×

देवरिया कांड: लखनऊ से भेजी गई टीम, प्रमुख सचिव महिला कल्याण से रिपोर्ट तलब

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 6 Aug 2018 7:52 AM GMT

देवरिया कांड: लखनऊ से भेजी गई टीम, प्रमुख सचिव महिला कल्याण से रिपोर्ट तलब
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: देवरिया के महिला संरक्षण गृह की महिलाओं और बालिकाओं से जबरन देह व्यापार कराने के मामले के खुलासे के बाद शासन में हड़कम्प मचा हुआ है। महिला एवं बाल कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी भी हरकत में आई हैं। उन्होंने प्रमुख सचिव महिला एवं बाल कल्याण से पूरे प्रकरण की शाम चार बजे तक रिपोर्ट तलब की है। लखनऊ से भी एक टीम घटनास्थल पर भेजी गई है। जोशी का कहना है कि डीएम खुद पूरे मामले की जांच कर रहे हैं।

उन्होंने कहा है कि महिला संरक्षण गृह अवैध रूप से चल रहा था। उसे बंद करने के लिए पहले भी कई बार नोटिस दिया गया था। उधर इस घटना के विरोध में विपक्ष ने भी मोर्चा खोल दिया है। जीपीओ स्थित गांधी प्रतिमा पर सपा कार्यकर्ताओं ने इस घटना के विरोध में धरना दिया।

भाजपा प्रवक्ता ने डीजीपी को फोन कर की कड़ी कार्रवाई की मांग

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी ने इस पर अपनी तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि ये देवभूमि है, यहाँ हर पापी को अपने किए की सज़ा भुगतनी ही पड़ेगी, समाजसेवा की आड़ में नारी संरक्षण गृह में बच्चियों के साथ अत्याचार महापाप है, इस वाकए से हम सब दंग हैं, दुखी हैं, क्षुब्ध हैं, गुनाहगारों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने के लिए देवरिया के पुलिस कप्तान साधुवाद के पात्र हैं, डीजीपी से बात करके इन गुनाहगारों के ख़िलाफ़ पाक्सो जैसी सख़्त और संगीन धाराएँ लगाने और इस महापाप में शामिल गुनाहगारों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई की माँग की है, साथ ही जिले के उन ज़िम्मेदार अधिकारियों की जवाबदेही तय करने को भी कहा है जिन्होंने अपना दायित्व नहीं निभाया, जो बच्चियां ग़ायब हैं, उनका भी पता लगाया जा रहा है, ये हम सभी के लिए शर्मनाक दिन है, ईश्वर गुनाहगारों का हिसाब करें।

गौरतलब है कि देवरिया के मां विन्ध्यवासिनी महिला संरक्षण गृह में बालिकाओं और महिलाओं से जबरन देह व्यापार कराया जाता था। एक लड़की ने जब थाने पहुंचकर इसका खुलासा किया तो अधिकारियों के होश उड़ गए। एसपी रोहित पी कनय के निर्देश पर पुलिस ने आनन फानन में संरक्षण गृह पर छापा मारकर 42 में से 24 लड़कियों को संरक्षण गृह से मुक्त कराया। अब भी 18 लड़कियां गायब हैं। संरक्षण गृह के संचालकों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

इस मामले में जिला प्रोबेशन अधिकारी की तहरीर पर पुलिस ने यौन शोषण, मानव तस्करी और नाबालिगों के उत्पीड़न समेत विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया। संचालिका समेत पांच को गिरफ्तार कर लिया गया है।

शाहजहांपुर में के डीएम और एसपी ने बालिका गृहों पर छापेमारी की है। इस छापेमारी से बालिका ग्रह मे हङकंप मच गया। छापेमारी के दौरान डीएम को बालिका गृहों में सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम नाकाफी मिले।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story