×

राम मंदिर निर्माण को लेकर बोले डिप्टी सीएम, कोर्ट के फैसले में देरी से नाखुश हैं लोग

राम मंदिर निर्माण को लेकर विश्व हिंदू परिषद और आरएसएस के कार्यकर्ता अयोध्या में डटे हुए हैं। मंदिर निर्माण को लेकर विहिप का आंदोलन जोर पकड़ने लगा है। देशभर के कार्यकर्ता अयोध्या पहुंच रहे हैं।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 25 Nov 2018 8:16 AM GMT

राम मंदिर निर्माण को लेकर बोले डिप्टी सीएम, कोर्ट के फैसले में देरी से नाखुश हैं लोग
X
राम मंदिर निर्माण को लेकर बोले डिप्टी सीएम, कोर्ट के फैसले में देरी से नाखुश हैं लोग
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

वाराणसी: राम मंदिर निर्माण को लेकर विश्व हिंदू परिषद और आरएसएस के कार्यकर्ता अयोध्या में डटे हुए हैं। मंदिर निर्माण को लेकर विहिप का आंदोलन जोर पकड़ने लगा है। देशभर के कार्यकर्ता अयोध्या पहुंच रहे हैं। एक तरफ आंदोलन को लेकर बीजेपी की विरोधी पार्टियां सकते में है तो दूसरी ओर बीजेपी इस मुद्दे पर खुलकर बोल रही है।

यह भी पढ़ें: अयोध्या विवाद: शिवपाल ने राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन, बोले- विवादित स्थल पर नहीं बनना चाहिए मंदिर

अयोध्या में जारी गहमागहमी के बीच डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा वाराणसी पहुंचे और उन्होंने काशी विश्वनाथ मंदिर में खास पूजा अर्चना की। राम जन्मभूमि को लेकर कहा कि भगवान की नगरी में क्या होगा, वह मनुष्य नहीं बता सकता ह। जो कराने वाला है, वह सब ऊपर वाला है।

कानून व्यवस्था को लेकर किया आश्वस्त

अयोध्या में कानून व्यवस्था को लेकर डिप्टी सीएम ने कहा कि कहीं कोई परेशानी नहीं है। कानून-व्यवस्था हर जगह अच्छी है। सरकार कानून के विधि-विधान से चलती है। कानून व्यवस्था पूरी तरीके से चाक-चौबंद है और रहेगी।

यह भी पढ़ें: अयोध्या: धर्मसभा में 2 लाख लोगों के पहुंचने की क्या है हकीकत, देखें तस्वीरें

कौन क्या कहता है, हर दल की अपनी विचारधारा है। सभी लोग मिलकर चाहते है कि श्री राम जन्मभूमि के संदर्भ में एक अच्छा सा हल निकले। अयोध्या में राम मंदिर की जगह भव्य मूर्ति लगाए जाने के सवाल पर कहा कि रामभक्तों के लिए ये लॉलीपॉप नहीं है, गुलगुले खाने का इंतजार कीजिए।

कोर्ट के निर्णय में देरी से जनता नाखुश

डिप्टी सीएम ने कहा कि लोगों की भी इच्छा थी कि माननीय न्यायालय से जल्द से जल्द निर्णय हो जाएगा। कहीं कुछ भी विलंब होता है तो आतुर होना, व्याकुल होना और किसी कार्य के प्रति जागरूक होना, यह स्वाभाविक प्रक्रिया है।

यह भी पढ़ें: जानिए क्यों इस मुस्लिम नेता ने दी पीएम मोदी और सीएम योगी को सिर कलम करने की धमकी!

दोनों संप्रदाय के लोग चाहते हैं कि राम जन्मभूमि का जो प्रसंग है, वह जल्दी अंतिम निर्णय पर पहुंचे। दबाव, प्रभाव और लगाव इसमें तीनों है। इसमें ईश्वरीय शक्ति का प्रभाव है और जन आकांक्षाओं का भी प्रभाव है।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story