Top

ताला खोल कर बाल आश्रय गृह से भागे बच्चे, सीसीटीवी खंगाल रही पुलिस

पुलिस ने कहा कि एनजीओ ने बच्चों के भागने की तहरीर दी है। जांच की जा रही है कि पूरे मामले में क्या एनजीओ की कोई लापरवाही है। बच्चों की तलाश के साथ ही लापरवाही बरतने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी ।

zafar

zafarBy zafar

Published on 20 Aug 2016 10:48 AM GMT

ताला खोल कर बाल आश्रय गृह से भागे बच्चे, सीसीटीवी खंगाल रही पुलिस
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: बाल आश्रय गृह साथी संस्था से छह बच्चे ताला खोल कर भाग गए। लेकिन बच्चों की यह करतूत सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गईl रेलवे स्टेशन, बस अड्डे और शेल्टर हाउस में बच्चों की तलाश की गई लेकिन कुछ पता नही चलाl एनजीओ की तरफ से जूही थाने में किशोरों के भागने की तहरीर दी गई हैl पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आदार पर घटना की जांच में जुटी हैl

children leave-shelter home

भाग निकले बच्चे

-जूही थाना क्षेत्र के आनंदपुरी इलाके में साथी संस्था नाम की एनजीओ है।

-संस्था के इंचार्ज भूषण सिंह ने बताया कि 18 अगस्त को रक्षाबंधन के चलते स्टाफ कम था।

-भूषण सिंह चाबी छोड़ कर कपड़े बदलने दूसरे कमरे में गए। उनके जाने के बाद सभी छह किशोर ताला खोल कर भाग गए।

-लौटने पर बच्चों के भागने की जानकारी मिली। सारा स्टाफ पूरी रात बच्चों को तलाश करता रहा, लेकिन सफल नहीं हुआ।

children leave-shelter home

सहारा देती है संस्था

-2007 में स्थापित एनजीओ रेलवे स्टेशन, बस अड्डे और दूसरी जगहों पर बसेरा करने वाले भटके हुए या बेसहारा बच्चों को शरण देती है।

-पुलिस की मदद से एनजीओ बच्चों के घर-परिवार की तलाश का काम करती है।

-भागने वाले बच्चों में बांदा निवासी कृष्णा (13), फतेहपुर निवासी पंकज कुमार (13), प्रातपगढ़ निवासी शेर बहादुर (13), प्रतापगढ़ निवासी मो. इकलाख (14), बालामऊ निवासी संतोष मौर्या (13) और फतेहपुर निवासी फैजान (11) शामिल हैं।

children leave-shelter home

लापरवाही की जांच

-सीओ बाबूपुरवा आतिश कुमार सिंह ने कहा कि एनजीओ ने बच्चों के भागने की तहरीर दी है।

-संस्था ने पोस्टर लगा कर तलाशी अबियान चलाया है, पुलिस जांच कर रही है कि क्या पूरे मामले में एनजीओ की कोई लापरवाही है।

-पुलिस ने कहा कि बच्चों की तलाश के साथ ही लापरवाही बरतने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी ।

zafar

zafar

Next Story