Top

पिटाई का आरोपी स्टूडेंट सस्पेंड, काम पर नही लौटे डॉक्टर

Admin

AdminBy Admin

Published on 17 March 2016 3:56 PM GMT

पिटाई का आरोपी स्टूडेंट सस्पेंड, काम पर नही लौटे डॉक्टर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणसी: बीएचयू के सर सुंदरलाल हॉस्पिटल में एक बार फिर से पिटाई के बाद डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं। बुधवार को रेडियोलॉजी डिपार्टमेंट में कुछ स्टूडेंट्स ने रेजीडेंट डॉक्टर की पिटाई कर दी थी। जिसके बाद डॉक्टर आक्रोशित हो गए। रेजीडेंट डॉक्टर गुरुवार की शाम से स्टूडेंट्स के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग को लेकर हड़ताल पर चले गए।

क्या है मामला ?

-हॉस्पिटल में रेडियो डायग्नोसिस और इमेजिंग डिपार्टमेंट के अल्ट्रासाउंड यूनिट में बुधवार को ड्यूटी पर तैनात रेजिडेंट डॉक्टर के साथ मारपीट की गई।

-अल्ट्रासाउंड यूनिट की प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाया गया।

क्या कहना है चीफ प्रॉक्टर का

-चीफ प्रॉक्टर प्रो. सत्येंद्र सिंह ने बताया कि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने घटना के 24 घंटे बाद आर्ट फैकल्टी के एक स्टूडेंट को निलंबित कर दिया है।

-बावजूद इसके रेजीडेंट्स ने गुरुवार शाम से हड़ताल कर दी, जो गलत है।

-बीएचयू प्रशासन हड़ताल को समाप्त कराने का प्रयास कर रहा है।

स्टूडेंट को किया निलंबित

-इस मामले में विडियो क्लिपिंग के आधार पर यूनिवर्सिटी प्रशासन ने आर्ट फैकल्टी के फ्रेंच डिपार्टमेंट के स्टूडेंट राजन कुमार सिंह को निलंबित कर दिया है।

-प्रशासन ने राजन से सभी शैक्षणिक सुविधाएं छीन ली हैं।

-राजन को स्टैंडिंग कमेटी ऑन मिसकंडक्ट बाई स्टूडेंट्स के समक्ष अपने उपर लगे दुर्व्यवहार संबंधी आरोपों का जवाब देने और कारण बताने के लिए उपस्थित होने को कहा गया है।

बता दें, कि कुछ महीने पहले भी बीएचयू के ट्रामा सेंटर में स्टूडेंट्स ने डॉक्टरों की पिटाई कर दी थी, जिसके बाद डॉक्टर हड़ताल पर चले गये थे। हड़ताल कई दिनों तक चली थी।

Admin

Admin

Next Story