×

Sonbhadra News: विकास कार्यों में गड़बड़ी की शिकायत, एडीओ पंचायत और सचिव निलंबित

Sonbhadra News: गरीबों को आवास की चाबी देने पहुंचे अपर मुख्य सचिव पंचायती राज मनोज कुमार सिंह को विकास कार्यों और आवास आवंटन में गड़बड़ी बरते जाने की शिकायत मिली।

Complaint of disturbances in development works in Sonbhadra, ADO Panchayat and Secretary suspended
X

सोनभद्र: विकास कार्यों में गड़बड़ी की शिकायत एडीओ पंचायत और सचिव निलंबित

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra News: करमा ब्लॉक (karma block) के सुकृत ग्राम पंचायत में गरीबों को आवास की चाबी देने पहुंचे अपर मुख्य सचिव पंचायती राज मनोज कुमार सिंह को विकास कार्यों और आवास आवंटन में गड़बड़ी बरते जाने की शिकायत मिली। इसको गंभीरता से लेते हुए उन्होंने एडीओ पंचायत करमा राम शिरोमणि पाल और ग्राम पंचायत विकास अधिकारी दीपक कुमार सिंह को निलंबित करने का निर्देश दिया।

देर रात डीडीओ रामबाबू त्रिपाठी की तरफ से सेक्रेटरी के निलंबन की कार्रवाई कर दी गई। वहीं एडीओ पंचायत के खिलाफ संयुक्त निदेशक पंचायती राज मिर्जापुर (mirzapur) की तरफ से होने वाली निलंबन की कार्रवाई का इंतजार किया जा रहा था। समाचार दिए जाने तक विकास कार्यों को लेकर अपर मुख्य सचिव की अधिकारियों के साथ सर्किट हाउस में बैठक जारी थी।

आवासों की चाबी सौंपने का कार्यक्रम

बताते चलें कि सुकृत में मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत निर्मित बारह आवासों की चाबी सौंपने का कार्यक्रम था। दोपहर बाद बतौर मुख्य अतिथि अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह सुकृत पहुंचे और पूजन कर लाभार्थियों को आवास की चाबी सौंपी। बताते हैं कि जब उन्होंने वहां मौजूद ग्रामीणों से विकास कार्यों के बारे में जानकारी ली तो वहां मौजूद प्रधान एवं अन्य ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत सचिव तथा एडीओ पंचायत पर लापरवाही बरते जाने का आरोप लगाया। कुछ ग्रामीणों ने आवास आवंटन में भी गड़बड़ी बरते जाने की शिकायत की ।

इस पर उन्होंने संबंधित अधिकारियों से जानकारी चाही तो संतोषजनक जवाब नहीं मिल सका। इसको गंभीरता से लेते हुए उन्होंने तत्काल सुकृत के ग्राम पंचायत विकास अधिकारी दीपक सिंह और करमा के एडीओ पंचायत रामशिरोमणि पाल को निलंबित करने के निर्देश दिया। हालांकि कार्रवाई की जानकारी मीडिया में न आने पाए इसको लेकर अधिकारियों की तरफ से पूरी गोपनीयता बरती जाती रही। देर रात तक अधिकारियों के फोन घनघनाए जाते रहे। उनको मैसेज भी किया गया लेकिन कोई जवाब नहीं मिला।

एडीओ पंचायत और सेक्रेटरी के निलंबन का निर्देश

आवासों की चाबी सौंपने के कार्यक्रम के बारे में भी कोई सूचना उपलब्ध नहीं कराई गई। रात नौ बजे के करीब सेलफोन पर हुई वार्ता में अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह की तरफ से एडीओ पंचायत और सेक्रेटरी के निलंबन का निर्देश दिए जाने की पुष्टि की गई। बताया कि सचिव के निलंबन की कार्रवाई हो गई है। एडीओ पंचायत के निलंबन की कार्रवाई भी अविलंब करते हुए, जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं।

बताते हैं कि रामशिरोमणि पाल की 31 मई को रिटायरमेंट है। इसको देखते हुए उन्हें कार्यालय से अटैच किया गया था। बृजेश सिंह को वहां के एडीओ पंचायत का प्रभार भी सौंपे जाने की जानकारी सामने आई थी। बताया जाता है कि शुक्रवार की शाम अचानक से राम शिरोमणि पाल को करमा के एडीओ पंचायत का चार्ज सौंप दिया गया और शनिवार को उनके निलंबन की कार्रवाई सामने आ गई। इसको लेकर तरह-तरह की चर्चा बनी रही।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story