×

Rajnath Singh Lucknow Visit: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जताई नाराजगी, समय पर नहीं पूरा हुआ ड्रीम प्रोजेक्ट

Rajnath Singh Lucknow Visit: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अपने संसदीय क्षेत्र लखनऊ के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे हैं। आज दौरे के पहले दिन अपने ड्रीम प्रोजेक्ट का निरीक्षण करने पहुंचे।

Defense Minister Rajnath Singh expressed displeasure, dream project was not completed on time
X

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह: Photo - Newstrack

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अपने संसदीय क्षेत्र लखनऊ (Parliamentary Constituency Lucknow) के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे हैं। आज दौरे के पहले दिन राजनाथ सिंह ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट (dream project) का निरीक्षण करने पहुंचे। वहां पहुंचने से पहले उन्हें यह लगा होगा कि इसे देख कर उन्हें खुशी होगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। किसान पथ (Farmer's Path) के ढीले कार्य को देखकर स्थानीय सांसद ने नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि जिस प्रोजेक्ट के लिए उन्होंने समय सीमा तय की थी उसे डेढ़ साल में पूरा हो जाना चाहिए था लेकिन वह अभी आधा अधूरा ही बन सका है, इसका उन्हें दु:ख जताया। आउटर रिंग रोड का कार्य मई 2022 तक पूरा हो जाना था।

रक्षा मंत्री ने कहा कि यह मेरे ड्रीम प्रोजेक्ट है, मैं जब से लखनऊ का सांसद बना हूं यहां के विकास लिए पूरी ईमानदारी से कार्य करने की कोशिश की है। किसान पथ का काम अब तक पूरा हो जाना चाहिए था। मैंने किसान पथ को समय से पूरा करने के लिए कड़ाई से कहा लेकिन कॉन्ट्रेक्टर के पैसा न लगा पाने के चलते समय से काम नहीं पूरा हुआ।

ट्रैफिक समस्या से मिलेगी निजात

उन्होंने कहा कि इसके लिए केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Union Road Transport Minister Nitin Gadkari) से भी उन्होंने बात की है। राजनाथ ने कहा कि किसान पथ के निर्माण से लखनऊ में ट्रैफिक समस्या से निजात मिल जाएगी। 6 फ्लाईओवर बन गए हैं, जल्द ही 5 और फ्लाईओवर बन जाएंगे। किसान पथ सही मायनों में लखनऊ के लिए लाइफलाइन साबित होने वाला है। प्रदेश के किसी भी कोने से अगर कोई लखनऊ आएगा वह जहां जाना चाहेगे किसान पथ से उसी तरफ उतरकर अपने गंतव्य को पहुंच जाएगा। इससे शहर में ट्रैफिक कम होगी और जाम से लोगों को नहीं जूझना पड़ेगा।

उन्होंने गोमती नगर रेलवे स्टेशन की बात करते हुए कहा कि वह विश्वस्तरीय बनाया जाएगा। गोमतीनगर स्टेशन (gomtinagar station) पर रुकने, खाने-पीने की होगी व्यवस्था। विश्वस्तरीय गोमतीनगर रेलवे स्टेशन के लिए जमीन खरीद में कुछ समस्या आ रही है, जल्द ही इसे भी सुलझा लिया जाएगा। राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा देश की कमान संभालने के बाद विदेशों में भारत की साख बढ़ी है। पहले भारत की बात को गंभीरता से नहीं लिया जाता था। आज भारत की बात को अमेरिका जैसे देश भी बेहद गंभीरता से सुनते हैं।

आउटर रिंग रोड से जुड़ा है किसान पथ

किसान पथ लखनऊ के आउटर रिंग रोड में शामिल है, जो 104 किलोमीटर के रिंग में बना हुआ है। 104 किलोमीटर लंबे आउटर रिंग रोड में 11 किलोमीटर लंबा किसान पथ भी है। आउटर रिंग रोड की शुरुआत बख्शी का तालाब के आगे डिगाई गांव से हुई है। वहां से होते हुए कुर्सी रोड के पास देवांक्षेत्र को जोड़ेगी। आउटर रिंग रोड से बाराबंकी के निंदूरा गांव भी जुड़ेगा। रिंग रोड जबरीखुर्द, कटालीपुरवा, गोसाईंगपुरवा, सरसौंधी, मुरादाबाद, मुजफ्फरमऊ और डुमरीपुरवा गांव को कनेक्ट करेगा। इसी से जुड़ा हुआ किसान पथ है, जिससे बन जाने से वाहनों का राजधानी की की प्रमुख सड़क शहीद पथ जाममुक्त होगी। आउटर रिंग रोड के तहत 11 किलोमीटर लंबे किसान पथ का भी निर्माण कराया गया है।

किसान पथ से ऐसे कम होगा ट्रैफिक

दरअसल, किसान पथ के बन जाने से राजधानी लखनऊ का ट्रैफिक बंट जाएगा। मसलन अगर कोई अयोध्या हाईवे से आ रहा है कि तो वह किसान पथ के जरिए सिर्फ 15 मिनट में सुल्तानपुर रोड आसानी से पहुंच जाएगा। अभी शहीद पथ के रास्ते से वह आधे से एक घंटे में यहां की दूरी तय करता है। अगर जाम लगा तो समय और भी बढ़ जाता है। इसी तरह किसान पथ शुरू होने से गोरखपुर, अयोध्या की ओर से आने वाले वाहन बिना शहर में अंदर आए सुल्तानपुर, वाराणसी तक जा सकते हैं। अभी ट्रक बसें जैसे भारी वाहन कमता चौराहे होते हुए शहीद पथ से यहां आते हैं। ऐसे भारी वाहनों के आने से कमता और अहमामऊ की स्थिति बनी रहती है।



आउटर रिंग रोड (outer ring road)

-कुल लंबाई- 104 किमी

-कुल बजट- 5400 करोड़

-मई 2022 तक पूरा होगा

-कुल लंबाई 104 किमी.

-16 सितम्बर 2016 को हुआ था शिलान्यास

किसान पथ (Farmer's Path)

-11 किमी लम्बा है किसान पथ

-280 करोड़ रुपये निर्माण में हुए खर्च

-तीन साल पहले बनना हुआ था शुरू

चार्टर्ड अकाउंटेंट आर्थिक विकास के सजग प्रहरी - राजनाथ सिंह

चार्टर्ड अकाउंटेंट्स की देश के आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका होती है, वह आर्थिक विकास के सजग प्रहरी हैं। बिजनेस इको सिस्टम को चलाने में सीए की महत्वपूर्ण भूमिका है। दुनिया के ताकतवर समूहों में चार्टर्ड अकाउंटेंट्स की गणना होती है ।

केंद्रीय रक्षा मंत्री

राजनाथ सिंह ने शनिवार को सीआईआर सी ऑफ आईसीएआई की लखनऊ शाखा की ओर से आयोजित "वित्तीय बाजार पर कार्यशाला' में यह बातें कहीं । वह यहां मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित चार्टर्ड अकाउंटेंट को संबोधित कर रहे थे।

Photo- Ashutosh Tripathi- Newstrack

आईसीआई लखनऊ के चेयरमैन आशीष पाठक ने कार्यशाला में राजनाथ सिंह का स्वागत करते हुए कहा कि आईसीएआई ने पारदर्शिता जवाबदेही और अखंडता के मूल्यों को बनाए रखने के लिए समर्पित एक विशिष्ट विश्व स्तरीय संस्थान के रूप में अपनी पहचान साबित की है उन्होंने कहा कि हम सरकार के कार्यों में सी ए की सहभागिता के लिए निरंतर प्रयासरत है उन्होंने आशा व्यक्त की कि सी ए अपने दायित्वों को पूरा करते हुए राष्ट्रहित में अपना व्यापक योगदान देंगे।

Photo- Ashutosh Tripathi- Newstrack


Photo- Ashutosh Tripathi- Newstrack

उपस्थित चार्टर्ड अकाउंटेंट के समूह को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि देश में वित्तीय प्रशासन में आइसीए आई की उत्कृष्ट भूमिका है उन्होंने देश के आर्थिक विकास में उनके योगदान की भी सराहना की।

चार्टर्ड अकाउंटेंट की भूमिका अत्यधिक महत्वपूर्ण होगी

डिजिटल क्रांति और उसके कारण पैदा हुए अवसरों के बारे में बात करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि हम सभी को डिजिटल क्रांति की क्षमता का उपयोग करना चाहिए तथा देश और जनता के विकास और खुशहाली के लिए अपने सर्वश्रेष्ठ प्रयास करने चाहिए। भारत सरकार ने अगले 5 वर्षों में भारत को पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किया है, इसके क्रियान्वयन में चार्टर्ड अकाउंटेंट की भूमिका अत्यधिक महत्वपूर्ण होगी।

Photo- Ashutosh Tripathi- Newstrack


Photo- Ashutosh Tripathi- Newstrack

विशिष्ट अतिथि के रुप में पूर्व उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में सीए का बहुत बड़ा योगदान है सी ए राष्ट्र की अर्थव्यवस्था के निर्माण में भागीदार हैं। अर्थव्यवस्था को नियंत्रित करने में इनकी भूमिका महत्वपूर्ण है। सरकार के कार्यों में सीए की सहभागिता एक आवश्यक सुझाव है, जिसे मैं सरकार तक पहुंचाने का प्रयास करूंगा । उन्होंने कहा कि अर्थ विशेषज्ञों का समागम अत्यंत महत्वपूर्ण है यहां नए विचारों का जन्म होता है। उत्तर प्रदेश सरकार की एक ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य आप लोगों के बगैर संभव नहीं है ।कार्यशाला को सीए अनुज गोयल अध्यक्ष सीएफएमआईपी, सीए अतुल मेहरोत्रा अध्यक्ष सीआईआरसी ने भी संबोधित किया। इस कार्यशाला में लखनऊ शाखा के 150 से भी अधिक चाहिए सीए ने भाग लिया

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story