×

ग्राम रोजगार सेवक और लखनऊ में दोतरफा पथराव, विधानभवन क्षेत्र बना रणक्षेत्र

aman

amanBy aman

Published on 25 Sep 2017 11:46 AM GMT

ग्राम रोजगार सेवक और लखनऊ में दोतरफा पथराव, विधानभवन क्षेत्र बना रणक्षेत्र
X
ग्राम रोजगार सेवक और लखनऊ में दोतरफा पथराव, विधानभवन क्षेत्र बना रणक्षेत्र
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: राजधानी के लक्ष्मण मेला पार्क मैदान पर पिछले कई दिनों से अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे ग्राम रोजगार सेवकों की मांग कई दिनों बाद भी पूरी नहीं हुई तो सोमवार (25 सितंबर) को इनके सब्र का बांध टूट गया। कोई और रास्ता न देख ग्राम सेवकों ने सरकार से मांगों को मनवाने के लिए विधानभवन की ओर कूच किया।

हालांकि, ग्राम रोजगार सेवक विधानभवन का घेराव करने के लिए वहा पहुंचते इससे पहले ही पुलिस ने इन्हें रोक लिया। इस बीच रोके जाने से नाराज़ प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव कर दिया।

ग्राम रोजगार सेवक और लखनऊ में दोतरफा पथराव, विधानभवन क्षेत्र बना रणक्षेत्र

पुलिस-प्रदर्शनकारियों में जमकर पथराव

उग्र ग्राम रोजगार सेवकों ने ईंट और लोहे के टुकड़े पुलिस पर फेंकना शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस की ओर से भी पथराव किया गया। दोनों तरफ से पथराव का सिलसिला काफी देर तक चलता रहा। इस दौरान कई लोग मामूली रूप से घायल भी हुए हैं।

अफरा-तफरी का माहौल

चारों तरफ अफरा-तफरी का माहौल रहा। पुलिस ने लाठीचार्ज करते हुए किसी तरह उग्र ग्राम रोजगार सेवकों पर काबू पाया। कईयों को गिरफ्तार भी किया गया है। मौके पर एसपी सिटी सर्वेश मिश्र कई थानों की फ़ोर्स और पीएसी के साथ मोर्चा लिए हुए हैं।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story