Top

TRADE TAX विभाग में सेंध,ID पासवर्ड हैक कर व्‍यापारियों से करोड़ों ठगे

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 13 May 2016 8:36 AM GMT

TRADE TAX विभाग में सेंध,ID पासवर्ड हैक कर व्‍यापारियों से करोड़ों ठगे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: राजधानी में ट्रेड टैक्स डिपार्टमेंट की लापरवाही से व्यापारियों को लाखों का चूना लगा है। ट्रेड टैक्स डिपार्टमेंट के ही कुछ संविदाकर्मियों ने अपने अधिकारियों की आईडी और पासवर्ड की मदद से व्यापारियों को करोड़ों का चूना लगाया। मामले का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस ने तीन संविदाकर्मियों समेत 6 लोगों को अरेस्ट कर जेल भेज दिया। एसएसपी राजेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि मामले की जांच जारी है। मुमकिन है इस मामले में कुछ अधिकारियों की भूमिका सामने आए।

पकड़े गए आरोपी संविदाकर्मी ने बताया कि उसने अपने अधिकारी की आईडी और पासवर्ड की मदद से व्यापारियों के फॉर्म 38 डाउनलोड किए और अपने क्लाइंट्स को देकर पैसा कमाया। इस काम में दो और संविदाकर्मियों ने उनका साथ दिया। अरेस्ट किए गए आरोपियों में बाहरी अभय ग्रोवर, प्रदीप चौहान, गुरप्रीत सिंह, जबकि सेल्स टैक्स डिपार्टमेंट के संविदाकर्मी सुनील कुमार कोरी, अमन वर्मा, और प्रभात शंकर शुक्ला हैं।

ऐसे सामने आया मामला

एसएसपी राजेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि बीते महीने लखनऊ की चन्द्रकान्ता टाइल्स के मालिक ने बताया कि उनके नाम से 28 लाख का सेल टैक्स का नोटिस आया है। जबकि उन्होंने कभी बाहर से कुछ मंगवाया ही नहीं। मामले की जानकारी की बाद महकमे में हडकंप मच गया, पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की तो एक के बाद एक सारी परतें खुलती चली गईं।

ऐसे किया फ्रॉड

सेक्टर आठ के उपायुक्त अजय कुमार श्रीवास्तव के संविदाकर्मी सुनील कुमार कोरी ने बताया कि उसे अजय श्रीवास्तव ने उसे अपना लॉग इन आईडी और पासवर्ड दे रखा है। इसे खोलकर मैं व्यापारियों की आईडी बदलकर अपने नए क्लाइंट की मेल आईडी डाल देता और फॉर्म 38 डाउनलोड कर लेता था। फिर मैं उसे अपने साथी अमन को देता था और अमन प्रभात शंकर शुक्ला को दे देता था। शुक्ला इसे अपने क्लाइंट को देकर पैसा लेता था।

एसएसपी बोले बढ़ेगा जांच का दायरा

एसएसपी राजेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि अभी जाकर अभियुक्त पुलिस की कस्टडी में आए हैं। इनसे पूछताछ के बाद ही इनके साथ और कौन कौन से लोग हैं उनके बारे में जानकारी जुटाई जा रही हैं। अभी तक की पूछताछ में सभी ने 250 फॉर्म डाउनलोड किया है। मुमकिन है इस जांच में कुछ कड़ियां और जुड़ें। उन्होंने इस मामले में अन्य अधिकारियों की संलिप्तता पर कहा कि जांच में सब क्लियर हो जाएगा।

दो महीने के खाते में जमा कर लिए 14 लाख

एसएसपी ने बताया कि मेन मास्टरमाइंड प्रभात शंकर शुक्ला ने बीते दो महीने में ही सिर्फ 14 लाख से ज्यादा रुपए इकठ्ठा कर अपने अकाउंट में जमाकर दिया हैं। पुलिस ने अकाउंट को भी फ्रीज कर दिया है।

क्या कहते है डिप्टी कमिश्नर अजय कुमार श्रीवास्तव

इस बाबत सेल्स टैक्स के डिप्टी कमिश्नर अजय कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि मैंने अपना आईडी और पासवर्ड किसी को नहीं दिया। उन्होंने चन्द्रकान्ता टाइल्स पर भी संदेह जताते हुए कहा फॉर्म डाउनलोड होने पर मेसेज आता है। अगर उन्होंने फॉर्म डाउनलोड नहीं किया और उनके पास एक के बाद एक पचास मैसेज आए तो उन्होंने इसकी शिकायत विभाग में क्यों नहीं दर्ज करवाई। अभी मुझे मामले की ज्यादा जानकारी नहीं है। लेकिन जल्द ही सब सामने आ जाएगा।

Newstrack

Newstrack

Next Story