Top

तीमारदारों ने डॉक्टर-मेडिकल कर्मियों को पीटा, कवरेज करने पहुंचे पत्रकार से कोतवाल ने की अभद्रता

दबंगों ने डॉक्टरों व मेडिकल कर्मियों पर हमला बोल दिया, वहीं अस्पताल में बनी पुलिस चौकी पर तैनात पुलिस मूक दर्शक बनी रही।

Anurag Pathak

Anurag PathakReporter Anurag PathakChitra SinghPublished By Chitra Singh

Published on 4 May 2021 11:14 AM GMT

तीमारदारों ने डॉक्टर-मेडिकल कर्मियों को पीटा, कवरेज करने पहुंचे पत्रकार से कोतवाल ने की अभद्रता
X

डॉक्टर व मेडिकल कर्मी

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बहराइच: जिला अस्पताल में देर रात डॉक्टरी कराने आए कुछ दबंग तीमारदारों ने ड्यूटी पर तैनात डॉक्टरों (Doctor) व मेडिकल कर्मियों की पिटाई कर दी, जिसको लेकर देर रात नाराज डॉक्टरों ने मेडिकल कर्मियों के साथ एमरजेंसी के बाहर धरना दे दिया। मेडिकल कर्मियों का आरोप है कि जिला अस्पताल में बनी पुलिस चौकी पर पुलिसकर्मी तैनात थे। उनको आवाज देने के बावजूद भी उन पुलिस वालों ने मेडिकल कर्मियों की एक न सुनी और दबंगों ने डॉक्टरों व मेडिकल कर्मियों को जमकर पिटाई की।

मामले को बढ़ते देख मौके पर पहुंचे नगर कोतवाल ने मीडिया कर्मियों को कैमरा बंद करने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि मीडिया का काम है झूठ फैलाना। नगर कोतवाल ने कवरेज कर रहे मीडिया कर्मी के कैमरे पर हाथ मारने की भी कोशिश की।

मीडिया कर्मियों से की बदसलूकी

आपको बता दें कि देर रात दबंगों ने डॉक्टरों और मेडिकल कर्मियों पर हमला बोल दिया, वहीं अस्पताल में बनी पुलिस चौकी पर तैनात पुलिस मूक दर्शक बनी रही। यूं पुलिस का मूक दर्शक बन कर खड़े रहना और पुलिस का मीडिया से अभद्रता करना आखिर यह कहां तक जायज है। अब सवाल ये के आखिर पुलिस अक्सर मीडिया वालों से क्यूँ बदसलूकी करने पर आमादा हो जाती है। शायद अपनी नाकामी को छुपाने के इससे बेहतर तरीका बहराइच पुलिस के पास नहीं हैं ।

पुलिस से मांगते रहे मेडिकल कर्मी

पुलिस ने अपनी नाकामयाबी छुपाने के लिए मीडिया के कैमरे को रोकने की लाख कोशिश की, उसके बावजूद भी सच सामने आने से ना रुक सका। इस बात पर खुलासा तो तब हुआ जब मेडिकल कर्मी चीख-चीख कर नगर कोतवाल से चौकी पर पुलिसकर्मी तैनात होने के बावजूद भी आवाज देने पर भी ना सुनने की बात कही।

पत्रकार और नगर कोतवाल के बीच किस बात पर हुई नोकझोंक

अब यह भी जान लीजिए पत्रकार और नगर कोतवाल के बीच में नोकझोंक किस बात को लेकर हुई। तो वीडियो में आप साफ़ तौर पर सुन सकते हैं कि किस तरह से चौकी पर तैनात सिपाही को नगर कोतवाल निखिल श्रीवास्तव फटकार लगा रहे थे। इसी दौरान उन्होंने उसको गालियां देना शुरु कर दी, लेकिन जब उनको अचानक से इस बात का एहसास हुआ कि पत्रकार उनकी इस गैर जिम्मेदाराना हरकत को कैमरे में रिकॉर्ड कर रहे हैं तो उनकी पत्रकारों से नोकझोंक शुरू हो गई।

Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story