Top

UP में CM का चेहरा लेकर उतरेगी कांग्रेस, पार्टी में जारी है मंथन

Sanjay Bhatnagar

Sanjay BhatnagarBy Sanjay Bhatnagar

Published on 16 Jun 2016 3:24 PM GMT

UP में CM का चेहरा लेकर उतरेगी कांग्रेस, पार्टी में जारी है मंथन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कांग्रेस मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करके चुनाव लड़ेगी। यह चेहरा वक्त आने पर घोषित किया जाएगा। इस तरह यह तय हो गया है, कि यूपी में बीजेपी को छोड़ कर बाकी तीनों बड़ी पार्टियां सीएम के चेहरे के साथ चुनाव मैदान में उतरेंगी। बीजेपी में अभी यह फैसला होना बाकी है।

up election-congress face-ghulam nabi आजाद ने कहा कांग्रेस सीएम घोषित करके लड़ेगी चुनाव

कांग्रेस घोषित करेगी सीएम

-कांग्रेस आलाकमान जल्द ही यूपी के लिए सीएम का चेहरा तय करेगा।

-कांग्रेस के नवनियुक्त प्रदेश प्रभारी ने कहा कि सीएम बनने योग्य चेहरे कई हैं, इन पर मंथन चल रहा है।

-राहुल के यूपी संभालने की कोई संभावना नहीं है, वह कभी भी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जा सकते हैं।

-प्रियंका के सक्रिय राजनीति में आने के सवाल पर आजाद ने कहा कि वह रायबरेली, अमेठी और प्रतापगढ़ को देख रही हैं।

-आजाद ने कहा कि लोग चाहते हैं कि प्रियंका पूरा प्रदेश देखें। लेकिन फिर टोका कि प्रियंका के सवाल को और आगे न खींचा जाए।

-निर्मल खत्री की अनुपस्थिति पर कहा कि उन्हें स्लिप डिस्क की प्रॉब्लम है, इसलिए कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके।

-पीके के सवाल पर आजाद ने कहा कि हर पॉलिटिकल पार्टी किसी एजेंसी की मदद लेती है, और उसके इनपुट्स का फायदा उठाती है।

up election-congress face-ghulam nabi कांग्रेस नेताओं के साथ आजाद

बढ़ी सांप्रदायिकता

-आज़ाद ने कहा कि किसानों की आत्महत्या और महंगाई पर सरकार का ध्यान नहीं हैं।

-समस्याओं समाधान के बजाय बीजेपी देश में सांप्रदायिक माहौल खराब कर रही है।

-आजाद ने कहा पहले संसद में 4-5 साल में एक बार सांप्रदायिकता पर चर्चा होती थी।

-अब साल में तीन बार साम्प्रदायिकता पर चर्चा हुई, और एक बार भी पीएम मोदी सदन में मौजूद नहीं रहे।

-आजाद ने कहा कि वह चौथी बार यूपी कांग्रेस के प्रभारी बने हैं, और हर बार नई चुनौतियां सामने रही हैं।इस बार सांप्रदायिकता हावी है।

Sanjay Bhatnagar

Sanjay Bhatnagar

Writer is a bi-lingual journalist with experience of about three decades in print media before switching over to digital media. He is a political commentator and covered many political events in India and abroad.

Next Story