×

Sonbhadra: दुष्कर्म पीड़ित मासूम के मेडिकल में लापरवाही बरतने वालों पर गिरेगी गाज, CMO ने DM को सौंपी रिपोर्ट

Sonbhadra News Today: दुष्कर्म पीड़ित मासूम के मेडिकल में लापरवाही बरतने मामले को गंभीरता से लेते हुए सीएमओ ने डीएम चंद्रविजय सिंह को सौंप दी है।

Kaushlendra Pandey
Updated on: 21 Sep 2022 1:53 PM GMT
Sonbhadra News In Hindi
X

दुष्कर्म पीड़ित मासूम के मेडिकल में लापरवाही बरती। (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra News: जिला अस्पताल में व्याप्त खामियों को लेकर लगातार दी जा रही चेतावनी के बावजूद, दुष्कर्म पीड़ित मासूम के मेडिकल में बरती गई लापरवाही और आला अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद, लगभग साढ़े तीन घंटे बाद हुए मेडिकल को लेकर, इसके दोषी और जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू हो गई है। मामले को गंभीरता से लेते हुए जहां डीएम चंद्रविजय सिंह ने सीएमओ से पूरी रिपोर्ट तलब की है। वहीं, सीएमओ डॉ. आरएस ठाकुर (CMO Dr. RS Thakur) ने प्रकरण की जांच करते हुए, संबंधितों के उत्तदायित्व के साथ रिपोर्ट डीएम को सौंप दी है। बृहस्पतिवार को मंडलायुक्त योगेश्वर राम मिश्रा भी सोनभद्र पहुंच रहे हैं। माना जा रहा है कि इस मामले में एक-दो दिन बड़ी कार्रवाई सामने आ सकती है।

मामला की उच्च स्तर जांच पर मचा हड़कंप

बताते चलें कि जिला अस्पताल में उपचार में लापरवाही, दलाल किस्म के लोगों द्वारा अस्पताल में भर्ती मरीजों को बरगलाकर, जुगाड़ व्यवस्था के जरिए चलाए जा रहे अस्पतालों में शिफ्ट कराकर उनका आर्थिक शोषण कराने, इसमें अस्पताल के कुछ कर्मियों की संलिप्तता, जिला अस्पताल परिसर में ही संचालित जच्चा-बच्चा अस्पताल में एक कथित नर्स की रात में कुछ चिकित्सकों द्वारा जबरिया गाने पर नृत्य कराने और उसको लेकर एक कथित वीडियो वायरल होने जैसे मामलों के बाद, अब दुष्कर्म पीड़िता मासूम के मेडिकल को लेकर पुलिस को तीन घंटे से भी अधिक समय तक इधर-उधर टरकाने का मामला आने के बाद, उच्च स्तर पर हड़कंप मच गया है।

जांच पूरी कर डीएम को रिपोर्ट सौंप दी गई है: सीएमओ

डीएम ने प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए जहां सीएमओ से पूरे मामले की जांच और इससे जुड़े जिम्मेदारों के उत्तरदायित्व को लेकर रिपोर्ट तलब कर ली है। वहीं, सीएमओ की तरफ से भी इसकी एक रिपोर्ट डीएम को सौंप दी गई है। सेलफोन पर सीएमओ डा. आरएस सिंह (CMO Dr. RS Thakur) ने बताया कि जांच पूरी कर डीएम को रिपोर्ट सौंप दी गई है। प्रकरण में कार्रवाई डीएम के स्तर से की जाएगी। बताते चलें कि इससे डीएम के निरीक्षण में की गई खामियों को लेकर जहां कई चिकित्सकों-कर्मियों को नोटिस जारी की गई है।

वहीं सीएमएस की तरफ से दी गई नोटिस में डिप्टी सीएम के आगमन के दिन भी, सफाई सेवाप्रदाता द्वारा लापरवाही बरते जाने की बात कही गई है। ऐसे में अब दुष्कर्म पीड़िता के मेडिकल में बरती गई लापरवाही को लेकर किस तरह की कार्रवाई की जाएगी, इसको लेकर जहां सभी की निगाहें आला अधिकारियों पर टिकी हुई हैं। वहीं एसपी डा. यशवीर सिंह की तरफ से इसको लेकर खासी नाराजगी जताई गई है और संबंधितों को पूरे घटनाक्रम से अवगत कराते हुए कार्रवाई के लिए कहा गया है।

यह है प्रकरण

ओबरा थाना क्षेत्र की एक आठ वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता को लेकर गत सोमवार की रात पुलिस, मेडिकल के लिए जिला अस्पताल पहुंची लेकिन वहां मौजूद कोई न कोई बहान बनाकर घंटों टरकाते रहे। एसपी के संज्ञान में मामला आया तो वह भी अस्पताल पहुंच गए लेकिन न तो वहां महिला चिकित्सक का पता चला, न ही वहां मौजूद स्वास्थ्य कर्मियों ने इसे संजीदगी से लेने की जरूरत समझी। संवेदनशील मामला होने और आला अधिकारियों की मौजूदगी के बावजूद, एक वार्ड ब्वाय द्वारा आराम की मुद्रा में चेयर पर पैर फैलाकर मोबाइल चलाने का नजारा दूसरों को भी भौंचक करने वाला रहा।

एसपी के पहुंचने की जानकारी पाकर जहां सीएमओ भागते हुए जिला अस्पताल पहुंचे, वहीं सीएमएस या उनकी तरफ से किसी जिम्मेदार व्यक्ति के न पहुंचने को लेकर चर्चाएं बनी रहीं। जैसे ही डीएम के संज्ञान में मामला आया उन्होंने सीएमओ से रिपोर्ट तलब कर ली। मंगलवार को जब मामला मीडिया की सुर्खियां बना तो हड़कंप मच गया।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story