×

UP: पूरे ब्रज क्षेत्र के विकास के लिए योगी आदित्यनाथ ने केंद्र से मदद मांगी

आज मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री से ब्रज क्षेत्र के पौराणिक तथा ऐतिहासिक धरोहरों के पुनरुद्धार तथा पुनर्प्रतिष्ठा के सम्बन्ध में विस्तार से चर्चा की।

Shreedhar Agnihotri
Updated on: 24 Jun 2022 3:33 PM GMT
Lucknow News In Hindi
X

ब्रज क्षेत्र के विकास के लिए योगी आदित्यनाथ ने केन्द्र से मदद मांगी।

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की मंशा भगवान कृष्ण की नगरी मथुरा (Mathura) और उसके आसपास के क्षेत्र के विकास की है। इसके लिए आज उन्होेंने केन्द्र सरकार (Central Government) से वार्ता कर इसके विकास के लिए नए रास्ते खोजने का काम किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) इस पूरे क्षेत्र केे धार्मिक महत्व के साथ इसके पर्यटन को भी बढावा देना चाह रहे है।

ब्रज क्षेत्र के पौराणिक तथा ऐतिहासिक धरोहरों के पुनरुद्धार को लेकर की चर्चा

इसके लिए आज मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री से ब्रज क्षेत्र के पौराणिक तथा ऐतिहासिक धरोहरों के पुनरुद्धार तथा पुनर्प्रतिष्ठा के सम्बन्ध में विस्तार से चर्चा की। ज्ञातव्य है कि ब्रज क्षेत्र की धार्मिक, पौराणिक एवं ऐतिहासिक महत्व के धरोहरों की पुनर्प्रतिष्ठा के लिए राज्य सरकार (State Government) द्वारा उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद (Uttar Pradesh Braj Teerth Vikas Parishad) का गठन किया गया है।

मथुरा-वृन्दावन रेल मार्ग को विकसित करने के सम्बन्ध में किया विचार-विमर्श

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज नई दिल्ली में उत्तर प्रदेश के विकास कार्याें के सम्बन्ध में केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Union Minister for Road Transport and Highways Nitin Gadkari), केन्द्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव (Union Railway Minister Ashwini Vaishnav), केन्द्रीय पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनोवाल, केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी (Union Culture and Tourism Minister G Kishan Reddy) तथा केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्यमंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वीके सिंह से भेंट कीयोगी आदित्यनाथ ने केन्द्रीय रेल मंत्री से लगभग 12 किलोमीटर लम्बे मथुरा-वृन्दावन रेल मार्ग (Mathura-Vrindavan Rail Route) को वैकल्पिक यातायात मार्ग के रूप में विकसित किये जाने के सम्बन्ध में विचार-विमर्श किया।

ज्ञातव्य है कि मथुरा-वृन्दावन के मध्य स्थित यह रेल मार्ग अनुपयोगी सिद्ध हो रहा है। इस मार्ग की भूमि का उपयोग मथुरा और वृन्दावन के बीच वैकल्पिक यातायात मार्ग को विकसित किये जाने के लिए हो सकता है। इसके दृष्टिगत मथुरा-वृन्दावन रेलवे लाइन पर लाइट रेल ट्रांजिट सिस्टम (एलआरटीएस) का निर्माण किया जाना प्रस्तावित है।

मथुरा जंक्शन पर टूरिस्ट फेसिलिटेशन सेण्टर के निर्माण के सम्बन्ध में की वार्ता

मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय रेल मंत्री से मथुरा जंक्शन पर टूरिस्ट फेसिलिटेशन सेण्टर के निर्माण के सम्बन्ध में वार्ता की। उल्लेखनीय है कि मथुरा में भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं से जुड़े स्थलों पर देश-विदेश से बड़ी संख्या में पर्यटकों तथा श्रद्धालुओं का आगमन होता है। इनमें ट्रेन के माध्यम से आने वाले यात्रियों की संख्या सर्वाधिक होती है। रेलवे स्टेशन पर टूरिस्ट फेसिलिटेशन सेण्टर के निर्माण से मथुरा आने वाले यात्रियों को सुविधा होगी।

मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्री से वृन्दावन-मथुरा-गोकुल को जोड़ते हुए यमुना नदी पर जलमार्ग विकसित किये जाने के सम्बन्ध में विचार-विमर्श किया। इस जलमार्ग के विकास से मथुरा, वृन्दावन एवं गोकुल तीर्थ स्थलों पर आने वाले श्रद्धालुओं को सुगमता होगी।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story