×

ठंड में काशी के महाश्मशान मर्णिकर्णिका घाट पर शवों की लगी कतार

काशी समेत पूरे पूर्वांचल में बर्फीली हवा और कोहरे का कहर पिछले एक हफ्ते से जारी है। दिसंबर के दूसरे हफ्ते में ही पारा लुढ़कने से अब तक प्रदेश में 10 लोगों की मौत हो चुकी हैं। वहीं ठंड मरने वालों का आकड़ा क्या है ये वाराणसी के महाशमशान मर्णिकर्णिका घाट पर शवों की कतार लग गई है। स्थानीय लोग बता रहे है कि मर्णिकर्णिका घाट पर आम दिनों की अपेक्षा शवों में दो गुना वृद्धि हुई है। आलम ये है कि घाट पर शवों की कतार लगी हुई है और शवयात्री अपने शव के दाह संस्कार के लिए कई घंटे इंतजार कर रहे है।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 10 Dec 2016 2:22 PM GMT

ठंड में काशी के महाश्मशान मर्णिकर्णिका घाट पर शवों की लगी कतार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

वाराणसी: काशी समेत पूरे पूर्वांचल में बर्फीली हवा और कोहरे का कहर पिछले एक हफ्ते से जारी है। दिसंबर के दूसरे हफ्ते में ही पारा लुढ़कने से अब तक प्रदेश में 10 लोगों की मौत हो चुकी हैं। वहीं ठंड मरने वालों का आकड़ा क्या है ये वाराणसी के महाश्मशान मर्णिकर्णिका घाट पर शवों की कतार लग गई है।

स्थानीय लोग बता रहे है कि मर्णिकर्णिका घाट पर आम दिनों की अपेक्षा शवों में दो गुना वृद्धि हुई है। आलम ये है कि घाट पर शवों की कतार लगी हुई है और शवयात्री अपने शव के दाह संस्कार के लिए कई घंटे इंतजार कर रहे है।

पूरे पूर्वांचल से अंतिम संस्कार के लिए लाया जाता है शव

-मर्णिकर्णिका घाट जहां शहर के अलावा दूर दराज से भी शवों को अंतिम संस्कार के लिए लाया जाता है।

-इन दिनों पूरे पूर्वांचल में कड़ाके की ठंड पड़ रही हैै।

-इस ठंड में मर्णिकर्णका घाट पर आम दिनों की अपेक्षा शवों की संख्या में वृद्धि हुई है।

-स्थानिय पार्सद दिलीप यादव ने बताया कि आम दिनों 100 से 150 शव यहां आते थे।

-वहीं अब इनकी संख्या बढ़ कर 300 के करीब पहुंच गई है जिसके चलते शवों की कतार लगी जा रही है।

-शव यात्रियों को शव को घाट की सीढ़ियों पर रख कर अंतिम संस्कार के लिए इंतजार करना पड़ रहा है क्योंकि चिता सजाने के लिए स्थान कम पड़ रहा है।

कोहरे के चलते रात मेंं नहीं पहुंच पा रहे शवयात्री

-इस घाट पर अंतिम संस्कार की प्रक्रिया संपन्न कराने वाले डोम राजा के परिवार के सदस्यों का कहना है कि एक तरफ ठंड के चलते भी मरने वालों की संख्या में वृद्धि हुई है।

-दूसरी तरफ ठंडी के चलते लोग रात में शव को लेकर नहीं पहुंच पाते है।

-जिसके चलते पिछले तीन दिनों से शवों की संख्या बढ़ गई है।

-वहीं शवयात्रियों की शिकायत है ठंड से बचने के लिए घाट पर कोई भी व्यवस्था जिला प्रशासन की तरफ से नहीं कराई गई है।

पारा पहुंचा 10 डिग्री

-वाराणसी और पूर्वांचल में अभी तक ठंड से लगभग 5 लोगों की मौत हुई है।

-बीते 24 घंटे में बर्फीली हवाओं और ठंड के कारण प्रतिदिन 1-2 लोगों की मौत हो रही है।

-शुक्रवार को वाराणसी का अधिकतम तापमान सामान्य से 12 डिग्री नीचे चला गया।

-रात में न्यूनतम तामपान 10 डिग्री सेल्सियस पहुंचा।

-ठंड के साथ-साथ कोहरे का भी कहर देखने को मिलेगा।

-ट्रेन और एयरलाइंस पर भी कोहरे का खासा असर पड़ा है।

-करीब 70 से ज्‍यादा ट्रेनें लेट चल रही हैं।

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज...

kashi-1

kashi-3

kashi-4

kashi-6

kashi-8

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story