यूपी: नाचते-गाते गये थे मूर्ति विसर्जन के लिए, यहां हो गया कांड

तीनों युवकों को इलाज के लिये नजदीक के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं। तीन युवकों की जान बचाने वाली महिला को स्थानीय लोगों के साथ ही पुलिस ने भी शाबासी देते हुये उसके जज्बे को सलाम किया हैं।

लखनऊ: हमीरपुर जिले में बुधवार को देवी प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान तालाब में आठ देवी भक्त गहरे पानी में डूब गये जिससे विसर्जन जुलूस में मौजूद एक महिला ने तालाब में कूदकर तीन लोगों की जान बचायी वहीं चार अन्य देवी भक्त किसी तरह तैरते हुये तालाब से बाहर निकल आये।

तीनों युवकों को इलाज के लिये नजदीक के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं। तीन युवकों की जान बचाने वाली महिला को स्थानीय लोगों के साथ ही पुलिस ने भी शाबासी देते हुये उसके जज्बे को सलाम किया हैं।

जिले के सुमेरपुर कस्बे में तपोभूमि के पास तालाब में देवी प्रतिमाओं का विसर्जन में सैकड़ों देवी भक्त मां के जयकारा लगा रहे थे। आठ देवी भक्त मूर्ति को उठाकर तालाब में उतर गये तभी गहरे पानी में जाते ही आठ युवक गिर गये और सभी मूर्ति के नीचे दब गये।

इस घटना से वहां अफरातफरी मच गयी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक चार देवी भक्त तैरते हुये किसी तरह बाहर आ गये लेकिन तीन युवक गहरे पानी में चले गये।

इसी बीच मौके पर मौजूद सुमेरपुर कस्बे के चांद थोक मुहाल निवासी श्रीमती रमा वर्मा ने साहस दिखाते हुये तालाब में कूद गयी और कुछ ही देर में अंशुमान व राहुल समेत तीनों युवकों को तालाब से बाहर निकाल लिया।

घटना की सूचना पाते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची और मूर्छित तीनों युवकों को सरकारी गाड़ी में लादकर नजदीक के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। अस्पताल में तीनों का इलाज जारी हैं।

फिलहाल तीनों देवी भक्तों की हालत खतरे से बाहर बतायी जा रही हैं। स्थानीय नागरिकों और सुमेरपुर थाना पुलिस ने इस महिला को शाबासी देकर सलाम किया हैं।

ये भी पढ़ें…वेश्यालय की मिट्टी के बिना अधूरी है मां दुर्गा की मूर्ति, ऐसे हुई थी उनकी उत्पत्ति