दिग्गज नेता पर जानलेवा हमला! बाल बाल बचे, पार्टी में मचा हड़कंप

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी फायर ब्रांड नेता अमित जानी पर जानलेवा हमला हुआ है। बताया जा रहा है कि अमित जानी को एक अज्ञात ट्रक ने लखनऊ से मां दतिया झांसी जाते समय उनकी BMW कार को टक्कर मार दी।

Published by Harsh Pandey Published: December 9, 2019 | 8:58 pm
Modified: December 9, 2019 | 9:29 pm

लखनऊ: प्रगतिशील समाजवादी पार्टी फायर ब्रांड नेता अमित जानी पर जानलेवा हमला हुआ है। बताया जा रहा है कि अमित जानी को एक अज्ञात ट्रक ने लखनऊ से मां दतिया झांसी जाते समय उनकी BMW कार को टक्कर मार दी।

अमित जानी ने कहा…

घटना के बाद अमित जानी ने कहा कि मुझे जान से मारने की कोशिश हो रही है, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मुझे जान से मारने की नीयत से यह सुनियोजित हमला है।

उन्होंने कहा कि 2017 में भी अमित जानी को जान से मारने की कोशिश कीज चुकी है।

वहीं, अमित जानी ने पुलिस अधिकारियों से इस मामले की शिकायत की है।

गौरतलब है कि अमित जानी, अपनी उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना पार्टी चलाते थे।

हाल ही में शिवपाल यादव द्वारा अमित जानी को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया है।

कौन है अमित जानी व उत्तरप्रदेश नवनिर्माण सेना…

अमित जानी उत्तरप्रदेश के मेरठ से अमीर बनिया परिवार से आता है। कुछ साल पहले अमित जानी उत्तरप्रदेश के कुख्यात माफियाओं में गिना जाता था, जिसके ऊपर करीब आधा दर्जन मामले दर्ज थे। कुछ मामलों में तो अमित के ऊपर इनाम तक भी था, खुद को सपा का काफी करीबी बताता था।

आधा दर्जन गंभीर मामले दर्ज होने के बावजूद भी पुलिस अमित जानी पर हाथ तक डालने से कतराती थी। हालांकि कई बार कुछ कामों को लेकर गिरफ्तार भी हुआ था।

अमित जानी पहली बार सुर्ख़ियों में साल 2009 में आया जब उसने ‘उत्तरप्रदेश नवनिर्माण सेना’ का गठन ‘महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना’ के विरोध में किया। जिसके निर्माण की मुख्य वजह महाराष्ट्र में उत्तर भारतीयों पर हो रहे हमले थे।

हालांकि अमित जानी तथा उसकी पार्टी के एजेंडे मुख्यतः हिंदुत्व के एजेंडे पर ही चलते है। अमित को खुद को सुर्ख़ियों में देखना बेहद ही पसंद है। जिसके लिए अमित तथा उसकी पार्टी ने समय – समय पर विवादास्पद कार्य किये, जिसमें से कुछ निम्न है-

  1. लखनऊ में मायावती की मूर्ति को क्षतिग्रस्त करना
  2. राहुल गांधी को काले झंडे दिखाना
  3. उत्तरप्रदेश में बैनर लगाकर कश्मीरियों को उत्तप्रदेश से निकल जाने की धमकी
  4. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार और छात्र उमर खालिद को जान से मारने की धमकी
  5. ताजमहल पर विवादित फोटो सोशल मीडिया पर शेयर करना।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी…

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी जिसकी स्थापना समाजवादी पार्टी के पूर्व राजनेता शिवपाल सिंह यादव ने उसे छोड़कर 29 अगस्त 2014 को की। जिसके बाद उन्होंने समाजवादी मूल्यों की रक्षा के लिए प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) बनाने का फैसला किया।
वर्तमान समय में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी चुनाव आयोग में रजिस्टर्ड एक राजनीतिक दल है। वहीं पार्टी का कैम्प कार्यालय उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में स्थित है। जबकि स्थाई कार्यालय लखनऊ के गोमती नगर में स्थित है।