डिफेंस एक्सपो 2020 : नए भारत में डिफेंस हब बनने जा रहा है देशः राजनाथ सिंह

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह सही समय है कि हम इन शक्तियों का उपयोग एक ऐसी दुनिया बनाने के लिए करें जिसमें शांति की स्थापना की भावना सर्वोपरि हो। हमें और इन शक्तियों का उपयोग कट्टरवादी विचारधाराओं और आतंकवाद को हराने के लिए करना चाहिए।

डिफेंस एक्सपो

लखनऊ। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि नए भारत का निर्माण हो रहा है जिसके परिणाम दिखने लगे हैं। आने वाले समय में देश एक डिफेंस हब बनने जा रहा है। वह डिफेंस एक्सपो 2020 में स्वागत भाषण दे रहे थे।

रक्षामंत्री ने कहा, वह यह भरोसा दिलाते हैं कि हम डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग में इनोवेशन का हिस्सा बनने के लिए युवाओं को हर जरुरी मौका देंगे और उसके लिए यहाँ पर एक मजबूत जमीन भी तैयार करेंगे। उन्होंने अनुरोध किया कि आप ये चुनौती स्वीकार करें और मेक इन इंडिया को सफल बनाने में हमारी मदद करें।

उन्होंने कहा कि डेफेंस एक्सपो दुनिया भर के लीडर्स और इंडस्ट्री कैप्टेंस को भारत आने और यहाँ डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग में दोनों पक्षों के लिए फायदेमंद साझेदारियां बनाने के लिए एक सुनहरा अवसर है। यह नौजवानों के लिए भी एक अवसर है जो अपनी किस्मत को आजमाते हुए अपने सपनों को पूरा करने का हौसला रखते हैं।

मकसद कट्टरवाद व आतंकवाद को हराना

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह सही समय है कि हम इन शक्तियों का उपयोग एक ऐसी दुनिया बनाने के लिए करें जिसमें शांति की स्थापना की भावना सर्वोपरि हो। हमें और इन शक्तियों का उपयोग कट्टरवादी विचारधाराओं और आतंकवाद को हराने के लिए करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि तेजी से बदलते हुए ‘तकनीकी दौर’ में, पार्टनरशिप और प्रोडक्शन को ऊंची उड़ान देने के लिए हम इनोवेशन और आइडियेशन पर जोर देने का काम कर रहे हैं। भारतीयों में हर हालात के अनुरूप खुद को ढालने की एक कला और क्षमता हमेशा मौजूद रहती है जो उनकी जिंदगी से जुड़ी हुई है।

इसे भी पढ़ें

डिफेंस एक्सपो की पूर्व संध्या पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, देखें तस्वीरें

रक्षामंत्री ने कहा कि भारत यह मानता है कि डिफेंस इक्विपमेंट के एक्सपोर्ट को स्ट्रैटेजिक रिक्वायरमेंट के रूप में नही देखा जाना चाहिए, बल्कि इस तरह के एक्सपोर्ट्स के माध्यम से इम्पोर्टिंग नेशन की लिजिटिमेट नीड्स को पूरा करना चाहिए और शांति और सुरक्षा को बनाने में योगदान के रूप में देखना चाहिए।

दुनिया भर की कंपनियां आ रही हैं भारत

उन्होंने कहा कि भारत के पास बड़ा बाजार है। नये टेक्नोलॉजिकल एडवांसमेंट, साफ्टवेयर नो-हाऊ और तेजी से विकसित हो रही डिफेंस इंडस्ट्री को देखते हुए, भारत इस क्षेत्र में एक फैसिलिटेटर और कॉलेबोरेटर के रूप में काम करने के लिए एकदम उपयुक्त स्थान है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत में, किफायती, कारगर, और कामयाब डिफेंस एंड इंडस्ट्रियल सोल्यूशन देने के लिए दुनिया भर से कम्पनियाँ टेक्नोलाजी लीडर्स के माध्यम से मैन्यूफैक्चरिंग हब्स और साफ्टवेयर कंपनीज एमओयू के रास्ते भारत में आ रही हैं।

इसे भी पढ़ें

लखनऊ का डिफेंस एक्सपो ग्लोबल बेंच मार्क बनेगाः राजनाथ सिंह

उन्होंने कहा कि डिफेंस मैन्यूफैक्चरिंग में सहयोग खास महत्त्व रखता है। एक विन विन सिचुएशन बनाने के लिए दुनिया भर की कंपनीज अपनी क्षमता और ताकत को साझेदारियों के माध्यम से आपस में साझा कर रही हैं। अब सप्लाई चेन्स केवल लोकल लेवल पर काम नहीं करती हैं बल्कि अब हर जगह वह ग्लोबल हो रही है।

उन्होंने कहा कि यह बताते हुए खुशी हो रही है कि हमारे डिफेंस एक्सपोर्ट जो 2017-2018 में 66 करोड़ डॉलर के थे अब बढ़कर 2018-2019 में 147 करोड़ डॉलर हो गए हैं। हमारी इडेजिनस और कालेबरेटिव डिफेंस प्रोडक्शन कैपेसिटी में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है।

मेकिंग इंडिया सबसे महत्वपूर्ण

रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत की डिफेंस मैन्यूफैक्चरिंग में दूसरा महत्वपूर्ण स्तम्भ प्रोडक्शन या उत्पादन है, जिसमें से मेकिंग इंडिया सबसे महत्वपूर्ण और अभिन्न बिल्डिंग ब्लाक है। भारत अब हथियारों का नेट इंपोर्टर बनकर संतुष्ट नहीं है। हम इस तस्वीर को बदलने का पक्का इरादा कर चुके हैं।

उन्होंने कहा कि ये सारी पहल न केवल भारत में डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग बेस को मजबूती देने का इरादा रखते हैं, बल्कि एक सुनहरे भविष्य का भरोसा भी दिलाते हैं। मैं मानता हूँ कि अगले कुछ वर्षों में भारत दुनिया का एक बड़े डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग हब के रूप में उभर कर सामने आयेगा।

इसे भी पढ़ें

डिफेंस एक्सपो का PM मोदी ने किया उद्घाटन, सैनिकों ने दिखाया युद्ध कौशल, देखें तस्वीरें

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि नये भारत के विकास के लिए कई नयी नीतियों और कार्यक्रमों पर पूरा जोर देते हुए पिछले पांच वर्षों में बड़ी ईमानदारी और लगन के साथ काम किया गया है और यह बतलाते हुए मुझे बेहद खुशी हो रही है कि इसके अपेक्षित परिणाम अब आने शुरू हो गए हैं।

भारत बनेगा पावर हाउस

इस पूरे आयोजन का मैग्नीच्यूड और स्केल हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के नये भारत के विजन एवं भारत को डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग के पावर हाउस के रुप में स्थापित करने के संकल्प की अभिव्यक्ति है।

इसे भी पढ़ें

निर्भया केस पर बड़ी खबर: मोदी सरकार हुई सख्त, पहुंची SC

डिफेंस एक्सपो का आयोजन¸ 40 देशों के डिफेंस मिनिस्टर्स, 165 से ज्यादा फॉरेन फर्म्स तथा 1000 के आसपास एग्जीबिटर्स की मौजूदगी के कारण भव्यता की नई बुलंदी छू चुका है। साथ ही इंडिया अफ्रीका डिफेंस मिनिस्टर्स का कॉन्क्लेव का भी आयोजन भी यहाँ हो रहा है।

पीएम का जताया आभार

राजनाथ ने कहा कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लखनऊ में डिफेंस एक्सपो का उद्घाटन किया। इसके प्रधानमंत्री को धन्यवाद देता हूँ। आपको यह जान कर हर्ष एवं गर्व होगा कि इस साल डिफेंस एक्सपो जिस बड़े पैमाने पर आयोजित किया जा रहा है वह डिफेंस एक्सपो के एक दशक के अपने इतिहास में बेजोड़ है।

इसे भी पढ़ें

चुनाव आयोग ने PM मोदी को दी क्लीन चिट, राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट गठन को लेकर दिया था बयान

केंद्रीय रक्षा मंत्री ने कहा यह लखनऊ शहर तहजीब और नजाकत और नफासत के लिए जाना जाता है। यहाँ आतिथ्य की उन भारतीय परंपराओं का पूरी तरह निर्वाह किया जाता है, जो यह मानती हैं कि – ‘अतिथिदेवोभव’।लोगों का यहाँ आना और रहना सुखद हो‚ यही मेरी शुभकामना है।