×

Prayagraj Magh Mela 2023: माघ मेला में इस बार बहुत कुछ दिखेगा बदला बदला, तैयारियां तेज

Prayagraj Magh Mela 2023: अबकी बार मेला क्षेत्र के हर सेक्टर में जन सुविधा केंद्र को खोला जा रहे हैं श्रद्धालुओं की कोई भी समस्या होगी उसका निदान उसी जन सुविधा केंद्र में हो जाएगा।

Syed Raza
Report Syed Raza
Published on: 7 Dec 2022 7:04 AM GMT
This time a lot will be seen in Magh Mela, preparations fast:
X

प्रयागराज माघ मेला: इस बार बहुत कुछ दिखेगा बदला बदला, तैयारियां तेज

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Prayagraj News: माघ मेले (Magh Mela 2023) में अबकी बार श्रद्धालुओं को कई नई सुविधाओं का लाभ मिलेगा। माघ मेले में पहली बार विशाल विश्रामालय बनाया जा रहा है, जिसमें 500 श्रद्धालुओं के रुकने की व्यवस्था रहेगी। इसके अलावा माघ मेले में 10 जन सुविधा केंद्र भी खोले जाएंगे। मोबाइल नेटवर्क के लिए टावर की संख्या में इजाफा किया जा रहा है। अस्थाई दुकानों को वेंडिंग जोन में जगह दी जा रही है।

6 जनवरी 2023 से लगने वाले देश के सबसे बड़े धार्मिक मेले को लेकर तैयारियां तेज कर दी गई हैं। इस बार के माघ मेले में मेला प्रशासन श्रद्धालुओं को कई नई सौगात देने की तैयारी में जुट गया है। मेला अधिकारी अरविंद सिंह चौहान (Fair Officer Arvind Singh Chauhan) का कहना है कि अबकी बार के माघ मेले को श्रद्धालु कई मायनों में याद रखेंगे।

पूरे मेला क्षेत्र में 10 जन सुविधा केंद्र

अबकी बार मेला क्षेत्र के हर सेक्टर में जन सुविधा केंद्र को खोला जा रहे हैं जहां श्रद्धालुओं की साधु संतों की कोई भी समस्या होगी उसका निदान उसी जन सुविधा केंद्र में हो जाएगा। पूरे मेला क्षेत्र में 10 जन सुविधा केंद्र खोले जा रहे हैं।


इसके साथ ही साथ 2019 के कुंभ मेले के बाद अब की बार 500 श्रद्धालुओं के रुकने के लिए विश्रामालय या कहें कि रैन बसेरा भी बनाया जा रहा है। कुंभ की तरह ही विश्रामालय में श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था होगी। इस विश्रामालय का संचालन पौष पूर्णिमा पर्व से शुरू हो जाएगा जो बसंत पंचमी तक रहेगा। ऐसे में इस विश्रामालय या कहें कि रैन बसेरे में उन श्रद्धालुओं को लाभ मिलेगा जो खुले आसमान के नीचे सोते हुए नजर आते थे अब उनको खुले आसमान के नीचे रात नहीं गुजारनी पड़ेगी।


अरविंद सिंह चौहान ने यह भी कहा कि मेला क्षेत्र में मोबाइल नेटवर्क की काफी दिक्कतें होती थी जिसकी वजह से इस बार के माघ मेले में अधिक संख्या में टावर भी लगाए जा रहे हैं ताकि श्रद्धालुओं को या फिर अन्य लोगों को बातचीत करने में समस्या ना हो। जितने भी टावर पिछले माघ मेले में लगाए गए थे उसके मुकाबले इस बार अधिक संख्या में टावर लगाने की सहमति बनी है।

अलग-अलग थीम पर वेंडिंग जोन

पूरे मेला क्षेत्र में जगह-जगह एलईडी स्क्रीन भी लगाई जाएगी जहां पर सरकार के द्वारा किए जा रहे कार्यों को साथ ही साथ धार्मिक चित्रों और कहानियों को भी स्क्रीन के माध्यम से दिखाया जाएगा। पूरे माल मेले क्षेत्र को नो प्लास्टिक जोन में भी तब्दील किया जाएगा। प्लास्टिक का इस्तेमाल कोई भी ना करें इसके लिए जगह जगह प्रशासन के लोगों को भी नियुक्त किया जाएगा। श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधा देने के लिए पहली बार माघ मेले में वेंडिंग जोन बनाने की चर्चा भी है। अस्थाई दुकानों के लिए अलग-अलग थीम पर वेंडिंग जोन बनेंगे जो एक ही जगह पर स्थापित किए जाएंगे।


गौरतलब है कि 2023 और 2024 का माघ मेला 2025 में लगने वाले कुंभ मेले का रिजल्ट होगा इसके लिए हर विभाग की तरफ से खास तैयारियां चल रही है। माघ मेले को और दिव्य भव्य बनाने के लिए माघ मेला प्राधिकरण के द्वारा मेला क्षेत्र में तेजी से काम चल रहा है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story