Top

यहां हो रहा सबसे सस्ता एंजियोग्राफी टेस्ट, गरीबों की होगी फ्री जांच

Admin

AdminBy Admin

Published on 27 April 2016 11:57 AM GMT

यहां हो रहा सबसे सस्ता एंजियोग्राफी टेस्ट, गरीबों की होगी फ्री जांच
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः अगर किसी को कोई बीमारी होती है तो उसके टेस्ट और दवाइयां मरीज को और भी बीमार कर देते हैं। ऐसे में श्यामा प्रसाद मुखर्जी हॉस्पिटल (सिविल ) हार्ट पेसेंट के लिए वरदान साबित हुआ है। यहां दूसरे हॉस्पिटल्स के मुकाबले सबसे सस्ता एंजियोग्राफी टेस्ट हो रहा है। यह उन मरीजों को राहत देगा जो गरीबी के चलते महंगे टेस्ट नहीं करा पाते हैं।

पूरे भारत में सबसे सस्ता

-सिविल हॉस्पिटल के डॉ आशुतोष दूबे ने newztrack को बताया कि यहां पूरे भारत में होने वाले एंजियोग्राफी टेस्ट के मुकाबले सबसे सस्ता टेस्ट होता है।

-मरीजों की सुविधा के लिए इस टेस्ट के दाम काम किए गए हैं।

यह भी पढ़ें...जिला हॉस्पिटल के डॉक्टर्स ने बरती लापरवाही, सीवर के पास कराया प्रसव

400 रुपए में एंजियोग्राफी

-सिविल हॉस्पिटल में सिर्फ 400 रूपए में ये टेस्ट हो रहा है।

-वहीं केजीएमयू, पीजीआई, और लोहिया जैसे हॉस्पिटल्स में इस टेस्ट की कीमत 7 हजार से 10 हजार के बीच में होती है।

-ऐसे में गरीब मरीज के लिए ये टेस्ट करा पाना मुश्किल होता है।

गरीबों के लिए फ्री सेवा

-डॉ आशुतोष ने कहा कि गरीबों के लिए एंजियोग्राफी टेस्ट बिल्कुल मुफ्त है।

-ऐसे में गरीब मरीजों के लिए ये एक वरदान की तरह है।

-हार्ट के मरीज का टेस्ट कराने में ही 10 से 15 हजार रूपए लग जाते हैं ऊपर से दवाइयों का खर्च ये सब सोच के हार्ट पेशेंट और बीमार हो जाता है।

-टेस्ट मुफ्त होने पर उनके इलाज के खर्चों में राहत मिलेगी।

यह भी पढ़ें...सीएम अखिलेश ने किया सैफई हॉस्पिटल के ट्रॉमा सेंटर का शिलान्यास

क्या है एंजियोग्राफी टेस्ट ?

-एंजियोग्राफी ब्लड वेसल्स, आर्टरी और वेइन्स का एक प्रकार का एक्स-रे जैसा होता है।

-इससे ह्रदय रोग, किडनी संक्रमण, ट्यूमर और खून का थक्का जमना जैसी बीमारियों की जांच की जाती है।

-इसमें रेडियोएक्टिव तत्व डाई का प्रयोग किया जाता है जिससे ब्लड वेसल्स को एक्स-रे में साफ साफ देखा जा सके।

-इस तकनिक में कंप्यूटर आर्टरीज के बैकग्राउंड को गायब कर देता है जिससे पिक्चर और साफ दिखने लगती हैं।

-यह तकनीक ब्लड वेसल्स में अवरोध होने की स्थिति में ही की जाती है।

-इससे हार्ट आर्टरी में होने वाली रूकावट और सिकुड़न की जानकारी का तुरंत पता पता चल जाता है।

Admin

Admin

Next Story