Top

CM को नहीं है SSP पर भरोसा, मामले की जांच STF से कराने के दिए आदेश

Admin

AdminBy Admin

Published on 15 Feb 2016 5:28 AM GMT

CM को नहीं है SSP पर भरोसा, मामले की जांच STF से कराने के दिए आदेश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: अपने आवास 5-कालिदास मार्ग के पास पाई गई लाश के मामले को सीएम अखिलेश यादव ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने डीजीपी जावीद अहमद को इस मामले की जांच के आदेश अपने सुपरविजन में एसटीएफ से करवाने का आदेश दिया है। टि्वटर पर अखिलेश यादव ने लिखा है कि जल्द से जल्द इस मामले का खुलासा करवाएं और आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार करें।

CM

क्यों नहीं है सीएम को लखनऊ पुलिस पर भरोसा?

- मासूम छात्रा को घर से गायब हुए पांच दिन से ज्यादा हो चुके थे।

- उसकी लोकेशन भी सर्विलांस के जरिए पुलिस को मिल गई थी।

- इसके बावजूद राजधानी पुलिस छात्रा का पता नहीं लगा पाई।

- हाल के दिनों में जितनी भी सनसनीखेज वारदातें हुई हैं, पुलिस अभी तक किसी का खुलासा नहीं कर पाई है।

- हाई जोन सिक्युरिटी में लाश मिलने के बाद अखिलेश राजधानी पुलिस पर भरोसा करके कोई खतरा नहीं उठाना चाहते।

क्या है मामला ?

पांच दिन से लापता आरएलबी इंदिरानगर की स्टूडेंट पूजा (बदला हुआ नाम) की लाश सीएम हाउस से महज 100 मीटर की दूरी पर जंगल में मिली है। उसके हाथ-पैर एक पेड़ से बंधे हुए थे और कपड़े भी फटे हुए थे।पिता ने रेप के बाद हत्या की आशंका जताई है।

रिक्शेवाले की निशानदेही पर मिली लाश

लखनऊ कैंसर संस्थान के अपोजिट पार्क रोड के जंगल में एक रिक्शेवाले की निशानदेही पर लाश मिली है। मौके पर एसएसपी समेत सीनियर ऑफिसर और डॉग स्क्वॉयड और फोरेंसिक एक्सपर्ट भी पहंचे।

क्या है पूरा मामला?

एसएसपी राजेश कुमार पांडेय ने बताया कि

-आगरा एक्सप्रेस वे में सिविल इंजीनियर की बेटी पूजा 10 फरवरी को सुबह आठ बजे साइकिल से स्कूल के लिए निकली थी।

-उसने अपनी मां को बताया था कि उसका साइंस का प्रैक्टिकल है।

-दोपहर दो बजे तक वह अपने घर नहीं पहुंची तो मां ने स्कूल में फोन किया।

-प्रिंसिपल ने बताया कि वह तो आज स्कूल ही नहीं आई। परिजन तुरंत जानकीपुरम थाने पहुंचे।

इस तरह आगे बढ़ी जांच

-लड़की के लापता होने पर परिवार ने जानकीपुरम थाने में एफआईआर कराई।

-पुलिस ने पूजा की तलाश के लिए उसके मोबाइल को सर्विलांस पर लिया।

-सर्विलांस पर उसकी लास्ट लोकेशन पार्क रोड पर दिखाई दी।

-इसके बाद परिजन और पुलिस ने वहां जाकर उसकी तलाश की, लेकिन वह नहीं मिली।

रिक्शेवाले के पास मिला मोबाइल-ब्लेजर

-थक हार कर पुलिस और परिजन लौट गए। इसके बाद अगले दिन पुलिस को पूजा के मोबाइल की लोकेशन हैदरगढ़ बाराबंकी मिली।

-लोकेशन ट्रेस करते हुए जब पुलिस हैदरगढ़ पहुंची तो पता चला कि वह घर एक रिक्शेवाले सुरेंद्र का है जो जियामऊ के पास ही रिक्शा चलाता है।

-14 फरवरी देर रात काफी छानबीन के बाद पुलिस ने रिक्शेवाले को हिरासत में लिया और पूछताछ की तो उसने मोबाइल के बारे में बताया।

-रिक्शेवाले सुरेंद्र ने बताया कि 10 फरवरी कीरात को वह शौच के लिए जंगलों में गया था तो उसने लाश देखी।

-इसके बाद अपने दोस्त दीपू को इस बारे में बताया। दोनों ने बाद में जाकर शव को पेड़ से नीचे उतारा और उसका ब्लेजर और मोबाइल लेकर चले गए।

-डर के कारण पुलिस को इस बात की जानकारी नहीं दी।

कहां है साइकिल और बैग?

-अभी तक पूजा की साइकिल और उसका बैग बरामद नहीं हुआ है। पुलिस इसकी तलाश में जुटी है।

हाई सिक्योरिटी जोन में हत्या?

पूजा की लाश सीएम हाउस से 100 और डीजीपी ऑफिस से महज 200 मीटर की दूरी पर मिली है। हाई सिक्योरिटी जोन में हुई वारदात से एक बार फिर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर गंभीर सवाल खड़े हो गए हैं। यदि वीवीआईपी इलाके में भी कोई सुरक्षित नहीं तो दूर-दराज के लोग भयमुक्त कैसे हो सकते हैं।

नीचे की स्लाइड्स में देखिए, घटनास्थल की कुछ और तस्वीरें...

[su_slider source="media: 9456,9454,9457,9452,9451,9449,9450,9448,9455" width="620" height="440" title="no" pages="no" mousewheel="no" autoplay="0" speed="0"] [/su_slider]

Admin

Admin

Next Story