महीने के अंत तक UP में बड़ी तैयारी: कोरोना से ऐसे लड़ेगी योगी सरकार, दिए निर्देश

मुख्यमंत्री ने अपनी टीम 11 के साथ आज फिर बैठक की। मुख्यमंत्री ने क्वारंटीन सेन्टर में साफ-सफाई के बेहतर प्रबन्ध के निर्देश दिए।

श्रीधर अग्निहोत्री

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण के लिए विशेष सजगता और सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने एल-1, एल-2 तथा एल-3 कोविड अस्पतालों में 52 हजार बेड की व्यवस्था तथा 20 मई, तक 25,000 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था करने के निर्देश देते हुए कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि माह के अन्त तक कोविड अस्पतालों में 01 लाख बेड उपलब्ध हो जाएं।

प्रवासी कामगार की वापसी को लेकर विशेष सावधानी बरतने के निर्देश

उन्होंने कहा कि मेडिकल इंफेक्शन पर प्रभावी नियंत्रण के साथ-साथ यह भी सुनिश्चित कराना आवश्यक है कि मण्डियों के माध्यम से संक्रमण का प्रसार किसी भी दशा में न होने पाए। आगामी 10 दिनों में बाहर से प्रदेश में बड़ी संख्या में प्रवासी कामगार एवं श्रमिक भी आएंगे। इसलिए हर स्तर पर विशेष सावधानी और सतर्कता बरतते हुए पूरी जवाबदेही के साथ कार्य किया जाए।

सीएम योगी ने की कोविड टीम 11 के साथ बैठक

मुख्यमंत्री ने अपनी टीम 11 के साथ आज फिर बैठक की। इसकी जानकारी देते हुए अपर मुख्यसचिव गृह एवं प्रमुख सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने क्वारंटीन सेन्टर में साफ-सफाई के बेहतर प्रबन्ध के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कम्युनिटी किचन व्यवस्था को और अधिक प्रभावी व सुदृढ़ बनाया जाए।

ये भी पढ़ेंः यूपी के ये चार दिन: देशभर से लौटे 3.25 लाख मजदूर, बनाया ये रिकॉर्ड

होम क्वारंटीन किए गए मजदूरों को राशन किट उपलब्ध कराएं

होम क्वारंटीन के लिए घर भेजे जाने वाले प्रवासी कामगार एवं श्रमिकों को राशन किट उपलब्ध करायी जाए। निराश्रित लोगों को राशन किट के साथ-साथ एक-एक हजार रुपए का भरण-पोषण भत्ता भी दिया जाए।

कोई भी पैदल, साइकिल या बाइक से न करें यात्रा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा हैं कि यह सुनिश्चित कराया जाए कि कोई भी पैदल अथवा साइकिल या बाइक आदि से यात्रा न करें। ऐसे लोग जहां भी मिलें उन्हें वहीं रोककर उनका नाम पता आदि सम्पूर्ण विवरण दर्ज करते हुए मेडिकल चेकअप के बाद उनके जनपद में भेजने की व्यवस्था की जाए। यह सुनिश्चित कराया जाए कि ऐसे लोगों का क्वारंटीन सेन्टर में स्वास्थ्य परीक्षण अवश्य किया जाए। उन्होंने प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों के साथ हर स्तर पर सम्मानजनक व्यवहार किए जाने के निर्देश दिए।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।