×

Chitrakoot: श्रम कार्यालय में दलालों का बोलबाला, योजनाओं का लाभ दिलाने बहाने गरीब को लूट रहे

Chitrakoot: श्रम कार्यालय में दलालों का बोलबाला है। सरकार की ओर से चलाई जा रही जन कल्याणकारी योजना का श्रमिकों को लाभ देेने के बहाने गरीब लोगों को लूटा जा रहा है l

Sunil Shukla (Chitrakoot)
Updated on: 20 May 2022 4:22 PM GMT
Chitrakoot News
X

श्रम कार्यालय में दलालों का बोलबाला। (Social Media) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Chitrakoot News Today: एक तरफ जहां सरकार गरीब जनता के हितों को लेकर कई तरह की योजनायें चला रही हैं वही दूसरी ओर विभागीय अधिकारियों की लापरवाही और संविदा कर्मियों की मनमानी के चलते गरीब जनता को लूटने का काम किया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर श्रम विभाग में दलालों का बोलबाला है जो सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं (public welfare scheme) का लाभ दिलाए जाने के नाम पर जनता को लूटने का काम कर रहे हैं इन दलालों को विभागीय अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है जिसके कारण इनके द्वारा ही योजनाओं की फाइल स्वीकृति कराई जाती हैं व मनमाने तरीके से लूट की जाती है l

श्रमिकों के लिए चलाई जा रही कई तरह की योजनाएं

सरकार द्वारा चलाई जा रही जन कल्याणकारी योजना उप्र भवन एवं अन्य सनिर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड द्वारा श्रमिकों के लिए कई तरह की योजनाएं चलाई जा रही है, जिसके पंजीकरण को लेकर गरीब जनता को लूटा जा रहा है l श्रम प्रवर्तन अधिकारी कार्यालय (Labor Enforcement Officer Office) में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ कई बार आवाज उठाई गई जिसमें विभागीय अधिकारियों और जिला प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारियो की मनमानी के चलते कोई कार्यवाही नहीं हो सकी l

दलालो को लगाकर कराये जा रहे अवैध श्रमिक पंजीकरण

श्रम प्रवर्तन कार्यालय (Labor Enforcement Officer Office) में संविदा कर्मी कंप्यूटर ऑपरेटर जगत राम (contract worker computer operator Jagat Ram) और एकाउण्टेन्ट द्वारा जमकर गरीब जनता को लूटा जा रहा है l श्रम प्रवर्तन कार्यालय के दलालो को लगाकर अवैध श्रमिक पन्जीकरण कराये जा रहे हैं l जिसमें सरकारी शुल्क से ज्यादा वसूली की जा रही है वही योजनाओ के नाम पर मनमाने तरीके से रुपये लिये जा रहे हैं l श्रमिकों के पन्जीकरण के लिए मनरेगा में पचास दिन काम और अन्य दैनिक मजदूरी मे 90दिन काम निर्धारित है जबकि विभाग में हो रहे श्रमिकों के पन्जीकरण में विभागीय ठेकेदारो से फ़र्जी कार्य दिखाकर पन्जीयन किया जा रहा है जिससे ठेकेदारो और विभागीय अधिकारियों की मनमानी से गरीब जनता खासा परेशान है l

श्रम प्रवर्तन अधिकारी कार्यालय में दलालों का बोलबाला

श्रम प्रवर्तन अधिकारी कार्यालय में सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं में साइकिल सहायता योजना, सौर ऊर्जा योजना, मात्रत्व हित लाभ योजना, शिशु हित लाभ योजना, दुर्घटना सहायता योजना, शादी अनुदान योजना, आवास योजना के नाम पर दलालों द्वारा अवैध वसूली की जा रही है

जिनकी अवैध वसूली के बगैर किसी भी लाभार्थी को योजनाओं का लाभ नहीं दिया जाता है अगर पैसे दिए गए तो फाइल तुरन्त पास कर दी जाती है अगर पैसे नहीं मिले तो फाइल रिजेक्ट कर दी जाती है जिसके चलते गरीब श्रमिकों को दलालों की बात मानते हुए पैसे देने पड़ते हैं जो गरीबआ श्रमिकों से योजनाओं का लाभ दिलाए जाने के नाम पर श्रमिकों को लूटने का काम कर रहे हैं l

अभी हाल ही में स्थानांतरित होकर जिले में ली है तैनाती

वहीं, श्रम प्रवर्तन अधिकारी अरुण तिवारी (Labor Enforcement Officer Arun Tiwari) अभी हाल ही में स्थानांतरित होकर जिले में तैनाती ली है जिसके कारण अभी इन दलालों व जिम्मेदार अधिकारियों की मिलीभगत को समझ नहीं पाए हैं। वहीं अभी तक श्रम प्रवर्तन अधिकारी का कार्यभार दुष्यंत सिंह को मिला था जिनका स्थानांतरण श्रम कार्यालय मानिकपुर के लिए हो गया है लेकिन अवैध वसूली व दलालों के मोह के कारण वह मानिकपुर न जाकर श्रम कार्यालय कर्वी में ही बैठ रहे हैं व उनके मानिकपुर कार्यालय का कार्यभार चहेते दलाल शिव शंकर सोनी द्वारा देखा जा रहा है जो कार्यालय खोलते व बन्द करते हैं। श्रम प्रवर्तन अधिकारी व संविदा कर्मियों से साठ गांठ कर दलालों ने कार्यालय में जमकर कमीशन खोरी व धांधली मचा रखी है l

संविदा कर्मियों व दलालों के भ्रष्टाचार का खुलासा होने के बाद कोई कार्यवाही न होने के कारण गरीब जनता दर दर भटक रही है और विभाग में कार्यरत कर्मचारी अपनी मनमानी करने से बाज नही आ रहे हैं आखिर कब तक मजदूरो का शोषण होता रहेगा l

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story