मेरठ में कोरोना का हालः बढ़ें इतने मरीज, DM बोले- कम करो मृत्यु दर

मेरठ में कोरोना मरीजों क बढ़ती संख्या पर चिंता जताते हुए जिलाधिकारी के बालाजी ने आज कहा कि कोरोना महामारी के कारण हो रही मृत्यु दर में कमी लायी जाये।

Published by Aradhya Tripathi Published: September 15, 2020 | 8:38 am
Meerut DM Meeting

DM ने की बैठक (फाइल फोटो)

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में सोमवार को 2707 सैंपलों की जांच में 126 लोगों में संक्रमण मिला। फिलहाल 2008 मरीजों की जांच रिपोर्ट प्रतीक्षा में है। कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 6247 हो चुकी है।

जारी कोरोना का कहर

सीएमओ डॉ राजकुमार ने बताया कि 571 मरीजों को होम आइसोलेशन दिया गया है। 77 मरीजों को डिस्चार्ज कर दिया गया। अब तक 4490 मरीज ठीक होकर घर पहुंच चुके हैं। मेरठ में सक्रिय मरीजों की संख्या 1598 है। इधर, मरीजों की संख्या बढऩे से रिकवरी रेट में ठहराव आया है।

ये भी पढ़ेें-    गृह मंत्री अमित शाह ने भारत रत्न एम विश्वेश्वरैया को किया याद, जयंती पर दी श्रद्धांजलि

corna
जिले में जारी कोरोना का कहर (फाइल फोटो)

सीएमओ ने बताया कि किला परीक्षितगढ़ निवासी 71 साल के पुरुष, रोशनपुर डोरली की 66 साल की महिला,अंबेडकर नगर रिठानी के 52 साल के पुरुष, हरिलोक साकेत निवासी 47 साल के पुरुष और ब्रह्मपुरी निवासी के 65 साल की महिला की मौत हो गई। पिछले 24 घंटें में हुई इन मौतों के बाद मेरठ में कोरोना के मरीजों की मौत का आंकड़ा 159 पर पहुंच गया है।

कोरोना से हो रही मृत्यु दर में लाई जाए कमी

Meerut DM Meeting
DM ने की बैठक (फाइल फोटो)

मेरठ में कोरोना मरीजों क बढ़ती संख्या पर चिंता जताते हुए जिलाधिकारी के बालाजी ने आज कहा कि कोरोना महामारी के कारण हो रही मृत्यु दर में कमी लायी जाये। बचत भवन में कोरोना महामारी के प्रभावी नियंत्रण के संबंध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी व अन्य चिकित्सा अधिकारियों के साथ हुई बैठक में उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट जोन में बैरिकेडिंग की जाये व कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग को प्रभावी ढ़ग से किया जाये।

ये भी पढ़ेें-    पीएम नरेंद्र मोदी आज बिहार को देंगे सात परियोजनाओं की सौगात

जिलाधिकारी ने कहा कि कोरोना धनात्मक मरीज मिलने के बाद बनाये गये कंटेनमेंट जोन में डोर-टू-डोर सर्वे अभियान प्रभावी ढ़ग से किया जाये तथा उसमें एक्टिव केस सर्च का कार्य 48 घंटे में पूर्ण किया जाये। उन्होने कहा कि प्राईवेट अस्पतालों में दिये जा रहे उपचार की समीक्षा की जाये तथा कहा कि प्राईवेट अस्पताल सरकार द्वारा जारी गाईडलाईन के अनुसार ही चार्ज करे यह सुनिष्चित किया जाये।

CMO ने दी जिले की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की जानकारी

Meerut DM Meeting
DM ने की बैठक (फाइल फोटो)

बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राजकुमार ने बताया कि जनपद में वर्तमान में करीब 800 कंटेनमेंट जोन है। उन्होने बताया कि किसी क्षेत्र में एक मरीज मिलने पर उसके आसपास के 100 मीटर के एरिया को कंटेनमेंट जोन बनाया जाता है तथा एक से अधिक मरीज मिलने पर 250 मीटर के एरिया को कंटेनमेंट जोन बनाया जाता है।

ये भी पढ़ेें-    आज 11.30 बजे होगी कर्नाटक मंत्रिमंडल की बैठक

उन्होने बताया कि कंटेनमेंट जोन में घर-घर सर्वे अभियान चलाया जाता है तथा 48 घंटे में एक्टिव केस सर्च करना होता है। उन्होने रैपिड रेस्पॉन्स टीम आदि की जानकारी जिलाधिकारी को दी। इस अवसर पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ पूजा शर्मा सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

रिपोर्ट-  सुशील कुमार

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App