Top

SP-CO विवाद: फॉलोअर हटाया, पत्नी हुई बीमार तो नहीं दी छुट्टी फिर लखनऊ भेज दिया इस्तीफा

पत्नी और बेटी बीमार हुए तो फॉलोअर्स के अभाव में सीओ ने छुट्टी मांगी। छुट्टी नहीं मिलने पर उन्हें इस्तीफा लिखना पड़ा।

Akhilesh Tiwari

Akhilesh TiwariWritten By Akhilesh TiwariShreyaPublished By Shreya

Published on 4 May 2021 4:14 AM GMT

SP-CO विवाद: पत्नी के बीमार होने पर नहीं दी छुट्टी तो दे दिया इस्तीफा
X

इस्तीफे की सांकेतिक फोटो (साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: झांसी के डीएसपी मनीष सोनकर (DSP Manish Sonkar) के इस्तीफा मामले में चौंकाने वाली जानकारी सामने आ रही है। डीएसपी के इस्तीफे से पहले पुलिस कप्तान ने उनके घर से फॉलोअर्स हटा लिए थे। जब पत्नी और बेटी बीमार हुए तो फॉलोअर्स के अभाव में सीओ ने छुट्टी मांगी। छुट्टी नहीं मिलने पर उन्हें इस्तीफा लिखना पड़ा। अब पुलिस कप्तान की ओर से डीजीपी को पूरे मामले में सफाई दी जा रही है।

झांसी के पुलिस कप्तान रोहन पी कन्य का विवादों से पुराना नाता है। झांसी में डीएसपी के साथ ताजा मामला भी उसकी एक कड़ी है। बताया जा रहा है कि पुलिस कप्तान की ओर से डीजीपी को इस विवाद के बारे में लंबा चौड़ा पत्र भेजा गया है। इस पत्र में बताया गया है कि डीएसपी मनीष सोनकर का व्यवहार उनके घर पर तैनात होने वाले फॉलोअर्स के साथ अच्छा नहीं है। इस वजह से उनके घर पर कोई भी फॉलोवर लंबे समय तक काम नहीं करना चाहता।

मामले में सामने आई ये बात

यह भी पता चला कि उन्होंने सरकारी वे पर एक निजी फॉलोअर्स अपने घर पर रख रखा था जिसे जानकारी मिलने पर हटा दिया गया। इसके बाद उनके घर पर जिन भी फॉलोअर्स की तैनाती की गई। उन्हें चोरी करने और गंदा होने के आरोप में हटाया गया। यह भी बताया गया है कि क्षेत्राधिकारी लाइन होने का फायदा उठाते हुए उन्होंने सरकारी फॉलोअर्स के अतिरिक्त निजी फॉलोअर्स रखा था जब उसे हटाया गया तो उन्हें यह अच्छा नहीं लगा। वह 28, 29, 30 अप्रैल और 1 मई को अपने कार्यालय नहीं पहुंचे ना किसी मीटिंग में हिस्सा लिया। 2 मई को मतगणना वाले दिन उनकी ड्यूटी भोजला मंडी मतगणना स्थल पर लगाई गई थी।

2 मई को जब जिला अधिकारी के साथ एसएसपी ने निरीक्षण किया तो वह अपनी ड्यूटी पर नहीं मिले एवं वहाँ लगा फोर्स तितर-बितर था। फोन से संपर्क करने पर इनके द्वारा बताया गया कि मेरी पत्नी कोविड पॉजिटिव है एवं मेरी बच्ची की देखभाल कौन करेगा। इस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि जब लगे हुए सभी फॉलोवर को हटाएंगे तो कौन देखभाल करेगा। इस पर डीएसपी ने कहा कि मैं नहीं जानता एवं मैं इस्तीफा देने को तैयार हूँ और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को डराने के लिए तुरंत जरिये व्हॉसएप इस्तीफा भेज दिया गया।

पुलिस कप्तान का कहना है कि रात में वापस लौटने पर उन्होंने डीएसपी की मांगी गई छुट्टी मंजूर कर और इस्तीफे को उच्च अधिकारी की जानकारी के लिए भेज दिया गया। गौरतलब है कि इस मामले में अभी तक पुलिस कप्तान की ओर से मीडिया को कोई जानकारी नहीं दी गई है लेकिन उच्च अधिकारियों को भेजा गया उनका बयान सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।

Shreya

Shreya

Next Story