Top

आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ फतवा: किया गया इस्लाम से बाहर

zafar

zafarBy zafar

Published on 18 Aug 2016 10:25 AM GMT

आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ फतवा: किया गया इस्लाम से बाहर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बरेली: पाकिस्तानी आतंकी संगठन जमात उद दावा का मुखिया हाफिज सईद इस्लाम से खारिज है और मुसलमान नहीं है। उसका भाषण सुनना या उसकी विचारधारा से किसी तरह का संबंध रखना हराम है। यह फतवा बरेली की दरगाह आला हजरत ने जारी किया है।

मुसलमान नहीं है हाफिज सईद

-दार उल इफ्ता ने अपने फतवे में कहा है कि हाफिज सईद जिस तरह आतंकी हरकतों के लिए उकसाता है, वह गैरइस्लामी है.

-हाफिज की हरकतों से पूरी दुनिया में मुसलमानों को बदनाम और शर्मसार होना पड़ रहा है।

-हापिज सईद अपनी हरकतों और विचारधारा के लिहाज से मुसलमान नहीं है।

-इसलिए मुसलमानों पर वाजिब है कि वो ऐसे शख्स को मुसलमान न मानें और उसकी किसी बात पर यकीन न करें।

-ऐसे शख्स से किसी तरह की ताल्लुक रखना नाजायज है और उसके भाषण सुनना भी हराम है।

-फतवे में कहा गया है कि हाफिज की दिग्भ्रमित आस्था, भ्रमित दृष्टिकोण और विचारधारा से मुसलमान अपने लोगों को दूर रखें।

मांगा था फतवा

-इस बारे में जयपुर के मोहम्मद मोइनुद्दीन ने फतवा मांगा था।

-मोईनुद्दीन ने पूछा था कि हाफिज सईद दिग्भ्रमित आस्था का प्रचारक-प्रसारक और कुफ्र बोलने वाला है, तो क्या उसके भाषण सुनना जायज है।

-गुरुवार को दार उल इफ्ता के मुफ्ती मोहम्मद सलाम बरेलवी ने इस बारे में फतवा जारी किया है।

-फतवे में कहा गया है कि ऐसे व्यक्ति के कोई बात सुनना या वक्त देना हराम है।

zafar

zafar

Next Story