यहां CMO साहेब दिन-रात बहा रहे पसीना, लेकिन उनके अपने ही लगा रहे पलीता

राजधानी लखनऊ के सीएमओ डॉ. जीएस वाजपेयी ने ठान लिया है कि वह यहां की स्वास्थ्य व्यवस्था को पटरी पर लाकर रहेंगे। उनके काम करने के तौर तरीके से तो यही लगता है।

Published by tiwarishalini Published: November 18, 2017 | 2:50 pm
Modified: November 18, 2017 | 3:15 pm

लखनऊ: राजधानी लखनऊ के सीएमओ डॉ. जीएस वाजपेयी ने ठान लिया है कि वह यहां की स्वास्थ्य व्यवस्था को पटरी पर लाकर रहेंगे। उनके काम करने के तौर तरीके से तो यही लगता है।

सीएमओ डॉ. जीएस वाजपेयी अक्सर ही सीएचसी और पीएचसी का जायजा लेने अचानक वहां पहुंच जाते हैं। दिन तो छोड़िये वे रात में भी सीएचसी-पीएचसी का निरीक्षण कर रहे हैं। सीएमओ साहब की तेजी को देखकर हॉस्पिटल के डॉक्टर से लेकर स्टाफ में खलबली है। बीती रात भी सीएमओ वाजपेयी एक्टिव दिखे।

उन्होंने अपनी टीम के साथ मोहनलालगंज, गोसाईगंज और सरोजनी नगर सामुदायिक केंद्रों का निरीक्षण किया। सीएमओ साहब ने कब और कितने बजे किस सीएचसी का निरीक्षण किया, यह newstrack.com आपको बता रहा है। किन सीएचसी पर क्या खामियां मिली है, यह जानकारी सीएमओ कार्यालय ने अभी तक मुहैया नहीं कराई है। उनका कहना है कि इस बार कुछ बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है।

यह भी पढ़ें … लापरवाही ! CMO के निरीक्षण में यूसीएचसी के 52 में 15 कर्मचारी नदारद

आप भी जानिए सीएमओ अपनी टीम के साथ कितने बजे और कहां थे …

मोहनलालगंज सीएचसी (समय: रात 11:00 बजे)
सीएमओ डॉ. वाजपेयी ने मोहनलालगंज सीएचसी का निरीक्षण किया। मौके पर डॉक्टरों से जरूरी पूछताछ कर मरीजों को सही इलाज मुहैया कराने के निर्देश दिए। यहां सफाई व्यवस्था ठीक नहीं थी वार्ड में तथा आसपास गंदगी थी। ऑक्सीजन सिलेंडर में फेस मास्क गंदा था। स्टाफ निर्धारित ड्रेस में नहीं था। अधीक्षक मुख्यालय पर निवास नहीं करते हैं। बायोमेडिकल वेस्ट एक ही जगह इकठ्ठा किया जा रहा था।

गोसाईगंज सीएचसी (समय रात: 12:30 बजे)
यहां पर सीएमओ डॉ. वाजपेयी आधी रात को पहुंचे। उन्होंने कर्मचारियों का अटेंडेंस रजिस्टर देखा। हॉस्पिटल में अधिकारियों की लिस्ट वाले बोर्ड पर नजर डाली। अधीक्षक मुख्यालय पर निवास नहीं करते हैं। इसके अलावा परिसर की सफाई व्यवस्था को लेकर कर्मचारियों को फटकार भी लगाई।

सरोजनी नगर सीएचसी (समय: रात 02:30 बजे)
सीएमओ यहां पर एकाएक पहुंचे। सीएचसी की हर चीजों के बारे में देखा कि यहां रात में किस तरह से काम किया जाता है। अधीक्षक मुख्यालय पर निवास नहीं करते हैं। सफाई व्यवस्था संतोषजनक नहीं थी यहां जो ड्यूटी चार्ट लगाया गया है उसमें सभी डॉक्टर अपनी मर्जी से ड्यूटी बदल दते हैं। ओपीडी में बाहरी जांच और दवाओं के पर्चे मिले, जो अत्यंत ही आपत्तिजनक हैं। अधीक्षक को इस संबंध में रिपोर्ट तलब करने को कहा गया है।

सीएमओ के निरीक्षण के समय एब्सेंट पाए गए कार्मिकों को नोटिस देते हुए मांगा है और एब्सेंट स्टाफ को चेतावनी जारी की है।

यह भी पढ़ें … ​राजधानी में दो शिफ्टों में OPD सेवा शुरू, CMO की टीम ने लिया जायजा

इससे पहले भी इन जगहों पर रात में कर चुके हैं निरीक्षण
नगराम पीएचसी (तारीख: 31 अक्टूबर, समय: रात 10 से 11 बजे के बीच)
मोहनलाल गंज पीएचसी (तारीख: 31 अक्टूबर, समय: रात 12 बजे के बीच 2 बजे)

डॉ. जीएस वाजपेयी को नगराम पीएचसी दौरे पर कई लापरवाही दिखी। वहीं मोहनलालगंज सीएचसी के औचक निरीक्षण में ड्यूटी में तैनात कर्मचारी अपनी गाड़ियों को गेट के अंदर रखकर बकायदा सो रहे थे। इस बाबत संबंधित के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। डॉक्टर्स भी अपनी सीट पर नहीं थे।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App