×

डॉ. विवेक कुमार को मिला 'डेरमासेवा अवार्ड', IADVL ने किया सम्मानित

aman

amanBy aman

Published on 27 Jan 2018 11:21 AM GMT

डॉ. विवेक कुमार को मिला डेरमासेवा अवार्ड, IADVL ने किया सम्मानित
X
डॉ. विवेक कुमार को मिला 'डेरमासेवा अवार्ड', IADVL ने किया सम्मानित
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: इंडियन एसोसिएशन ऑफ़ डेरमिटोलॉजिस्ट, वेनरियो लाजिस्ट और लेपरोलॉजिस्ट ने अपने 46 वें वार्षिक सम्मेलन में डॉक्टर विवेक कुमार को 'डेरमासेवा अवार्ड' से सम्मानित किया है।

आईएडीवीएल का 46वां वार्षिक सम्मेलन कोच्चि में 18 से 21 जनवरी तक हुआ। इस सम्मलेन में डॉ विवेक कुमार को सम्मानित किया गया। उल्लेखनीय है, कि डॉक्टर विवेक कुमार त्वचा विज्ञान के विशेषज्ञ माने जाते हैं और त्वचा रोग के उपचार में उन्हें महारत हासिल है।

अब तक डेढ लाख लोगों का कर चुके हैं मुफ्त इलाज

लखनऊ के रहने वाले डॉ. कुमार देश के जाने-माने त्वचा रोग विशेषज्ञ हैं। उन्हें ये सम्मान उनकी गरीबों की सेवा और मुफ्त इलाज के लिए दिया गया है। वो राजधानी के मोहनलालगंज में पिछले 27 सालों से कुष्ठ रोग पीड़ितों के लिए काम कर रहे हैं। विवेक कुमार को पिछले साल दिसंबर में उनकी उत्कृष्ट सेवा के लिए राजधानी के बेस अस्पताल ने भी सम्मानित किया था। यह सेना के बेस अस्पताल से 25 सालों तक जुड़े रहे थे। डॉ. विवेक कुमार शहरी और ग्रामीण इलाकों में साल 1990 से लेकर अभी तक त्वचा रोग पीड़ितों के लिए मुफ्त इलाज के लिए क्लिनिक चलाते हैं। उन्होंने अब तक करीब डेढ लाख लोगों का मुफ्त इलाज किया है।

डॉ. विवेक कुमार को मिला 'डेरमासेवा अवार्ड', IADVL ने किया सम्मानित

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story