Top

बाबू सिंह का भी माया पर निशाना, कहा- जिसकी थैली भारी उसे हिस्सेदारी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 30 Jun 2016 8:33 PM GMT

बाबू सिंह का भी माया पर निशाना, कहा- जिसकी थैली भारी उसे हिस्सेदारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुरः बीएसपी से स्वामी प्रसाद मौर्या और आरके चौधरी के बगावत के बाद अब बाबू सिंह कुशवाहा ने भी पार्टी की सुप्रीमो मायावती पर निशाना साधा है। बाबू सिंह कुशवाहा कभी मायावती के करीबी थे और फिलहाल एनआरएचएम घोटाले में आरोपी हैं। इसी घोटाले में आरोपी बनाए जाने के बाद वह बीएसपी से बाहर कर दिए गए थे।

बाबू सिंह कुशवाहा ने क्या कहा?

-बाबू सिंह ने कहा कि बीएसपी का नारा है कि जिसकी जितनी थैली भारी, उसकी उतनी हिस्सेदारी।

-बीएसपी के गठन के वक्त दिए गए नारे अब पार्टी ने भुला दिए हैं। अब बस पैसा कमाने पर जोर है।

-सिर्फ बीएसपी ही गरीबों और मजलूमों की बात करती थी।

कुशवाहा ने और क्या कहा?

-पहले बीएसपी से दलित समाज खासकर बाल्मीकि बड़ी संख्या में जुड़े थे।

-मुझे बेवजह चार साल तक जेल में रखा, जबकि डॉक्टरों की हत्या का राज अब तक नहीं खुला।

-कुशवाहा समाज एकजुट होकर अगले विधानसभा चुनाव में वोट दे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story