×

क्या आप जानते हैं अयोध्या में लकड़ी से बनी राम की मूर्ति की क्या है कीमत?

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की जिस आदमकद मूर्ति का अनावरण करेंगे उसकी कीमत 35 लाख रुपए बताई जा रही है।

Aditya Mishra
Updated on: 6 Jun 2019 2:55 PM GMT
क्या आप जानते हैं अयोध्या में लकड़ी से बनी राम की मूर्ति की क्या है कीमत?
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की जिस आदमकद मूर्ति का अनावरण करेंगे उसकी कीमत 35 लाख रुपए बताई जा रही है।

मूर्ति की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे लकड़ी के केवल एक टुकड़े पर ही बनाया गया है। जिसकी उंचाई सात फुट बताई जा रही है। कोदंडधारी धनुष वाली इस मूर्ति की यही खासियत है क्योंकि यह कोदंड स्वरूप मूर्ति है। यह मूर्ति कर्नाटक से खरीदी गयी है।

इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को ही रामजन्मभूमि न्यास अध्यक्ष गोपालदास जन्मोत्सव समारोह में भी शामिल होंगे। योगी आदित्यनाथ अयोध्या में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई घोषणाएं कर सकते हैं।

भगवान राम की प्रतिमा को अयोध्या शोध संस्थान के हस्तशिल्पी निर्मित कलाकृतियों के संग्रहालय में स्थापित करने के लिए बनाई गयी है। प्रतिमा की लम्बाई 7 फुट और वजन 400 किलो है। इस मूर्ति की स्थापना के साथ ही अयोध्या शोध संस्थान का आकर्षण भी बढ़ जाएगा।

उधर शिवसेना प्रमुख उद्वव ठाकरे 15 जून को फिर अयोध्या पहंुच रहे हैं। उनके आने की घोषणा के बाद से प्रदेश की राजनीति फिर से गरम होने की संभावना बढ़ती जा रही है। वह इसके पहले गत वर्ष नवम्बर में अपनी पत्नी रश्मी और बेटे आदित्य के साथ पहुंचे थे।

जब चुनाव के पहले अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए धर्मसंसद का आयोजन किया गया था। तब उन्होंने मंदिर निर्माण के लिए केन्द्र और योगी सरकार पर काफी दबाव भी बनाया था। इस बार फिर उनके आगमन के बाद योगी सरकार दबाव में है। और यह कार्यक्रम भाजपा सरकार की एक रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है।

योगी आदित्यनाथ भगवान राम की मूर्ति के निर्माता को इस दौरान सम्मानित भी करेंगे। उधर अयोध्या में राम जन्मभूमि समेत कई मुद्दों को लेकर संतों की बैठक में अयोध्या के संतों, विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारी और राम जन्मभूमि न्यास के पदाधिकारी शामिल हुए थे। बैठक में राम मंदिर निर्माण पर संतों ने कड़ा रुख दिखाया है।

ये भी पढ़ें...जानिए क्यों अयोध्या विवाद के पैनल से संतुष्ट नहीं हैं साधु संत?

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story