....नोएडा: एसबीआई के ATM में पैसा डालने आए कर्मचारियों से 35 लाख की लूट

उन्होंने बताया कि चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर तेजी से यात्रियों की संख्या बढ़ रही है। इसलिए टर्मिनल-थ्री भवन का निर्माण 84 हजार वर्ग मीटर पर किया जाएगा। इसमें से 20 हजार वर्ग मीटर का बेसमेंट बनाया जाएगा। करीब पांच हजार वर्ग मीटर का सर्विस एरिया के अलावा टर्मिनल दो को जोड़ने वाले भवन का निर्माण छह हजार वर्ग मीटर पर किया जाएगा।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा हमला! महबूबा बनी पाक पीएम की वकील, एक चांस मांग रही इमरान के लिए

विशेष कार्याधिकारी ने बताया कि एयरपोर्ट टर्मिनल पर जब अधिक भीड़ होगी तो उस समय चार हजार यात्री टर्मिनल-थ्री में एक साथ अपनी यात्रा की शुरुआत कर सकेंगे। इसमें सबसे अधिक घरेलू टर्मिनल से जाने वाले विमानों के यात्री होंगे जबकि आठ सौ अंतरराष्ट्रीय यात्री इंटरनेशनल विमानों से सफर करेंगे। टर्मिनल -थ्री को बनाने का काम तेजी से शुरू हो गया है। यहां पर मिट्टी की खोदाई का काम चल रहा है जबकि निर्माण करने वाली कंपनी का साइट आफिस भी बन गया है।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा अटैक: मसूद अजहर का सिर कलम करने वाले को 51 लाख का ईनाम

टर्मिनल-थ्री करीब तीन साल में बनकर तैयार हो जाएगा। यहां पर यात्रियों को आधुनिक सुविधायें मिलेगी। यात्रियों को विमान में सवार होने से पहले अपने सामान की एक्सरे जांच के लिए लंबी लाइन में नहीं लगना होगा। लखनऊ एयरपोर्ट पर पहली बार टर्मिनल -थ्री में 'इन लाइन बैगेज हैंडलिंग सिस्टम' होगा जिसमें बोर्डिंग काउंटर पर ही यात्री को अपना सामान चेकिंग के लिए देना होगा। 1383 करोड़ रुपये की लागत से तीन साल में टर्मिनल बनकर तैयार हो जाएगा।

टर्मिनल-थ्री के आगमन और प्रस्थान की सुविधा कोलकाता एयरपोर्ट की तरह होगी। इस एयरपोर्ट पर प्रस्थान के लिए यात्री सीधे अपने वाहनों से ओवरब्रिज पर जा सकेंगे। बाहर से आने वाले विमानों का आगमन भूतल पर होगा। एयरपोर्ट पर आधुनिकता के साथ लखनऊ की तहजीब और संस्कृति भी देखने को मिलेगी। रूमी गेट से लेकर तमाम अन्य एतिहासिक इमारतें की प्रतिकृति यहां देखने को मिलेगी।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story