×

Lucknow News: C-TET परीक्षा के सॉल्वर गैंग का सदस्य गिरफ्तार, लखनऊ में 'द मास्टर हब' नाम से चलता है कोचिंग

Lucknow News: सी- टेट में सक्रिय सॉल्वर गैंग का एक और सदस्य बुधवार को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया। पकड़ा गया आरोपी अमित सिंह इंदिरानगर का रहने वाला है।

Sunil Mishraa
Published on: 18 Jan 2023 11:33 AM GMT
X

 लखनऊ: 'द मास्टर हब' नाम से कोचिंग चलाने वाला C-TET परीक्षा के सॉल्वर गैंग का सदस्य गिरफ्तार

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow News: सी- टेट (Central Teacher Eligibility Test) में सक्रिय सॉल्वर गैंग का एक और सदस्य बुधवार को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया। पकड़ा गया आरोपी अमित सिंह इंदिरानगर का रहने वाला है। वो लखनऊ में ही द मास्टर हब नाम से कोचिंग सेंटर चलाता है। वो कॉमर्स से पीएचडी डिग्री ले चुका है। एसटीएफ ने उसे कलेवा चौराहे से गिरफ्तार किया है।

एसएसपी एसटीएफ विशाल विक्रम सिंह के मुताबिक जानकारी मिली कि मेरठ में सी टेट परीक्षा के पेपर लीक मामले का आरोपी लखनऊ में रह रहा है। इसपर टीम ने उसकी तलाश शुरू की। बुधवार को पता चला की आरोपी गाजीपुर थानाक्षेत्र में कलेवा चौराहे पर मौजूद है। इसपर टीम ने उसे दबोच लिया। उसके पास से सी टेट परीक्षा के 137 सेट प्रश्नपत्र बरामद हुए।

पीएचडी करके जॉब नही मिली तो बन गया सॉल्वर

गिरफ्तार अमित सिंह ने पुलिस को बताया कि कामर्स से पीएचडी किया है। 'द मास्टर हब' नाम से लखनऊ में कोचिंग सेन्टर चलाता है। बताया कि हम लोगों का एक संगठित गिरोह है। जिसमें महक सिंह, विवेक शर्मा उर्फ विक्की, पारितोष तिवारी, लक्ष्मीनारायण सिंह व विनय राय शामिल है। हम लोग एक साथ मिलकर होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं का पेपर लीक कराकर अभ्यर्थियों से मोटी रकम वसूलते हैं।

लखनऊ में द मास्टर हब कोचिंग का संचालक है

2023 में होने वाली सी-टेट परीक्षा का पेपर 12 व 13 जनवरी को परीक्षा शुरू होने के 1 घन्टे पहले लक्ष्मीनारायण सिंह व विनायक राय ने व्हाटसएप से दिया था। इसे मैने महेक सिंह, व कई अन्य लोगो को 2 लाख से 2.50 लाख रूपये लेकर व्हाटसएप के माध्यम से भेजा था। 16 जनवरी को भी हम लोग पेपर आउट कराने वाले थे। लेकिन पुलिस की सक्रियता देखकर हम लोग डर गये और पेपर आउट नही करवा पाये। मैने अपने मोबाइल फोन से व्हाटसएप का पूरा डेटा डिलीट कर दिया था। लेकिन डिलीट करने से पहले मैने 13 जनवरी की परीक्षा का पूरा प्रश्नपत्र अपने दूसरे मोबाइल में सुरक्षित कर दिया था जो अभी भी मौजूद है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story