×

राज बब्बर- वर्दी में गुनाहगार घूम रहे, एनकाउंटर नहीं यह योगी सरकार की गुनाह नीति

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राज बब्बर सोमवार (5 फरवरी) को फोर्टिस अस्पताल पहुंचे। उन्होंने कहा, ''एनकाउंटर नहीं यह योगी सरकार की गुनाह की नीति है। वर्दी में गुनाहगार घूम रहे है। यह आदमी को बंदूक बना दे। सुमित विजेंद्र व जितेंद्र गुनहगार नहीं असली बदमाश पुलिस की वर्दी में छिपे लोग हैं। इनका एनकाउंटर होना चाहिए।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 5 Feb 2018 2:33 PM GMT

राज बब्बर- वर्दी में गुनाहगार घूम रहे, एनकाउंटर नहीं यह योगी सरकार की गुनाह नीति
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नोएडा: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राज बब्बर सोमवार (5 फरवरी) को फोर्टिस अस्पताल पहुंचे। उन्होंने कहा, ''एनकाउंटर नहीं यह योगी सरकार की गुनाह की नीति है। वर्दी में गुनाहगार घूम रहे है। यह आदमी को बंदूक बना दे। सुमित विजेंद्र व जितेंद्र गुनहगार नहीं असली बदमाश पुलिस की वर्दी में छिपे लोग हैं। इनका एनकाउंटर होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि सरकार ने ऐसे-ऐसे लोगों को वर्दी दी हुई है, जो दागी है 8-8 महीने जेल में रहकर आ रहे है। यह रक्षक नहीं भक्षक है। पूरा थाना सस्पेंड होना चाहिए।

राज बब्बर ने योगी सरकार की एनकाउंटर नीति पर कहा

राज बब्बर ने कहा कि 'रिकार्ड देख लिया जाए 10 माह में 900 एनकाउंटर। हर दिन किसी न किसी शहर में एनकाउंटर किया जा रहा है।' उन्होंने बताया कि 'यह दहशत फैलाने वाले गुंडे है। सरकार की यह नियत बन चुकी है। यह रंजिश नहीं बल्कि एनकाउंटर है। रंजिश 2 लोगों के बीच होती है। यहां 4-5 पुलिसवाले एक युवक पर गोली चलाते है।' उन्होंने कहा कि 'यहां का कप्तान पहले ही एनकाउंटर की बात से इंकार कर चुके है लेकिन ऐसा हो नहीं सकता। सबूत मिटाए जा रहे है। मैं यहां आया जितेंद्र के परिजनों से मिला। उन्होंने आरोप लगाया कि बिना जांच किए कार फोर्टिस से थाने क्यों ले जाई गई। राज बब्बर बोले 'जाहिर है सब मिले हुए है। जांच टीम अभी आने वाली है। इससे पहले रात 10.30 पर ही कार थाने क्यों ले जाई गई। जमीन से आसमान तक सब गवाह है कि पुलिस ने सारे सबूतों को मिटा दिए होंगे। यह स्थिति तब है जब खुद सत्ता धारी मंत्री आकर परिजनों को आश्वासन दे चुके है।'

जिस प्रदेश के सीएम की जुबान हो 'बस ठोक दो बर्दाशत नहीं- जयंत चौधरी

जयंत चौधरी ने कहा कि प्रदेश में इससे बड़ा दुर्भाग्य नहीं हो सकता है कि यहां बेगुनाहों को गोली मारी जा रही है। वह भी प्रमोशन के लिए। लॉ एंड आर्डर को ध्वस्त कर दिया गया है। आकड़े किसी से छिपे नहीं है। प्रदेश में लूट, दुष्कर्म, हत्या के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। फर्जी मुछभेड़ इन आकड़ों को दबाने का प्रयास है। यह बर्दाश्त नहीं होगा। वह यहां काफी देर तक परिजनों के बीच रहे। साथ ही उन्होंने परिवार के लोगों को आश्वस्त किया। उन्होंने कहा कि इस तरह की गुंड गर्दी बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

योगी सरकार पर कसा तंज

जयंत चौधरी ने योगी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि जिस प्रदेश के मुख्यमंत्री की जुबान ही ऐसी हो जिसमें वह कहते है कि हमें कुछ नहीं चाहिए बस ठोक दो गोली मारो कहीं भी पैर में सीने में। इसका उदाहरण विज्ञापन भी है। जिसमे गुंडागर्दी करने वाले इन लोगों को हीरो बनाया गया। मामले की निष्पक्ष जांच सिर्फ सीबीआई को ही करनी चाहिए। जितेंद्र किसी पॉलिटिकल पार्टी का कार्यकर्ता नहीं। ऐसे में फर्जी मुठभेड़ कर यह क्या दिखाना चाहते है। जितेंद्र युवा है पूरी जिंदगी उसके सामने है। यह लोग रक्षक हो ही नहीं सकते। यह सब बराबर के गुनहगार है। सारी हदो को पार कर चुके है।

सियासी रंग के बीच वेंटीलेटर से आईसीयू वॉर्ड में शिफ्ट हुआ जितेंद्र

शनिवार रात फर्जी मुठभेड़ में गंभीर रुप से घायल हुए जितेंद्र की हालत में पहले से सुधार है। जितेंद्र के गले में गोली लगी थी। 24 घंटे तक वेंटीलेटर पर रखने के बाद सोमवार को उसे आईसीयू में शिफ्ट किया गया। यहा उसने आंख खोली। डाक्टरों के मुताबिक जितेंद्र की हालत में सुधार है। उसने इशारो में परिजनों से बातचीत की। डॉक्टरों के मुताबिक फिलहाल, रिकवरी करने में समय लगेगा। उधर, जितेंद्र के परिजनों के साथ सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण भी फोर्टिस अस्पताल में मौजूद है। ऐसे में अस्पताल में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। ताकि, यहां मौजूद लोग हिंसक न हो।

वहीं मामले को राजनैतिक तूल देने के लिए विपक्षी पार्टियों के कद्दावर नेताओं के आने का सिलसिला लगातार जारी है। वह यहां परिजनों के बीच जाकर उन्हें आवस्त कर रहे है। उनके बीच समय बिता रहे है। साथ ही अस्पताल के बाहर बने मैदान में बैठकर बातचीत भी कर रहे है। उन्होंने स्पष्ट तौर पर योगी सरकार को गुंडा सरकार बता दिया है।

राज्य सभा में उठा मुद्दा

नोएडा मामले की तल्ख आवाज की गूंज सोमवार को संसद में भी उठी। यहां सपा नेताओं ने जोरदार हंगामा किया। लिहाजा संसद को दो बजे तक स्थगित भी किया गया। बतौर अध्यक्ष महोदय से मामले में चर्चा को लेकर समय भी मांगा गया।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story