Top

अलीगंज रेप-मर्डर: रिक्शा वाले ने दिया था वारदात को अंजाम, हुआ अरेस्ट

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 18 March 2016 5:12 PM GMT

अलीगंज रेप-मर्डर: रिक्शा वाले ने दिया था वारदात को अंजाम, हुआ अरेस्ट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: राजधानी में गुरुवार सुबह महानगर के छन्नी लाल चौराहे के पास बोरे में मिली मासूम की लाश ने इलाके में सनसनी मचा दी थी। इस मामले में पुलिस ने एक रिक्शा चालक को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा किया है।

बता दें, कि बुधवार कि रात अलीगंज में रहने वाले सफाईकर्मी की बेटी घर से निकली थी और अगले दिन उसकी लाश एक बोरे में मिली थी।

क्या कहती है पुलिस

-एसएसपी राजेश पाण्डेय, एएसपी टीजी जयप्रकाश की लंबी पूछताछ के बाद आरोपी रिक्सा चालाक केदार सिंह ने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

-पुलिस ने किशोरी की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

-राजेश पाण्डेय ने वारदात के बाद भी कहा था यह घिनौना काम किसी रिक्शा चालक या मजदूर ने किया है।

-घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे तलाशे गए।

-संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।

क्या था मामला ?

-सागर (काल्पनिक नाम) पिछले दो साल से अलीगंज थाना क्षेत्र में किराए के मकान में अपनी पत्नी और चार बच्चों के साथ रह रहे हैं।

-सागर अलीगंज स्थित लोहिया भवन में संविदा पर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं।

-उनकी पत्नी सपना (काल्पनिक नाम) जिस मकान में किराए पर रहती है वहीं झाडू पोंछा का काम करती हैं।

-मंगलवार शाम को खाना खाने के बाद सपना ने बेटी कंचन(काल्पनिक नाम) से बाहर का गेट बंद करने को कहा।

टॉफी लेने निकली फिर वापस न आई

-कंचन ने घर के पास ही परचून की दुकान से टॉफी खरीद कर लाने के बाद गेट बंद करने की बात कही।

-और घर से बाहर निकल गई।

-कुछ देर तक तो परिजन इंतजार करते रहे।

-लेकिन कंचन आधे घंटे बाद भी घर वापस नहीं लौटी

-परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की, लेकिन वह कहीं नहीं मिली।

परिजनों को पुलिस ने टरका दिया

-परिजन रात करीब साढ़े 11 बजे अलीगंज थाने पहुंचे और कंचन के लापता होने की जानकारी दी

-पुलिस ने परिवार की माली हालत देखते हुए उन्हें टरका दिया।

-कंचन के पिता और उसका भाई रात करीब तीन बजे तक उसकी तलाश में जुटे रहे।

-लेकिन, कंचन नहीं मिली।

-वहीं गुरुवार दोपहर कंचन के पिता को जानकारी मिली कि छन्नीलाल चौराहे पर बोरे में बंद एक बच्ची का शव मिला है।

-पिता ने महानगर कोतवाली पहुंच कर बच्ची की पहचान बेटी कंचन के रूप में की।

Newstrack

Newstrack

Next Story