Top

सूखे के बाद अब बारिश का कहर, शहर से लेकर गांव तक घरों में घुसा पानी

जिले के दिसरापुर, गहरा, बघारी, गंज, बरिपुरा, कालीपहाड़ी और कबरई सहित एक दर्जन गांव भी प्रभावित है।गहरा और बघारी गांव के हालात खराब हैं। पानी की निकासी की व्यवस्था न होने से लोगों में आक्रोश है। लोगों की शिकायत है कि बाढ़ जैसे हालात बनने से निपटने की कोई कार्ययोजना नहीं बनाई गई। हालांकि, डीएम ने कहा कि हर हालत में मुस्तैदी के साथ निपटा जाएगा।

zafar

zafarBy zafar

Published on 19 Aug 2016 10:06 AM GMT

सूखे के बाद अब बारिश का कहर, शहर से लेकर गांव तक घरों में घुसा पानी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

महोबा: पिछले कई वर्षों के जानलेवा सूखे के बाद अब बारिश ने जीना मुहाल कर दिया है। महोबा के सारे तालाब उफना रहे हैं और गांव मोहल्लों में भर गया है। कई मकान जमींदोज हो गए हैं और प्रशासन सुरक्षा उपाय तलाशने में जुटा है। मोहल्लों को बाढ़ से बचाने के लिए फाटक खोलने की कोशिश नाकाम हो गई तो तालाब की पट्टी तोड़ दी गई। लेकिन खतरा अभी टला नहीं है।

draught flood-house damage-administration people

हालात बिगड़े

-महोबा में क़रीब 20 साल बाद हुई बेहिसाब बारिश से हाहाकार मच गया है।

-महोबा से सटे मध्यप्रदेश में भी मूसलाधार बारिश के चलते वहां के उर्मिल बांध का पानी भी महोबा में भर रहा है।

-कीरत सागर, मदन सागर और विजय सागर तालाब का पानी अब ओवर फ्लो हो चला है। लोग पलायन का इरादा बना रहे हैं।

-मदन सागर तालाब से लगे मुहल्ले वंधनवार्ड, मगरियापुरा, कटकुलवा और भतीपुरा सहित आधा दर्जन मोहल्लों में पानी भर गया है.

draught flood-house damage-administration people

-सूचना के बाद देर रात डीएम वीरेश्वर सिंह और पुलिस कप्तान गौरव सिंह सहित प्रसानिक अमला मौके पर पहुंच गया।

-हालात को देखते हुए डीएम ने तालाब का फाटक खोलने का आदेश दिया। लेकिन जाम हो चुके फाटक नहीं खुले। इसके बाद जेसीबी से तालाब की पट्टी तोड़कर पानी निकाला गया।

draught flood-house damage-administration people

खतरे में कई गांव

-जिले के दिसरापुर, गहरा, बघारी, गंज, बरिपुरा, कालीपहाड़ी और कबरई सहित एक दर्जन गांव भी प्रभावित है।गहरा और बघारी गांव के हालात खराब हैं।

-पानी की निकासी की व्यवस्था न होने से लोगों में आक्रोश है। लोगों की शिकायत है कि बाढ़ जैसे हालात बनने से निपटने की कोई कार्ययोजना नहीं बनाई गई।

-डीएम वीरेश्वर सिंह ने बताया कि तालाबों का पानी नहरों के माध्यम से निकाला जा रहा है। लेकिन मुस्तैदी के साथ हर स्थिति से निपटा जाएगा।

draught flood-house damage-administration people

-सपा जिला अध्यक्ष बाबू मंसूरी ने तालाबों से पानी की निकासी न होने के लिए नगर पालिका अध्यक्ष को दोषी बताया है।

-उन्होंने कहा कि बीजेपी से जुडी होने के कारण वो जानबूझकर पानी निकासी का काम नहीं कर रही हैं।

-सपा नेता और पूर्व राज्यमंत्री सिद्धगोपाल साहू ने कहा कि सिचाई विभाग द्वारा नहरों के फाटकों की समय रहते मरम्मत नहीं कराई गई। इसकी जांच की जाएगी और कोई दोषी निकला तो कार्रवाई होगी।

zafar

zafar

Next Story