×

जानिए कैसे! लखनऊ के बलरामपुर हॉस्पिटल ने एक साथ बना दिए दो व‌र्ल्ड रिकार्ड

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 9 Oct 2017 11:45 AM GMT

जानिए कैसे! लखनऊ के बलरामपुर हॉस्पिटल ने एक साथ बना दिए दो व‌र्ल्ड रिकार्ड
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

अमित यादव

लखनऊ। राजधानी के बलरामपुर हॉस्पिटल ने आज (सोमवार) एक बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली है। अस्पताल में भर्ती 10 साल की बच्ची पिंकी जिसको फीलायॅड ट्यूमर था उसका सफल ऑपरेशन हुआ है।

ये भी देखें: गुवाहाटी T-20 : नवनिर्मित बरसापारा स्टेडियम में सीरीज अपने नाम करना चाहेगा भारत

आपको बता दें, कि छोटी सी उम्र में पिंकी को ऐसा फीलायॅड ट्यूमर हो गया था जिसकी पहचान दुनिया के पहले ट्यूमर के रूप में हुई है। पिंकी विश्वभर में सबसे छोटी उम्र में होने वाली फीलायॅड ट्यूमर की पहली रोगी बन चुकी हैं। सर्जरी करने वाले डॉक्टर एस आर समद्दर ने बताया कि रोगी अस्पताल में इलाज के लिए 4 अक्टूबर को आई थी। पिंकी को देखने के बाद जरूरी जांचें करवाने पर पता चला कि उसके बायें ब्रेस्ट में ट्यूमर है। सर्जरी के लिए आज की तारीख तय थी। उन्होंने बताया कि ऑपरेशन सफल रहा है तथा मरीज की हालत भी ठीक है।

ये भी देखें: केरल में विजयन सरकार भाजपा-आरएसएस कार्यकर्ताओं की हत्या करा रही !

900 ग्राम का ट्यूमर था पिंकी को

पिंकी के शरीर से निकला ट्यूमर करीब 13 गुणे 9 सेमी का था। जिसका वजन 900 ग्राम निकला है। इससे पहले सबसे छोटी उम्र में 11 साल की बच्ची को 9 गुणे 6 सेमी का ट्यूमर था। उसके ट्यूमर का वजन 250 ग्राम था।

कई डॉक्टरों की टीम ने किया ऑपरेशन

सर्जरी करने के लिए कई डॉक्टरों की टीम बनी थी। जिसमें डॉ एस आर समद्दर, डॉ एस के सक्सेना, एनेस्थटिस्ट डॉ उत्तम कुमार तथा इसके अलावा ओटी स्टॉफ शामिल थे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story