Top

50 व्यक्तियों से अधिक क्षमता वाले उद्योगों व संस्थानों में कोविड केयर सेंटर बनाये जाएं: CM योगी

सीएम योगी ने 50 व्यक्तियों से अधिक क्षमता वाले उद्योगों व संस्थानों में कोविड केयर सेंटर स्थापित करने के निर्देश दिए।

Shreedhar Agnihotri

Shreedhar AgnihotriReporter Shreedhar AgnihotriShreyaPublished By Shreya

Published on 17 May 2021 5:20 PM GMT

50 व्यक्तियों से अधिक क्षमता वाले उद्योगों व संस्थानों में कोविड केयर सेंटर बनाये जाए: CM योगी
X

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा है कि 50 व्यक्तियों से अधिक क्षमता वाले उद्योगों व संस्थानों में कोविड केयर सेंटर (Covid Care Center) स्थापित कर उनमें कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जाए। इसका रख-रखाव सम्बन्धित संस्थान व उद्योग करेंगे। वहां ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen Cylinder) सहित अन्य मेडिकल व्यवस्थाएं (Medical Arrangements) सुनिश्चित करायी जाएंगी ।

आज अपने मुजफ्फरनगर के दौरे के दौरान उन्होंने कोरोना प्रबन्धन, बचाव एवं उपचार कार्यों की समीक्षा की। इसके पूर्व, उन्होंने इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर (ICCC) का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने आईसीसीसी के कार्मिकों से होम आइसोलेशन के मरीजों से संवाद एवं टेलीकन्सलटेंसी, मेडिकल किट का वितरण आदि के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की लड़ाई में आईसीसीसी की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसके माध्यम से कोरोना प्रबन्धन एवं नियंत्रण के कार्यों को कण्ट्रोल एवं माॅनीटर किया जा रहा है।

मनोबल के साथ करना होगा काम

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी को कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में मजबूती के साथ मनोबल बनाए रखते हुए कार्य करना है। टीम वर्क के साथ काम करने पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि इससे बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे। कोविड को प्रत्येक दशा में मात देने के लिए हमें कोविड से 10 कदम आगे रहने की आवश्यकता है।

CM योगी ने मीडिया से वार्ता करते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के पॉजिटिविटी रेट (Corona Positivity Rate) में लगातार कमी आ रही है। उन्होंने कहा कि पॉजिटिविटी रेट एक समय प्रदेश में 16.5 प्रतिशत था, जो आज घटकर मात्र 3.5 प्रतिशत रह गया है।

सबसे अधिक जांच करने वाला राज्य है यूपी

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश, देश में सर्वाधिक कोविड जांच करने वाला राज्य है। प्रदेश में अब तक 4.5 करोड़ कोविड टेस्ट किये जा चुके हैं। इस समय प्रदेश में कोविड टेस्ट कार्य युद्धस्तर पर जारी है। उन्होंने कहा कि आपदा के समय धैर्य ही हमारा मित्र होता है। हम लोगों को, डाॅक्टर, हेल्थवर्कर्स, फ्रण्टलाइन वाॅरियर्स तथा जनता के मनोबल को बढ़ाना चाहिए।

थर्ड वेव को लेकर सतर्क है सरकार

मुजफ्फरनगर में 4 आक्सीजन प्लांट पहले से संचालित हैं तथा 06 नये ऑक्सीजन प्लांट प्रस्तावित किये गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि थर्ड वेव की आशंका को ध्यान में रखते हुए प्रदेश सरकार पूरी तरह से सतर्क है। इसमें बच्चों को संक्रमण से बचाने के लिए पीडियाट्रिक आईसीयू (पीकू) सभी जनपदों में स्थापित किये जा रहे हैं तथा इसके कुशल संचालन के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किये गये हैं।

उन्होंने कहा कि हाई रिस्क कैटेगरी वाले लोग, जिसमें 60 वर्ष से ऊपर के लोग, 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे, गर्भवती महिलाएं, कमजोर इम्युनिटी तथा एक से अधिक बीमारी से ग्रसित लोग शामिल हैं, वह घर से बाहर न निकलें तथा घर में भी मास्क का उपयोग करें।

मुफ्त उपचार की व्यवस्था करने के निर्देश

योगी ने कहा कि ब्लैक फंगस के साथ ही पोस्ट कोविड हेतु अलग वाॅर्ड बनाकर उनके लिए मुफ्त उपचार की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि हमारे लिए प्रत्येक व्यक्ति की जान महत्वपूर्ण है और उसकी ऊर्जा का उपयोग समाज व राष्ट्र के हित में किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जरूरतमन्दों को प्रत्येक जनपद में कम्युनिटी किचन के माध्यम से भोजन की व्यवस्था करा रही है।

इसके अलावा, श्रमिक, प्रतिदिन मजदूरी करने वाले, स्ट्रीट वेण्डर, कुली, माली, पल्लेदार, नाई, धोबी, मोची इत्यादि सभी लोगों जो दिन प्रतिदिन की आजीविका पर आश्रित हैं उनको 1,000 रुपये मासिक भरण-पोषण भत्ता देने की स्वीकृति दी गयी है। मुख्यमंत्री ने ग्राम रामपुर में कंटेनमेंट जोन का निरीक्षण के दौरान कहा कि मास्क व सोशल डिस्टेंसिग का पालन प्रत्येक दशा में किया जाये। तथा कंटेनमेंट जोन में सख्ती के साथ कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन कराया जाए।

Shreya

Shreya

Next Story