Top

VIDEO: आग की चपेट में आकर बच्‍ची की मौत, 2 झुलसे, 3 दर्जन दुकानें खाक

Admin

AdminBy Admin

Published on 26 March 2016 4:48 AM GMT

VIDEO: आग की चपेट में आकर बच्‍ची की मौत, 2 झुलसे, 3 दर्जन दुकानें खाक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: कोतवाली थाना क्षेत्र में 154 साल पुरानी परेड बाजार में शुक्रवार की रात आग लगने से 105 दुकाने जलकर खाक हो गईंं, वहीं एक मासूम बच्ची की मौत हो गई। इस भीषण अग्निकांड के बाद परेड का माहोल तनावपूर्ण है। व्यापारियों का आरोप है कि आग जानबूझकर लगाई गई है। तनाव को देखते हुए पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

परेड मैदान का ऐतिहसिक महत्व है यहां पर होने वाली रामलीला यूपी की सबसे बड़ी रामलीला कमेटी है। रामलीला के बाद यहां बड़ी संख्या में दुकाने सज जाती हैं, जिसमें कपड़े, जूते-चप्पल,गल्ले आदि का व्‍यापार होता है।

क्‍या है पूरा मामला

-परेड बाजार में शुक्रवार को अचानक आग लग गई।

-आग इतनी विकराल थी कि दूर-दूर तक इसकी लपटें दिखाई दे रही थीं।

-झोपड़ी बनाकर रह रहे चौकीदार लक्ष्मी नारायण की बेटी चांदनी(14) आग की चपेट में आ गई।

-इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

-वहीं लक्ष्मी नारायण की पत्नी सूर्यमती,बड़ा बेटा लालू और कल्लू झुलस गए।

-इनका उर्सला हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है।

-परेड बाजार रजिस्टर्ड कमेटी के मंत्री मो राईस ने क्या कहा...

-यहां दुकानों में रोजाना 20 से 25 लाख का व्यापार होता है।

-इस अग्निकांड में 105 दुकाने जल कर खाक हुई हैं।

-यह आग लगी नहीं है बल्कि लगाई गई है।

पहले भी लग चुकी है आग

-यहां पर 154 साल से हमारी दुकाने हैं जिनके कागज हैं।

-कानपुर कोर्ट से हमने इन दुकानों का केस भी जीता है।

-उन्होंने बताया कि नगर निगम ये दुकाने खाली करवाना चाहता है।

-हमें कई बार प्रताड़ित करने का प्रयास किया गया है।

-सबसे पहले 2001 में आग लगी थी इसके बाद 2005 में फिर 2009 में और अब 2016 में।

दो माह पहले खाली कराया गया था मुर्गा मार्केट

-परेड में ही दो माह पहले मुर्गा मार्केट खाली करवाया गया था।

-मेट्रो की वजह से मुर्गा मार्केट में अब स्टैंड बनेगा।

-अब प्रशासन चाहता है कि किसी तरह यह कपड़ा बाजार भी खाली हो जाए।

व्‍यापारियों ने डीएम को लिखकर मांग की

-व्यापारियों ने कानपुर डीएम को इस संबंध में लिखित पत्र लिखा है।

-हमारी मांग है कि दुकानों को पक्की बनाया जाए।

-आग में झुलसी चौकीदार की बेटी की मौत का मुआवजा दिया जाए।

लेखपाल अश्वनी यादव के मुताबिक

-सभी व्यापारियों के नाम और उनके नुकसान का ब्योरा लिया जा रहा है।

-यह रिपोर्ट डीएम को सौपी जाएगी ताकि पीड़ित व्यापारियों को मुआवजा मिल सके।

यह भी पढ़ें...लखीमपुर-खीरी: भीषण आग में 300 घर जले, चार महिलाओं की मौत-दर्जनों झुलसे

बच्‍ची की डेडबॉडी रखकर किया रोड जाम

-आग लगने के बाद शनिवार की सुबह गुस्साए लोगों ने बच्ची की डेडबॉडी रखकर रोड जाम किया था।

-हरकत में अए प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे थे।

-एडीएम सिटी अविनाश सिंह ने किसी तरह लोगों को समझाकर जाम खुलवाया था।

-घटना के बाद मौके पर पुलिसफोर्स तैनात कर दी गई है।

यह भी पढ़ें...लखीमपुर-खीरी: भीषण आग में 300 घर जले, चार महिलाओं की मौत-दर्जनों झुलसे

मृतक बच्ची के घरवालों ने क्‍या कहा

-मृतक बच्ची चांदनी के भाई लालू पाल ने बताया कि वह रात में सो रहा था।

-अचानक आग की लपटों ने उसे घेर लिया उसने घर में सो रही अपनी मां सोमवती और भाई जितेंद्र को तो बचा लिया।

-लेकिन छोटी बहन चांदनी आग की लपटों से बुरी तरह झुलस गई।

-इससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

Admin

Admin

Next Story