Top

दरियादिल DM को सलाम: अपना ब्लड देकर बचा ली गरीब मरीज की जान

Admin

AdminBy Admin

Published on 12 April 2016 12:17 PM GMT

दरियादिल DM को सलाम: अपना ब्लड देकर बचा ली गरीब मरीज की जान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शाहजहांपुरः डीएम विजय किरण आनंद ने इंसानियत की एक अटूट मिशाल पेश की। अस्पताल में निरीक्षण के दौरान एक गरीब महिला को ब्लड देकर यह साबित कर दिया कि वो अधिकारी के साथ एक जिंदादिल इंसान भी हैं। उनके इस पहल से जनता बेहद खुश हैं। वहीं महिला का कहना है कि डीएम साहब भगवान बनकर आए और उसकी जान बचा ली।

क्या है पूरा मामला?

-सदर बाजार थाना क्षेत्र की रहने वाली रीना (23) गरीब परिवार से हैं। पति नीरज मजदूरी करता है।

-महिला के किडनी में दर्द के चलते शनिवार को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

-डॉक्टरों ने महिला को खून की कमी बताकर 4 यूनिट ब्लड का इंतजाम करने के लिए कहा था।

-गरीबी के कारण ब्लड का इंतजाम नहीं हो पा रहा था। इससे उसकी जान खतरे में थी।

-भाई राहुल कई बार ब्लड बैंक के चक्कर लगा चुका था, लेकिन उसको ब्लड नहीं मिल रहा था।

-रीना को एबी निगेटिव ब्लड चाहिए था जो ब्लड बैंक में नहीं था।

-इसके बाद रीना के परिजनों ने उसे भगवान भरोसे छोङ दिया था।

डीएम ने किया महिला को ब्लड डोनेट

-शनिवार को डीएम निरीक्षण के लिए जिला अस्पताल पहुंच गए।

-डीएम ने पहले ट्रामा सेंटर निरीक्षण किया फिर वह अस्पताल में मरीजों से मिले।

-उन्होंने ब्लड बैंक के रजिस्टरों को चेक किया और स्टाक के बारे में जानकारी

-रीना की मां डीएम के पास पहुंची और हाथ जोड़कर को उनसे मदद मांगने लगी।

-डीएम ने महिला की दिक्कत के बारे जाना तो वह दंग रह गए।

-उनका पारा हाई हो गया और ब्लड बैंक के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई।

-उन्होंने कहा कि मरीज की जान जा रही है और आप लोगों को ब्लड के बदले ब्लड चाहिए।

-डीएम ने देर न लगाते हुए अपना ब्लड निकालने के आदेश दिए।

-उन्होंने एक यूनिट ब्लड दिया और स्टाक में रखा ब्लड भी उस महिला को दे दिया गया।

-इसके बाद उस महिला की जान बचाई जा सकी।

क्या कहती है पीड़िता?

-डीएम साहब भगवान बनकर आए, उनका बहुत एहसान है कि उन्होंने अपना ब्लड दे दिया।

-उसने उम्मीद ही छोङ दी थी कि वह अब बच भी पाएगी लेकिन डीएम साहब ने उसकी जान बचा ली।

-उसका पति मेहनत मजदूरी करता है उसके पास इतना पैसा नहीं है कि वह इलाज करा पाए।

-डॉक्टरों ने उसकी किडनी में प्राब्लम बताई है जिसका इलाज यहां नहीं हो सकता है।

-उसे लखनऊ पीजीआई रेफर कर दिया है। उसके सामने एक बङा संकट खड़ा हो गया है।

-रीना ने डीएम से गुहार लगाई है कि वह उसकी इलाज कराने में सहायता करें।

सीएमएस केशव स्वामी ने क्या कहा?

-बीते शनिवार को रीना नाम की महिला को अस्पताल में भर्ती किया गया था।

-उसकी किडनी फेल हो रही है साथ ही उसके हार्ट में भी प्रोब्लम है।

-उसका ब्लड ग्रूप एबी निगेटिव है जो स्टाक में नहीं था।

-अस्पताल में निरीक्षण के दौरान डीएम साहब ने उस महिला को एक यूनिट ब्लड दिया था।

12 दिनों में जनता के दिल में बनाई जगह

-डीएम विजय किरन आनन्द को अभी शाहजहांपुर में कार्यभार संभाले 12 दिन ही हुए हैं।

-डीएम ने उस विभाग में छापा मारा था,जहां कोई अधिकारी जाने से घबराता था।

-शाहजहांपुर की नगर पालिका गोल माल और भ्रष्टाचार में सबसे आगे मानी जाती है।

-सपा सरकार से नगर पालिका चेयरमैन तनवीर खां है जो मुख्यमंत्री के काफी चहेते माने जाते हैं।

-डीएम की छापेमारी से जनता बेहद खुश हैं। उन्होंने 12 दिन में ही जनता के दिल में जगह बना ली है।

Admin

Admin

Next Story