Top

KGMU को CM का गिफ्ट, कैंसर पीड़ित बच्चों का होगा बेहतर इलाज

By

Published on 8 May 2016 12:53 PM GMT

KGMU को CM का गिफ्ट, कैंसर पीड़ित बच्चों का होगा बेहतर इलाज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में कैंसर पीड़ित बच्चों के बेहतर इलाज के लिए पीडियाट्रिक ऑन्कोलॉजी विभाग बनाया गया है। यह विभाग हेल्पिंग हैंड्स NGO के प्रयास से बनाया गया है। इसके उद्घाटन में सीएम अखिलेश यादव और मेंबर ऑफ पार्लियामेंट डिंपल यादव मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे।

केजीएमयू में पीडियाट्रिक ऑन्कोलॉजी विभाग के उदघाटन समारोह के दौरान सीएम ने कहा कि किसी मां की कोख सूनी होने से बचाने के काम से अच्छा मदर्स डे के दिन कोई काम हो ही नहीं सकता। इस विभाग की मदद से अब केजीएमयू में कैंसर पीड़ित बच्चों को बेहतर इलाज मिल सकेगा।

यह भी पढें...KGMU में आए तीमारदारों को नहीं मिल रही छत, बिगड़ रही तबियत

देश का बेस्ट चिकित्सा संस्थान है केजीएमयू

-उन्होंने कहा कि केजीएमयू यूपी का ही नहीं देश का बेस्ट चिकित्सा संस्थान है।

-यहां से पढ़े लिखें लोग पूरी दुनिया में देश का नाम रोशन कर रहे हैं।

-उन्होंने बसपा सरकार में केजीएमयू के बदलने वाले नाम की ओर इशारा किया।

-अगर सरकार बदल गई तो नाम भी बदल जाएगा।

-हम समाजवादी लोग हैं और फिर से नाम हम ही बदलेंगे।

कुछ हिस्सों में तेजी से बढ़ रहा है कैंसर

-उन्होंने ने कहा कि एक सर्वे में सामने आया है कि यूपी के कुछ हिस्सों में कैंसर तेजी से फैल रहा है।

-हमारी सरकार की ओर से कैंसर की बीमारी पर सबसे ज्यादा बजट दिया जा रहा है।

-इस भयंकर बीमारी से जूझ रहे लोगों की जान बचाई जा सके।

सबसे तेज हमारे काम

-सीएम ने कहा कि सपा सरकार में जितनी तेजी से काम हुए हैं किसी सरकार में नहीं हुए हैं।

-मेट्रो और एक्सप्रेसवे का निर्माण जितनी तेजी से हो रहा है शायद ही इतने तेज काम कही पर हुआ हो।

-एक्सप्रेस वे को लखनऊ से आगरा तक ही नहीं बल्कि बलिया और गाजीपुर से जोड़ने की तैयारी है।

-ये एक्सप्रेस वे शहरों को गांवों से जोड़ेगा जिससे विकास सुनिश्चित होगा।

यह भी पढें...KGMU दे सकता है एयर एबुंलेंस, हेलीकॉप्टर से रेफर होंगे मरीज

-प्रमुख सचिव चिकित्सा डॉ. अनूप चन्द्र पांडेय ने कहा कि आजादी के 75 वर्ष बीत जाने के बाद भी स्वास्थ्य क्षेत्र में काम नहीं हुआ।

-जितना सपा सरकार ने मात्र 4 सालों में कर दिखाया।

-पूरे प्रदेश में मात्र एक जेके कैंसर इंस्टिट्यूट कानपुर था।

-अब लखनऊ में भी 550 करोड़ की लागत से कैंसर इंस्टिट्यूट का निर्माण कराया जा रहा है।

-इसके अलावा चाइल्ड कैंसर हॉस्पिटल केवल इलाहाबाद में हुआ करता था।

-आज गोरखपुर में भी इस हॉस्पिटल की शुरुआत होने वाली है।

चीनी उत्पादन में नंबर वन

-सीएम ने कहा कि सपा सरकार में बंद चीनी मिलों को शुरू करने के लिए करोड़ों रुपये दिए गए।

-इससे आज उत्तर प्रदेश चीनी उत्पादन के मामले में पूरे देश में नंबर वन है।

-जहां नई चीनी मिल के निर्माण में 2 से 3 साल का समय लग जाता है।

-वहीं सपा सरकार ने आजमगढ़ में मात्र 9 महीने में चीनी मिल शुरू की गई।

-इसके अलावा दूध और गेहूं उत्पादन में भी यूपी नंबर वन पर पहुंच गया है।

यह भी पढें...लखनऊ में बना ग्रीन कॉरीडोर, 24 मिनट में KGMU से लीवर पहुंचा एयरपोर्ट

कर्मचारियों ने किया बवाल

-कर्मचारियों ने सीएम के कार्यक्रम से निकलते ही हंगामा काटना शुरू कर दिया।

-सीएम के आश्वासन देने पर कर्मचारी कुछ शांत हुए लेकिन उनके जाने के बाद वीसी ऑफिस का घेराव किया।

-कार्यक्रम के दौरान सीएम ने केजीएमयू के कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने की मांग पर फिर से उन्हें आश्वासन दिया।

-उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की सैलरी के मुद्दे को आने वाले घोषणा पत्र में शामिल किया जाएगा।

आईसीयू की तरह तैयार किया गया पीडियाट्रिक ऑन्कोलॉजी विभाग

-बाल रोग विभाग के थर्ड और फोर्थ फ्लोर पर राज्य के पहले पीडियाट्रिक आंकोलॉजी विभाग का निर्माण किया गया है।

-इस विभाग में 50 कैंसर पीड़ित बच्चों को भर्ती करने की व्यवस्था है।

-इस 50 बेड के वार्ड में प्रत्येक बेड को आईसीयू की तरह तैयार किया गया है।

-इस वार्ड में कैंसर पीड़ित बच्चे के इलाज और उसको सपोर्ट देने के लिए जीवन रक्षक प्रणाली की सुविधा होगी।

-अभी तक इस यूनिट में सिर्फ 28 बेड ही थे।

-मरीजों की संख्या ज्यादा होने पर एक बेड पर दो से तीन बच्चों को भर्ती करना पड़ता था।

यह भी पढें...KGMU के गार्ड्स को तीन महीने से नहीं मिला वेतन, बेरंग रही होली

-नए वार्ड में डे केयर की भी व्यवस्था होगी।

-इसमें कीमोथेरेपी के बाद बच्चे को उसी दिन डिस्चार्ज किया जा सकेगा।

-पीडियाट्रिक आंकोलॉजी विभाग प्रदेश ही नहीं देश का पहला विभाग है।

Next Story