Top

DM विजय की अनोखी पहल, खुले में शौच करने वालों के पीछे बजवाएंगे सीटी

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 21 April 2016 11:26 AM GMT

DM विजय की अनोखी पहल, खुले में शौच करने वालों के पीछे बजवाएंगे सीटी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शाहजहांपुर: डीएम विजय किरण ने शाहजहांपुर जिले में खुले में शौच को रोकने के लिए बेशर्म अभियान चलाया है। डीएम के खास वालन्टियर्स अब खुले में शौच करने जा रहे लोगों को सीटी बजाकर उन्हे भगाएंगे और खुले में शौच करने वालों को बेशर्म के नाम से नवाजा जायेगा। यही नहीं उसका नाम गांव के एक खास बोर्ड पर बेशर्म के तौर पर लिखा जायेगा।

अपनी पोस्टिंग के 20 दिन के अंदर ही डीएम विजय किरण पूरे जिले में चर्चा का विषय बन गए हैं। लोग उनकी इस पहल की सराहना भी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें ... दरियादिल DM को सलाम: अपना ब्लड देकर बचा ली गरीब मरीज की जान

गांव-गांव जाकर लोगों को जागरूक कर रहे डीएम विजय आनंद

-डीएम विजय किरण आनंद रोजाना एक गांव का निरीक्षण कर रहे हैं।

-पूरे शाहजहांपुर जिले में शौचालय निर्माण और खुले में शौच को रोकने के लिए उन्होने एक खास अभियान चलाकर अनोखी पहल की है।

-डीएम ने इसके लिए बाकायदा सभी ग्राम पंचायतों में महिला,पुरूषों और स्कूली बच्चों की 3 टीमें बनाई हैं।

-ये टीमें खुले में शौच करने वालों को सीटी बजाकर उन्हे खुले में शौच करने से रोकेंगी।

-अगर कोई खुले में शौच करता है तो उसे गांव में बेशर्म नाम दिया जायेगा और लोग उसे बेशर्म के नाम से पुकारेंगे।

shahjahanpur-toilet

-खास बात यह है कि एक हजार ग्राम पंचायतों में से लगभग सभी ने डीएम के इस अभियान में शामिल होने का इरादा कर लिया है।

-डीएम विजय किरण गांव-गांव जाकर खुले में शौच करने से होने वाली बीमारी के बारे में ग्रामीणों की बैठक करके उन्हें जागरुक कर रहे हैं।

-उनका कहना है कि निश्चित तौर पर जन सहयोग से खुले में शौच को रोका जा सकता है।

-जिससे बीमारियों से बच सकते हैं।

shahjahanpur-ladies

सुनी ग्रामीणों की समस्याएं किया जागरुक

-ग्रामीण वालन्टियर दुर्गेश श्रीवास्तव ने बताया कि डीएम विजय किरण आनंद ने उनके गांव अजीजपुर जिगनेरा में आकर एक चौपाल लगाई है।

-डीएम ने सभी विभागों के अधिकारियों को बुलाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं।

-ज्यादातर गांव की महिलाएं, पुरुष और बच्चे गांव के खेतों में शौच को जाते हैं।

-जिससे बीमारियां भी पैदा होती हैं जिसके बारे में डीएम ने ग्रामीणों को जागरुक किया।

-ग्रामीण राम दास कहते हैं कि डीएम अपने नए-नए कामों के लिए लोगों में चर्चा का विषय बन गए हैं।

-डीएम कभी स्कूल में टीचर बन जाते हैं तो कभी स्टूडेंट्स की तरह मेज कुर्सी पर बैठ कर खुद पढ़ाई करने लगते हैं।

डीएम ने कहा- खुले में शौच मुक्त करना उनका लक्ष्य

-डीएम विजय किरण ने कहा कि खुले में शौच मुक्त करना ही उनका लक्ष्य है।

-वह रोज एक गांव में जाकर लोगों को खुले में शौच करने से होने वाली बीमारियों के बारे लोगों को बता रहे हैं।

-उन्होंने गांव वालों की सहमति से टीम बनाई है।

-जो खुले में शौच करने के लिए जा रहे लोगों को रोकेंगे।

-अगर कोई ग्रामीण नहीं मानता है तो उसको बेशर्म की उपाधि दी जायेगी।

-उन्होंने कहा कि उनकी इस पहल से खुले में शौच को रोका जा सकता है।

Newstrack

Newstrack

Next Story